Congress President Election: कांग्रेस अध्यक्ष पद के तीन दावेदार, किसके सिर पर...

Congress President Election: कांग्रेस अध्यक्ष पद के तीन दावेदार, किसके सिर पर सजेगा ताज, राहुल गाँधी समेत गहलोत और थरूर के बीच में होगा मुकाबला

Congress President Election: कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव शीघ्र होने वाला है। वैसे तो पार्टी के अध्यक्ष पद पर गाँधी परिवार के ही किसी सदस्य का वर्चस्व रहा है। बहुत कम बार ही ऐसा हुआ है कि कोई और नेता काँग्रेस अध्यक्ष पद पर आसीन रहा हो। कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव की प्रक्रिया के लिए 22 सितंबर को अधिसूचना जारी की जाएगी। पार्टी के शीर्ष पद के लिए मुख्य मुकाबला काँग्रेस के युवराज राहुल गाँधी, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर के बीच होने की संभावना है।

Congress President Election: पार्टी सूत्रों की माने तो सोमवार को अंतरिम कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संकेत देते हुए कहा कि उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए थरूर के चुनाव लड़ने से कोई आपत्ति नहीं है। सोनिया गांधी के विदेश से लौटने के बाद थरूर और कुछ अन्य कांग्रेस नेताओं ने मुलाकात की। थरूर, जो पार्टी के जी-23 सदस्यों में से एक थे, जिन्होंने कांग्रेस में व्यापक सुधारों की मांग की थी, अब पार्टी के शीर्ष पद के लिए ताल ठोंकते नजर आ रहे हैं। जिसके लिए मतदान 17 अक्टूबर को होगा।

Congress President Election: पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा, जो कोई भी चुनाव लड़ना चाहता है वह स्वतंत्र है और ऐसा करने के लिए स्वागत है। यह कांग्रेस अध्यक्ष और राहुल गांधी की लगातार स्थिति रही है। यह एक खुली, लोकतांत्रिक और पारदर्शी प्रक्रिया है। किसी को भी चुनाव लड़ने के लिए किसी की अनुमति की आवश्यकता नहीं है।

Congress President Election: नाम न बताने की शर्त पर काँग्रेसी नेता ने कहा कि जी-23 समूह एक उम्मीदवार को खड़ा करने के लिए कमर कस रहा है और तिरुवनंतपुरम के सांसद थरूर इसकी शीर्ष पसंद हैं, पार्टी के वफादारों के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पसंदीदा विकल्प हैं। हालांकि, गहलोत कथित तौर पर मुख्यमंत्री पद छोड़ने और दिल्ली जाने के लिए अनिच्छुक हैं। ऐसे में, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुकुल वासनिक या राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे सबसे आगे नजर आ रहे हैं, क्योंकि दोनों अनुसूचित जाति समुदाय से हैं। नामांकन 24 सितंबर से 30 सितंबर के बीच दाखिल किए जाने हैं।

इस बीच खबर ये भी आ रही है कि कांग्रेस की राज्य इकाइयां राहुल गांधी को अगला पार्टी अध्यक्ष बनाने के लिए प्रस्ताव पारित कर रही हैं, जिसमें राजस्थान, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ शामिल हैं।

हालांकि, कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण (सीईए) ने कहा है कि ऐसे प्रस्तावों का चुनाव प्रक्रिया पर कोई असर नहीं पड़ेगा। सीईए के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने कहा, इन प्रस्तावों का चुनाव प्रक्रिया पर कोई असर नहीं है।

राहुल गांधी ने सोमवार को फेसबुक पर एक ऐसी पोस्ट की जिसने अध्यक्ष पद को लेकर अटकलें बढ़ा दी हैं। राहुल के पोस्ट को देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि वे अध्यक्ष पद की कुर्सी किसी बाहरी नेता के बजाय खुद के पास रखना चाहते हों। हालांकि, उन्होंने किस संदर्भ में इस तरह की बातें लिखी हैं अभी साफसाफ पता नहीं चल सका है। 

दरअसल केरल में भारत जोड़ा यात्रा के दौरान राहुल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि जब नाव बीच मझधार में फंस जाए, तब पतवार अपने हाथ में लेनी ही पड़ती है। न रुकेंगे, न झुकेंगे, भारत जोड़ेंगे। अब इस ट्वीट को पढ़ने के बाद तो यही कहा जा सकता है कि वे पतवार खुद के हाथ में रखना चाहते हैं।

आप को बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव नजदीक आने के साथ ही राहुल गांधी को फिर से कमान सौंपने की मांग तेज होती जा रही है। गुजरात, राजस्थान, छत्तीसगढ़ के बाद अब तमिलनाडु, बिहार, उत्तर प्रदेश और जम्मूकश्मीर प्रदेश कांग्रेस ने सोमवार को राहुल को फिर से अध्यक्ष बनाने की मांग को लेकर प्रस्ताव पारित किया। सूत्रों का कहना है कि राहुल को अध्यक्ष बनाने की मांग की मुहिम में अन्य राज्य भी जल्द शामिल हो सकते हैं। 

ये भी पढे…

Chandigarh Girls Hostel Video leak: आरोपी लड़की हुई गिरफ्तार साथ ही लड़के को भी शिमला से दबोचा गया, छात्र-छात्राओं का विरोध प्रदर्शन
Hijab Row: हिजाब न पहनना ईरानी महिला महसा अमिनी की मौत का बनी कारण, पुलिस कस्टिडी में हुई थी मौत,ईरानी महिलाओं ने हिजाब को जलाकर जताया विरोध

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.