Deepotsav 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन में सज धज के तैयार अयोध्या

Deepotsav 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन में सज धज के तैयार अयोध्या, दिखेगी त्रेता युग की झलक

Deepotsav 2022

Deepotsav 2022: भगवान राम की नगरी अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। अयोध्या में इस बार त्रेता युग की झलक देखने को मिलेगी। भगवान राम की महिमा और उनकी कथा की झलक दिवारों और चौक-चौराहों पर दिखेगी। जिसे भी देखोंगे वो राम नाम में डूबा नजर आएगा। उनकी शरीर के रोम-रोम में भागवान मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम की अनुभूति होगी।

वैसे तो हर आयोध्या वासी के मन में रमते ही राम है इसमें कोई शंका नहीं है। लेकिन इस बार अयोध्या में दीपावली अद्भुत और शानदार होने वाली है। इसका एक बड़ा कराण भागवान राम के मंदिर का बनना भी है। क्योंकि राम भक्तों के लिए दौहरी खुशी हैं।

Deepotsav 2022: एक तो भगवान राम का मंदिर निर्माण बहुत तेजी से हो रहा है और दूसरा भगवान राम का आगमन भी अयोध्या नगरी में होने वाला है। कहते है कि भगवान राम दीवाली के दिन ही अपनी जन्मभूमि अयोध्या में 14 वर्ष के वनवास को पूर्ण करने के बाद आए थे। वैसे तो अयोध्या में दीवाली बड़ी धूमधाम से मनाई जाती है लेकिन जब से सीएम योगी आदित्यनाथ ने सत्ता संभाली हैं तभी से अयोध्या में दीवाली बहुत ही भव्यता से मनाई जा रही हैं।

इस बार की दीवाली का आयोजन की व्यवस्था खुद योगी आदित्यनाथ की देख-रेख में हो रहा है और ये सब जानते है कि मोदी और योगी के लिए अयोध्या और भगवान राम का महत्व उनके जीवन से भी ज्यादा हैं।

Deepotsav 2022: कहा तो ये भी जाता है कि मोदी जब वो गुजरात के सीएम थे तो उन्होंने खुद से वादा किया था कि वो पीएम बनेंगे तो उनकी सरकार भागवान राम के मंदिर के विवाद को सुलझानें के लिए इमानदारी से प्रयत्न करेगी। मंदिर निर्माण के लिए जो भी जतन करना पड़ेगा लेकिन वो कभी पीछे नही हटेंगे। और उनके प्रधानमंत्री रहते हुए पूरे देश ने देखा कि पिछले साल 5 अगस्त को राम मंदिर की नींव रखी गई और पीएम मोदी और योगी भागवान रामलला के आगे नतमस्तक नजर आए थे।

Deepotsav 2022: पीएम मोदी भी दीवाली आयोजन में होंगे शामिल

23 अक्टूबर का दिन बेहद खास होगा जब राम की पैड़ी, सरयू घाट और अयोध्या के मठ मंदिर समेत पूरी रामनगरी लाखों दीपों से जगमगा रही होगी। इस बार पीएम मोदी 24 तारीख को भागवान रामलला की नगरी अयोध्या में मौजूद रहेंगे साथ ही में योगी आदित्यनाथ पूरे लाव लश्कर के साथ रहेंगे।

रामलला की आरती में पीएम मोदी और योगी दोनों ही शामिल होंगे।राम की पैड़ी पर 17 लाख दीप जलाकर एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाने का प्रयास किया जाएगा। जिसकी जिम्मेदारी अवध विश्वविद्यालय के 20 हजार वालंटियर को दी गई है।

प्रशासन ने इस बार अयोध्या में चौक-चौराहों पर बड़ी-बड़ी एलसीडी लगाई है जिससे अयोध्यावासियों के साथ ही पूरा देश भगवान राम की लीलाओं का मंचन देख पाएगा। राम भक्त अपनी आँखों से 17 लाख दीप के प्रवजल्लित होते हुए विश्व रिकार्ड बनते हुए देखेंगे। पूरी दुनिया देखेगी कि भागवान राम की नगरी में प्रभू मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम का स्वागत कितनी भव्यता के साथ होता है।

दीपोत्सव में दिखेगी त्रेता की अयोध्या

Deepotsav 2022: रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि “त्रेता युग में अयोध्या की जो झलक थी और वह सारे विश्व में प्रसिद्ध थी। जिसको देखकर देवता भी लज्जित होते थे। इसलिए कलयुग में राम पैड़ी से लेकर हर मठ मंदिर में दीपोत्सव मनाया जाएगा तो देखकर लगेगा कि सारे अयोध्या में माड़ माड़ीक का प्रकाश हो रहा है। वहीं हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास बताते हैं कि दीपोत्सव के माध्यम से सरकार यह संदेश दे रही है कि त्रेता कालीन अयोध्या कैसे दिखती थी।

यें भी पढे़ं…

Special Diwali 2022: “बना कर दिये मिट्टी के जरा सी आस पाली है, मेरी मेहनत खरीदो यारो मेरे घर भी दीवाली है”
Ayodhya Ram Mandir: सीएम योगी ने गर्भगृह का किया शिलान्यास, कहा- प्रभु श्री राम का मंदिर भारत का ‘राष्ट्र मंदिर’ होगा
By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.