Maharani Elizabeth: महारानी एलिजाबेथ की 96 वर्ष की आयु में निधन, ब्रिटेन में शोक...

Maharani Elizabeth: महारानी एलिजाबेथ की 96 वर्ष की आयु में निधन, ब्रिटेन में शोक की लहर, पीएम मोदी समेत जो बाइडेन ने जताया शोक

Maharni Elizabeth

Maharani Elizabeth: स्कॉटलैंड के बाल्मोरल महल में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ का 96 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनके निधन पर गणमान्य लोगों ने शोक जताया हैं। वहीं ब्रिटेन के राजा ने महारानी एलिजाबेथ की मुत्यु पर शोक जताते हुए कहा कि “यह मेरे और मेरे परिवार के सभी सदस्यों के लिए सबसे बड़े दुख का क्षण है।”

Maharani Elizabeth: पीएम मोदी ने जताया शोक

पीएम मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि महामहिम महारानी एलिजाबेथ द्वितीय को हमारे समय की एक दिग्गज के रूप में याद किया जाएगा… उन्होंने सार्वजनिक जीवन में गरिमा और शालीनता का परिचय दिया। उनके निधन से आहत हूं। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और ब्रिटेन के लोगों के साथ हैं।

उन्होंने साथ ही कहा कि 2015 और 2018 में यूके की अपनी यात्राओं के दौरान मेरी महारानी एलिजाबेथ-2 के साथ यादगार मुलाकातें हुईं। मैं उनकी गर्मजोशी और दयालुता को नहीं भूलूंगा। एक बैठक के दौरान उन्होंने मुझे वह रूमाल दिखाया जो महात्मा गांधी ने उन्हें उनकी शादी में उपहार में दिया था। मैं इसको हमेशा रखूंगा।

राष्ट्रपति मुर्मू ने भी जताया शोक

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के निधन पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि “एक युग बीत चुका है जब उन्होंने अपने देश और लोगों को 7 दशकों से अधिक समय तक चलाया। मैं ब्रिटेन के लोगों के दुख को साझा करती हूं और परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करती हूं।”

Maharani Elizabeth: ब्रिटेन की PM लिज़ ट्रस ने महारानी के निधन पर जताया शोक

ब्रिटेन की PM लिज़ ट्रस ने महारानी के निधन पर जताया शोक जताते हुए कहा कि “हम सब लोग इस खबर से दुखी हैं जो हमने अभी बाल्मोरल महल से सुनी है। महारानी की मृत्यु देश और दुनिया के लिए बहुत बड़ा सदमा है। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय वह पत्थर थीं जिस पर आज का ब्रिटेन का निर्माण हुआ है। उनके शासनकाल में हमारा देश विकसित और फला-फूला है।”

उन्होंने ये भी कहा कि “महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने हमें वह स्थिरता और शक्ति प्रदान की जिसकी हमें आवश्यकता थी। वह हमारी सबसे लंबे समय तक राज करने वाली शासक थीं।” और  साथ ही उन्होंने उस पल को याद करते हुए कहा कि जब इस सप्ताह की शुरुआत हुई थी तब उन्होंने मुझे 15वें प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया था।

वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और प्रथम महिला जिल बाइडेन ने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की मृत्यु के बाद एक शोक पुस्तक पर हस्ताक्षर करने के लिए वाशिंगटन में ब्रिटिश दूतावास गए।

ये भी पढ़े…

Bharat Jodo Yatra: ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का दूसरा दिन, राहुल ने कहा-“तिरंगा हमारी एकता और विविधता की पहचान है, हमारा स्वाभिमान है”
Central Vista Inaugration: पीएम मोदी शाम 7 बजे करेंगे ‘ड्रीम प्रोजेक्ट सेंट्रल विस्टा’ का उद्घाटन, अब से ‘राजपथ’ होगा ‘कर्तव्य पथ’

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.