Delhi: योगी सरकार की तर्ज पर दिल्ली में चला बुलडोजर, बिलखते रहे मुस्लिम परिवार...

Delhi: योगी सरकार की तर्ज पर दिल्ली में चला बुलडोजर, बिलखते रहे मुस्लिम परिवार, अस्थाई मस्जिद भी जमींदोज

Delhi

यूपी की योगी सरकार में होने वाली बुलडोजर की कार्यवाही की तर्ज पर आज दिल्ली में केन्द्र सरकार द्वारा झुग्गी झोपड़ियों के खिलाफ बुलडोजर की कार्रवाई की गई। कार्रवाई इतनी तेज कि घंटो के भीतर 6 बुलडोजरों ने युद्द स्तर पर कार्य करते हुए हजारों अवैध झुग्गियों को तितर-बितर कर दिया। इस बीच एक अस्थाई मस्जिद को भी जेसीबी द्वारा गिरा दिया गया, जिसके बाद मुस्लिम महिलाएं रोती बिलखती दिखाई दीं।

दिल्ली के लक्ष्मीनगर इलाके में सुबह अचानक एक के बाद एक 6 जेसीबी अवैध अतिक्रमण को हटाने के लिए पहुंच गई। साथ ही सैकड़ों की संख्या में फोर्स भी पहुंच गई, जिसे देख झुग्गी झोंपड़ियों में रहने वाले लोगों में अफरा तफरी मच गई। एक बार आवाज देकर झुग्गी झोपड़ियों को खाली करने की बात कही और फिर शुरू हो गई योगी की तर्ज पर दिल्ली में बुलडोजर की कार्रवाई।

बुलडोजर अपना अतिक्रमण हटाने के लिए अपना काम करता रहा और उसमें रहने वाले लोग अपने जरूरी सामान को रोड तक पहुंचाने में जुटे रहे। बूखे प्यासे लोग अपने कीमती सामान को बचाने में लगे रहे। इस बीच जेसीबी की कार्रवाई का विरोध करने वालों को फोर्स खदेड़ने का काम करती रही। इस दौरान जब जेसीबी ने अस्थाई मस्जिद को गिराने का काम किया तो इसके बाद मुस्लिम समुदाय के लोग रोत बिलखते दिखाई दिए। इसे लेकर मुसलमानों ने मोदी सरकार पर भी गंभीर सवाल खड़े किए।

यहां रहने वालं लोगों की माने तो यहां कोई 2 तो कोई 5 तो कोई 15 तो कोई 25-30 साल से अवैध रूप से रहते हुए मेहनत मजदूरी करते हैं। बताया जा रहा है कि यमुना किनारे अवैध रूप से झुग्गी झोपड़ियां बनाने वालों के खिलाफ एनजीटी के एक आदेश के बाद यह कार्रवाई की गई है। जानकारी के मुताबिक हजारों अवैध झुग्गियों में उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल आदि राज्यों से 5 हजार से अधिक लोग रहते थे, इनमें 80 प्रतिशत मुसलमानों की संख्या थी।

आपको बता दें कि लंबे समय से NRC लागू करके मोदी सरकार रोहिंग्याओं को देश से बाहर का रास्ता दिखाने की कोशिश में है, लेकिन इस बीच अचानक से मोदी सरकार के मंत्री हरदीप सिंह पुरी का एक बयान सामने आता है, जिसमें कहा गया कि रोहिंग्या मुसलमानों को दिल्ली के EWS फ्लैट्स में रखा जाएगा। साथ ही उसमें विशेष सुविधाए दी जाएंगी, लेकिन इस बयान के कुछ घंटों बाद ही गृह मंत्रालय ने ट्वीट करके कहा कि रोहिग्याओं को डिटेंसन सेंटर में ही रखा जाएगा।

ये भी पढ़ें…

Rohingya refugees: साध्वी प्राची ने मोदी सरकार को घेरा, कहा-“आने वाले समय में रोहिंगया बड़ा नासूर बनेंगे”

Aligarh: मुसलमानों की भीड़ ने युवक पर बोला हमला, बेहोश होने तक पीटा और फिर 150 मीटर तक खींचकर फेंका, आरोपी फरार

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.