Russia-Ukraine War: यूक्रेन के क्रीमिया पर हमले से गुस्से में राष्ट्रपति पुतिन...

Russia-Ukraine War: यूक्रेन के क्रीमिया पर हमले से गुस्से में है राष्ट्रपति पुतिन,जल्द कर सकते है यूक्रेन पर जवाबी हमला

Russia-Ukraine War

Russia-Ukraine War: रूस और यूक्रेन का युद्ध कई महीनों से लगातार जारी है और खबर है कि रूस के कब्जे वाले क्रीमिया में बड़ा धमाका हुआ है। क्रीमिया-रूस के बीच इस पुल पर जोरदार धमाका हुआ है और इस हादसे में काफी नुकसान हुआ।हमले में एक तरफ सड़क का एक हिस्सा ढह गया तो वहीं, रेल गाड़ी में आग लग गई। हालांकि, धमाके के कारणों का अभी खुलासा नहीं हुआ है। बता दें कि यूक्रेन के क्रीमिया पर हमले से गुस्से में है राष्ट्रपति पुतिन और जल्द कर सकते है यूक्रेन पर जवाबी हमला…

Russia-Ukraine War: खबर ये भी आ रही है कि राष्ट्रपति पुतिन ने जांच के आदेश दे दिए है और यूक्रेनी सांसद ने दावा करते हुए कहा कि इस हमले के पीछे यूक्रेन ही है। हालांकि, अभी तक यूक्रेन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

Russia-Ukraine War: सूत्रो के मुताबिक बताया ये भी जा रहा है कि पुल पर धमाका अचानक से हुआ। आने वाले कुछ दिनों तक इस पुल पर अब किसी तरह की आवाजाही नहीं हो सकेगी।हालांकि, माना ये भी जा रहा है कि यूक्रेन की तरफ से इस हमले को अंजाम दिया गया है।

Russia-Ukraine War: क्रीमिया पर हुए हमले की वजह से राष्ट्रपति पुतिन गुस्से में नजर आ रहे है। उनका गुस्सा सांतवे आसमान पर पहँच गया है और वो किसी भी समय रूस यूक्रेन पर जवाबी हमला कर सकता है।

Russia-Ukraine War: हमले कि किसी ने भी नहीं ली है जिम्मेदारी

फिलहाल, इसे हमले को लेकर अभी तक किसी ने भी कोई जिम्मेदारी नहीं ली है। रूस और यूक्रेन का युद्ध छिड़ने के बाद से रूसी कब्जे वाले क्रीमिया पर कई बार हमले किए जा चुके हैं।

इससे पहले रूस की ब्लैक सी वाली फ्लीट के पास बमबारी का मामला सामने आया था और अब क्रीमिया के पुल को निशाना बनाया गया है। इससे पहले भी रूस की सेना ने क्रिमिया में हुए धमाकों के बाद हजारों लोगों को यहां से बाहर निकाला था।

यूक्रेन राष्टपति ज़ेलेंस्की ने क्रीमिया पर फिर से अपना नियंत्रण करने की खाई कसम

वहीं इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने मंगलवार को क्रीमिया पर फिर से नियंत्रण करने की कसम खाई। जिसे 2014 में रूस ने अवैध तरीके से कब्जा कर लिया था। ज़ेलेंस्की ने दूसरे क्रीमिया प्लेटफ़ॉर्म शिखर सम्मेलन के उद्घाटन पर कहारूसी आक्रमण के खिलाफ लड़ाई जीती जानी चाहिए, और इसलिए हमें क्रीमिया को कब्जे से मुक्त करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि क्रीमिया यूक्रेन के लिएसिर्फ कुछ क्षेत्र नहींहै, और कहा कि यहहमारे लोगों, हमारे समाज का हिस्सा है।ज़ेलेंस्की ने ये भी कहाक्रीमिया यूक्रेन था और है, और कब्जे के बाद, यह हमारे पूरे राज्य के साथ यूरोपीय संघ का हिस्सा बन जाएगा‘ और साथ ही ये भी कहा कि एक यूक्रेनी नागरिक का पासपोर्ट यूरोपीय संघ का पासपोर्ट भी होगा। यह क्रीमिया में रहने वाले हमारे सभी नागरिकों के लिए एक बड़ा अवसर है।

साल 2014 में किया था रूस ने क्रीमिया पर कब्जा

गौरतलब है कि 27 फरवरी 2014 को रूसी सेनाओं ने क्रीमिया पर कब्जा कर लिया था। रूसी लोगों के बहुमत वाले इस शहर को सोवियत संघ के विघटन के बाद रूस ने यूक्रेन को सौंपा था। कब्जे के बाद 16 मार्च 2014 को क्रीमिया में जनमत संग्रह कराया गया और 21 मार्च 2014 को रूस ने क्रीमिया पर औपचारिक रूप से अपने कब्जे में लिया।

ये भी पढ़े…

Bharat Jodo Yatra: राहुल गाँधी हुए असहज जब पत्रकार ने पूछा सवाल,” काँग्रेस अध्यक्ष रिमोट कंट्रोल से चलेगा?”
Up News: योगी के आदेश से कुम्हारों के घरों में उमंग का उजाला, विश्व रिकॉर्ड के साथ अयोध्या में जलेंगे 16 लाख दीये
By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.