Raju Srivastav: नहीं रहे काॅमेडी किंग राजू श्रीवास्तव, सबको हंसाने वाला आज सबको ...

Raju Srivastav: नहीं रहे काॅमेडी किंग राजू श्रीवास्तव, सबको हंसाने वाला आज सबको रूला गया

Raju Srivastav

Raju Srivastav: काॅमेडी किंग राजू श्रीवास्तव, सबको हंसाने वाला आज सबको रूला गया। 42 दिनों तक जिंदगी की लड़ाई लड़ने के बाद आखिरकार एक जिंदा दिल इंसान, अपने दर्द को छुपाकर दूसरों को हंसाने वाला अपना राजू दुनिया को अलविदा कह गया। जब लग रहा था कि कॅामेडी किंग सही सलामत घर वापस आ जाएंगे। तभी ऐसी खबर ने राजू के प्रशंसक और उनकी काॅमेडी को पसंद करने वाले लोगों का दिल ही तोड़ दिया। आज दिल्ली के एम्स में राजू श्रीवास्तव ने आखिरी सांस ली। हास्य जगत के लिए काॅमेडी किंग का इस तरह से जाना बहुत बड़ा धक्का है। हास्य जगत के साथी कलाकारों के साथ पूरा देश शेक की। लहर में डूब गया।

Raju Srivastav: 25 दिसंबर 1963 को कानपुर में एक सामान्य परिवार में उनका जन्म हुआ था। 58 वर्ष की छोटी सी उम्र में निधन हो गया। आप को बता दें कि राजू श्रीवास्तव को हार्ट अटेक तब आया था जब वो जिम में कसरत कर रहे थे।

वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ ने राजू श्रीवास्तव के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि “मैं प्रदेश वासियों की ओर से दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करता हूं। शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। ईश्वर उन्हें सदगति प्रदान करे।”

उन्होंने ये भी कहा कि राजू श्रीवास्तव यूपी खेलो विकास परिषद के अध्यक्ष के रूप में अपनी सराहनीय सेवा दिए थे। वे एक अच्छे कलाकार थे। जीवन भर अपनी पीड़ा को दबाते हुए बिना किसी भेदभाव के वे सब का मनोरंजन करते रहे। आज वे हमारे बीच में नहीं हैं।

वहीं भाजपा के सांसद मनोज तिवारी ने राजू श्रीवास्तव के निधन पर शोक जताते हुए कहा कि दुनिया को हंसाने वाले व्यक्ति राजू श्रीवास्तव अब नहीं रहे। यह समाचार बहुत लोगों को व्यतित करेगा मगर हम सभी जानते हैं कि वे काफी दिनों से जीवन के लिए लड़ रहे थे। मैं प्रभू से प्रार्थना करता हूं कि उनको अपने श्रीचरणों में स्थान दे।

आप को बता दें कि राजू श्रीवास्तव का असली नाम सत्य प्रकाश श्रीवास्तव है। उनका जन्म 25 दिसंबर 1963 को कानपुर के नयापुरवा में हुआ था। उन्होंने 1993 में हास्य की दुनिया में कदम रखा। 1980 में वे कानपुर से मुंबई के लिए भागे थे। अपने घर की दीवार फांदकर पड़ोसी के घर में कूदे और वहां से सीधे मुंबई भाग गए। उनके पड़ोसियों ने बताया कि चिल्लाते हुए गए थे कि अब नाम कमाकर ही लौटूंगा। ऐसे थे अपने राजू श्रीवास्तव जो उस वक्त अपने घरवालों से वादा किया उसको सार्थक करके ही दम लिया।

ये भी पढ़े…

NASA DART MISSION: एस्‍ट्रायड से टकराएगा नासा का स्‍पेसक्राफ्ट, धरती से करोड़ों किमी दूर घटेगी अदभुत घटना

Johar University: आजम खान की बड़ी मुश्किलें, जौहर यूनिवर्सिटी की दीवार पर चला बुलडोजर, वहीं अतीक अहमद के करीबी के घर पर भी चला बुलडोजर

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.