Delhi Nitesh Murder: दिल्ली के शादीपुर में बजरंग दल के कार्यकर्ता नितेश की...

Delhi Nitesh Murder: दिल्ली के शादीपुर में बजरंग दल के कार्यकर्ता नितेश की हत्या, आरोपी उफीजा,अदनान और अब्बास फरार

DELHI

Delhi Nitesh Murder: दिल्ली के शादीपुर में बजरंग दल के कार्यकर्ता की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। ये घटना 12 अक्टूबर की बताई जा रही है। बजरंग दल के कार्यकर्ता की हत्या का आरोप मुस्लिम समुदाय के लड़कों पर लग रहा हैं। आपको बता दें कि आलोक ने (नितेश का दोस्त) नितेश की हत्या का दोषी उफीजा, अदनान, अब्दुल को ठहराया हैं। तीनों आरोपी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं।

नितेश के परिवार ने बताया कि गाली देने को लेकर उफीजा, अदनान, अब्दुल से झगड़ा हुआ था और नितेश और उसके दोस्त आलोक की पिटाई भी की गई। गंभीररूप से घायल नितेश का अस्पताल में 12 अक्टूबर से इलाज चल रहा था।

Delhi Nitesh Murder: 15 अक्टूबर शनिवार देर रात को नितेश ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। जिसके बाद मृतक के परिजनों का गुस्सा फूटा और वो प्रशासन से इतने हताश और निराश हो गए कि पटेल नगर मेट्रो स्टेशन के नजदीक रेड लाइट पर शव रखकर जाम लगाकर प्रदर्शन किया।

परिजनों ने नितेश का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया।  उनकी मांग थी कि जब तक आरोपियों को सजा नहीं मिल जाती जब तक वो नितेश का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।

परिवार की ये भी मांग है कि आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की जाए। पुलिस के समझाने के बाद परिवार ने शव को बीच सड़क से हटाया और अंतिम संस्कार के लिए मान गए।

Delhi Nitesh Murder: दोषियों की हुई पहचान

पुलिस ने बताया कि दोषियों की पहचान उफीजा, अदनान और अब्बास के रूप में हुई है और इस मामले को लेकर बीजेपी नेता और सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत उमराव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि दिल्ली के शादीपुर में बजरंग दल कार्यकर्ता नितेश की पीट-पीट कर हत्या की गई।

डीसीपी ने बताया नितेश की हत्या के पीछे कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं

सेंट्रल दिल्ली की डीसीपी श्वेता चौहान ने कहा कि 12 अक्टूबर को शादीपुर इलाके में नितेश, आलोक और मोंटी ने बाइक पर सवार एक व्यक्ति को रोका और उसकी पिटाई शुरू कर दी। कुछ समय बाद, इन तीनों को दूसरे गुट के अन्य लोगों द्वारा पीटा गया।

जिसकी वजह से नितेश को गंभीर चोटें आईं थी और 15 अक्टूबर को उसकी मौत हो गई। हत्या का मुकदमा दर्ज कर तीनों आरोपियों उफीजा, अदनान और अब्बास की तलाश की जा रही है और जल्द ही वो कानून के शिकंजे में होंगे।

ये आपसी झगड़े का मामला है इसमें कोई भी सांप्रदायिक एंगल नहीं है। यह संयोग ही है कि दोनों पार्टियां अलग-अलग समुदायों से ताल्लुक रखती हैं और उन्होंने अनुरोध है कि इसे सांप्रदायिक रंग न दें।

पुलिस ने ये भी कहा कि घटना के वीडियो फुटेज देखने से पता चलता है कि झगड़े की शुरुआत नितेश और आलोक ने ही की थी। हालांकि, बाद में दूसरे पक्ष ने उन पर हावी हो गया और तीनों आरोपियों ने नीतेश और उसके साथी के साथ जमकतर मार पीट की गई। इस दौरान नीतेश गंभीररूप से घायल हो गया।

ये भी पढ़ें…

Bihar News: “हंटर वाली नर्स दीदी सुई नहीं डंडे लगाती है” ये है सुशासन बाबू के अस्पतालों का खस्ता हाल
Congress President Election: काँग्रेस अध्यक्ष पद के लिए वोटिंग आज, सोनिया समेत खड़गे और शशी थरूर ने भी डाला वोट
By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.