Fake Gaziabad Gang Rape: फर्ज़ी था गाजियाबाद गैंगरेप मामला, महिला ने

Fake Gaziabad Gang Rape: फर्ज़ी था गाजियाबाद गैंगरेप मामला, महिला ने दोस्त के साथ रची खुद के रेप की घिनौनी साजिश

Fake Gaziabad Gang Rape

Fake Gaziabad Gang Rape: दिल्ली से सटे गाजियाबाद का मामला है जहां एक महिला को अगवा कर पहले तो लोगों ने दो दिनों तक दुष्कर्म किया फिर लोगों ने दरिंदगी की सारी हदें पार करते हुए महिला के प्राइवेट पार्ट में लोहे की रॉड भी डाल दी… फिर उस महिला को अधमरी हालत में बोरे में डालकर किसी आश्रम रोड के पास फेंक दिया और अपराधी फरार हो गए…

आईजी प्रवीण कुमार ने कहा कि घटना के बाद से ही महिला का मोबाइल बंद हो गया था। लेकिन घटनास्थल के आसपास एक अनजान नंबर की लोकेशन ट्रेस हुई। पुलिस ने पड़ताल की तो यह नंबर आजाद का निकला, जो उसने फर्जी आईडी पर घटना वाले दिन ही लिया था। आजाद को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के बाद पूरे षडयंत्र से पर्दा उठ गया। 

Fake Gaziabad Gang Rape: हैवानियत की ये कहानी सुनने में बिलकुल दिल्ली की निर्भया वाली घटना जैसी लगती है…रेप की घटनाए आये दिन सुनने और देखने को मिल जाती है, अगर आप सुबह का अख़बार खोलकर पढ़ेंगे तो आधी से ज्यादा घटनाए रेप की ही मिलेगी। इस घटना के बाद हर कोई ये कहने लगा की आखिर महिलाओं के साथ दरिंदगी की घटनाएं कब रुकेंगी?

भारत जैसे देश में जहां महिलाओं को देवियों का दर्जा दिया जाता है। सवाल ये भी उठता है कि आखिर पुलिस और कानून का डर क्या इतना कम हो गया है जो अपराधियों को गुनाह करने से नहीं रोक पा रहा और एक बार फिर दिल्ली की युवती से निर्भया जैसी दरिंदगी हुई है।

जिसने भी इस घटना को सुना उसके रोंगटे खड़े हो गए, हर कोई सहम गया, जब यूपी 112 से थाना पुलिस को इस सब के बारे में जानकारी मिली तो महिला को फौरन दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

Fake Gaziabad Gang Rape: पुलिस ने पीड़ित महिला के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि वो महिला दिल्ली के नंदनगरी इलाके की रहने वाली है। नंदग्राम क्षेत्र में अपने भाई के यहां लड़की आई हुई थी। जब वो यहां से लौट रही थी तो उसे कुछ लोगों ने अगवा कर लिया और इस घटना को अंजाम दिया।

Fake Gaziabad Gang Rape:  पुलिस ने मामले की जांच में जुटी और वारदात को अंजाम देने वाले पांच में से 4 लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया…जो आरोपी पकड़े गए वो महिला के जानने वाले ही थे। जाँच में सामने आया की जिस वक्त महिला बोरी में मिली उस वक्त रॉड उसके अंदर ही थी। पीड़िता अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही है और मामले में महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी एक्शन में है।

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर स्वाति मालीवाल ने मामले में एसएसपी गाजियाबाद को नोटिस जारी किया है। भले ही मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया, आरोपियों को सजा भी मिल जाएगी लेकिन सवाल अब भी वही है कि आखिर कब तक ये घटनाएं हमारे सामने आती रहेंगी…

लेकिन फिर पुलिस को जाँच में कुछ खटका और पुलिस ने फिर गहराई से मामले की जाँच की तो एक बड़ा खुलासा किया जिसे सुनकर आपके भी होश उड़ जाएंगे। जाँच में सामने आया है कि रेप पीड़िता बताने वाली महिला ने संपत्ति विवाद के चलते खुद अपने रेप की कहानी बनाई है और इस साजिश में शाहरुख, शाहरुख के भाई जावेद, औरंगजेब, जहीर उर्फ ढोला और दीनू को फँसाने की साजिश रची थी।

Fake Gaziabad Gang Rape: पुलिस ने बाकायदा इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि गाजियाबाद में महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म नहीं हुआ है, महिला के प्रेमी आजाद ने ही 53 लाख रुपए की प्रॉपर्टी के विवाद को खत्म करने के लिए झूठी कहानी बनाई थी।

पुलिस ने आरोपियों की लोकेशन निकलवाई तो उनकी लोकेशन अपराध के वक्त दिल्ली की मिली। आश्रम रोड से दिल्ली की दूरी करीब 20 किलोमीटर है। आरोपी अगर उसे अगवा करते तो उसी जगह पर क्यों फेंकते, जिस जगह से महिला को उठाया था।

इस मामले में पुलिस ने महिला के दोस्त आजाद और उसके दो दोस्तों गौरव और अफजल को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने कहा है कि गिरफ्तार किए गए लोगों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

इसके अलावा हॉस्पिटल के प्रवक्ता रजत जांबा के अनुसार पीडि़ता का सेक्सुअल असॉल्ट किया गया। अभी वो स्टेबल है। बाहरी चोटें हैं, पर हमें अंदरूनी चोटों का अभी पता नही चला है। प्राइवेट पार्ट से मिली वस्तु को जांच के लिए इनवेस्टिगेशन ऑफिसर (आईओ) को भेजा है।

Fake Gaziabad Gang Rape: वहीं गाजियाबाद पुलिस का कहना है कि प्राइवेट पार्ट में मिली वस्तु रॉड नहीं, बल्कि 6 इंच लंबा लोहे का तार था, जो यू शेप में है। यह तार टंग क्लीनर की तरह है।रेप एक ऐसी घटना है जो न सिर्फ लड़की को ख़त्म कर देती है बल्कि अगर उस घटना में लड़की जिन्दा बच जाए तो भी वो जिंदगीभर बेजान बनकर रहती है, जिनके साथ ये घटना होती है सिर्फ वही इसके दर्द को समझ सकता है।

लेकिन यहाँ तो कहानी ही अलग निकली, यहाँ एक महिला खुद अपने रपे की कहानी बनाती है, अपने प्राइवेट पार्ट में कुछ लगाती है जिससे वो सच लगे और वो भी सिर्फ कुछ चंद पैसो के लिए, इस बात को भी झुठलाया नहीं जा सकता की हर बार जहा लड़को को लड़कियों के साथ अन्याय के लिए जिम्मेदरा ठहराया जाता है।

लेकिन, कई बार महिलाये झूठे मामले में लड़को को फसा देती है और ये सोच कर भी हैरानी होती है की आखिर कैसे एक महिला खुद अपने झूठे रेप की कहानी बना सकती है ? शर्म आनी चाहिए ऐसी लड़कियों को भी जो इस हद तक गिर जाती है की एक रेप जैसे जघन्य अपराध का इस तरह से मज़ाक बनाकर रख देती है।

ये भी पढ़ें…

उत्तराखंड: पीएम मोदी ने 3400 करोड़ रूपये की कनेक्टिविटी परियोजनाओं की रखी आधारशिला
T20 World Cup: भारतीय खिलाड़ी दीवाली से एक दिन पहले पाकिस्तानी पटाखों की लंका में लगायेंगे आग

 

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.