Boycott 'Adipurush': साध्वी प्राची ने केंद्र सरकार से 'आदिपुरूष' को बैन करने...

Boycott ‘Adipurush’: साध्वी प्राची ने केंद्र सरकार से ‘आदिपुरूष’ को बैन करने की अपील, कहा- “हमारे हनुमान को मोलाना और रावण को लादेन बना दिया”

Boycott 'Adipurush'

Boycott ‘Adipurush’: हाल ही में  साउथ इंडियन एक्टर प्रभास के लीड रोल वाली ‘आदिपुरुष’ का टीजर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की नगरी अयोध्या में रिलीज किया गया।जबसे इसका टीजर लॉंच हुआ है ये विवादों में आ गई है और अब साध्वी प्राची ने भी खुलकर फिल्म ‘आदिपुरूष’ के निर्देशक के साथ ही पूरी स्टार कास्ट को जमकर लताड़ा है। साध्वी प्राची ने अपनी भावनाओं को प्रकट करते हुए कहा कि “आज सभी सनातनियों को संकल्प लेना है कि जो फिल्मी जिहाद चल रहा है हिंदूस्तान के अंदर उसका बायकाॅट करके उसका भी दहन करना है। ”

उन्होंने ये भी कहा कि रावण जो कि चारों वेदों का ज्ञाता था उसको लादेन बना दिया इन्होंने और इतना ही नहीं हनुमान जी जो हमारे अराध्य है जिससे रावण भी इतना बलशाली होने के बाद भी थर-थर कांपता था उनको भी मौलाना बना दिया।

साध्वी ने ये भी कहा कि “मैं केंद्र सरकार से निवेदन करती हूं कि तत्काल प्रभाव से इस फिल्म पर प्रतिबंध लगा दिया जाए और इतना ही नहीं जैसे आपने लाल सिंह चड्डा की चड्‍डी उतारी थी न ऐसे ही आज संकल्प करो कि ‘आदिपुरूष’ का दहन जरूर करना है।”

आप को बता दें कि टीज़र में जिस तरह से रामायण के किरदारों को जो नया रूप देने की कोशिश की गई है उससे लोग बहुत नाराज़ आ रहे है और अब इस फिल्म का चारो और विरोध भी होना शुरू हो गया है। एक बार फिर बॉलीवुड ने हिंदुओ की आस्था के साथ खिलवाड़ किया है। अब लगातार ‘आदिपुरुष’ फिल्म का विरोध हो रहा है और लोग खुलकर फिल्म का बहिष्कार कर रहे हैं। इस फिल्म में प्रभास, कृति सेनन और सैफ अली खान मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म को ओम राउत ने निर्देशित किया हैं।

Boycott Aadipurush: बात करें कि टीज़र में सैफ़ अली खान को आक्रामक ख़िलजी जैसा दिखाया गया है, हनुमान भगवान को भी बदल दिया, उनके सर पर मुकुट भी नहीं है, हनुमान को बिना गदा और लेदर के कपड़ों में दिखाया गया है।

गौरतलब है कि रामानंद सागर की रामायण में सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया ने भी तंज कसते हुए कहा कि “उन्होंने टीज़र को देखा है कि लोग किस तरह से इस फिल्म के किरदारों से नाराज़ है और अगर ऐसा है तो ये बिल्कुल अनुचित है और साथ ही कहा कि तुलसीदास जी और वाल्मीकि जी ने सच्चाई के साथ ग्रंथों को लिखा है उससे छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए।।”
दीपिका ने इसे धरोहर बताया जिसे बचा कर रखना जरुरी है, “इसके अलावा दीपिका का मानना है कि किसी भी फिल्म का किरदार को दर्शकों से जुड़ाव महसूस होना चाहिए। उनका मानना है, अगर किरदार श्रीलंका से है तो वो मुग़ल की तरह लगना नहीं चाहिए। वीएफ़एक्स या टेक्निकल सपोर्ट का इस्तेमाल तभी तक होना चाहिए जब तक वह लोगों की भावनाओं को आहत न करे।”

Boycott Aadipurush: आदिपुरुष फिल्म के खिलाफ संत समाज भी खड़ा हो गया है और आदिपुरुष टीम को सबक सिखाने का मन इस समाज ने भी बना लिया है, कल मुंबई के अंधेरी में इस फिल्म और इस फिल्म के मेकर्स के खिलाफ शिकायत दर्ज़ करने की बात चल रही है।

संत समाज का कहना है कि वो राम कथा बनाने को मना नहीं कर रहे हैं लेकिन जो रामकथा बनाने के नाम पर भगवान का अपमान किया जाता है उसका विरोध कर रहे हैं।

दरअसल, सोशल मीडिया पर करीब 50 हज़ार के आसपास ट्वीट फिल्म के बॉयकॉट को लेकर हुए हैं। इतने बड़े स्तर पर इस फिल्म का बॉयकॉट होना बताता है कि यह एक बड़ा मुद्दा बन गया है।
ये भी पढ़ें..
Gyanvapi Case: कार्बन डेटिंग की पद्धति से शिवलिंग की जांच होगी कि नहीं आज कोर्ट दे सकता है फैसला

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.