Bangladesh: क्रिकेटर लिटन दास को दुर्गा पूजा की बधाई देना पड़ा भारी, कट्टरपंथियों ने...

Bangladesh: क्रिकेटर लिटन दास को दुर्गा पूजा की बधाई देना पड़ा भारी, कट्टरपंथियों ने दी धर्म परिवर्तन की नसीहत

Bangladesh

Bangladesh: इस्लामिक कट्टरता लगातार बढ़ रही है और बांग्लादेश की सरकार इस्लामिक कट्टरता को रोकन में नाकाम साबित हो रही है। पहले हिंदू मंदिरों को चुन-चुन कर विशेष संप्रदाय के लोग निशाना बनाया और भगवान की मंदिरों को भी नुकसान पहुंचाया गया। हिंदुओं पर लगातार हमले हो रहे है। अब खबर ये आ रही है लिटन दास को कट्टरपंथियों ने धमकी दी है और उनका केवल इतना कसूर है कि उन्होंने दुर्गा पूजा की बधाई दी। कट्टरपंथी लिटन दास को लगातार धमकी दे रहे है और लगातार उसको धर्म परिवर्तन की नसीहत भी दे रहे है।

Bangladesh: आप को बता दें कि लिटन दास ने नवरात्र के पहले महालया के मौके पर क्रिकेटर लिटन दास ने इंस्टाग्राम पोस्ट कर नवरात्र की बधाई दी और उसके बाद लिटन दास बांग्लादेश के कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गए।

Bangladesh: क्रिकेटर की हिंदू धार्मिक मान्यताओं पर उलूल- जलूल कमेंट करने लगे और उन्हें इस्लाम में कन्वर्ट होने के लिए लगातार दबाव बना रहे है।  कट्टरपंथियों ने उनकी पोस्ट पर जमकर अनाप-शनाप बातें लिखी हैं ।

Bangladesh:लिटन दास की पोस्ट पर इस्लामिक कट्टरपंथियों ने निकाला गुस्सा

Bangladesh: आप को बता दें कि दास ने अपने फेसबुक पोस्ट में बांग्लादेशी बल्लेबाज ने देवी दुर्गा की एक मूर्ति की तस्वीर को शेयर किया था और कैप्शन में लिखा था कि, “सुभो महालय! मां दुर्गा आ रही हैं।”

इसके तुरंत बाद, कट्टरपंथी उनकी टाइमलाइन पर उतर आए और लिटन दास को हिंदू धर्म के अनुयायी होने के लिए गालियां देने के साथ ही उनको धमकाने लगे।

गौरतलब है कि  हिंदू मान्यताओं के अनुसार, महालय कैलाश पर्वत से देवी दुर्गा के पृथ्वी पर आगमन का प्रतीक है और उनके पोस्ट पर कट्टरपंथियों ने मूर्ति पूजा की निंदा की। इसके साथ ही कट्टपंथियों ने लिटन दास को ‘एक सच्चे विश्वास’ यानी इस्लाम में परिवर्तित होने की नसीहत तक दे डाली।

Bangladesh: आपको इस बात का अंदाजा लग जाएगा कि बांग्लादेश के लोग अपने मजहब के लिए कितने कट्टर है एक सोशल मीजिया यूजर इमरोल ने लिखा कि, ‘दुनिया का सबसे अच्छा धर्म इस्लाम है’ वही मियाद ने लिखा ‘अल्लाह सभी को मार्गदर्शन प्रदान करे, और उन्हें सही रास्ता खोजने के लिए ज्ञान दे।’

एन फिरदौस जमान ने लिखा कि “इस्लाम के अलावा किसी धर्म का पृथ्वी पर कोई महत्व नहीं है” और जनाब तो यहां तक लिखते है कि ‘आप लोगों को समझना चाहिए कि मिट्टी से बनी ये मुर्तियां कोई काम नहीं करेंगी। अपको हमारे अल्लाह पर विश्वास करना चाहिए और हमारे अल्लाह सबसे ताकतवर है’…

वहीं एक यूजर तुरान ने लिखा कि “ये पत्थर की मूर्तियां किसी के लिए पवित्र नहीं हो सकती और कोई भी इन पत्थरों की पूजा नहीं करेगा मै इस्लाम की तह में  आपका स्वागत करता हूं। सही रास्ते पर आओ”…

Bangladesh: आपको कट्टरता का अंदाजा इस बात से भी लगा जाएगा जब एक छोटे से बच्चे से पूछा जाता हा कि आप सोम्या सरकार से मिलना चाहते हो तो उसने क्या कहा आप खुद सुन लीजिए…

बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमले तब हो रहे है जब हिंदू समुदाय दूसरा सबसे बड़ा समुदाय है। जो कि बांग्लादेश की 161.5 मिलियन आबादी में से लगभग हिंदू आबादी में से 7.95% है।

ये भी पढ़े…

Up News: शिक्षक की पिटाई से दलित छात्र की 18 दिन बाद मौत, प्रदर्शन के दौरान पुलिस की गाड़ी फूंकी
Action: सरकार ने 10 यूट्यूब चैनलों के 45 वीडियो किए ब्लॉक, फेक न्यूज फैलाने के साथ कर रहे थे देश का माहौल खराब

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.