Lakhimpur Kheri: 7 घंटे में मुकदमा, 16 घंटे में खुलासा, 24 घंटे में अंतिम संस्कार...

Lakhimpur Kheri: 7 घंटे में मुकदमा, 16 घंटे में खुलासा, 24 घंटे में अंतिम संस्कार, 25 लाख सहायता और फास्टट्रैक कोर्ट में चलेगा केस

Lakhimpur kheri

Lakhimpur Kheri: कांड में आरोपियों के खिलाफ 7 घंटे में मुकदमा दर्ज करके, 16 घंटे में पूरी घटना का खुलासा करके, 24 घंटे में शवों का अंतिम संस्कार कराके और पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपए की सहायता देकर योगी सरकार चारों ओर से वाहवाही लूट रही है। इसके साथ ही योगी सरकार ने एक पक्का आवास, कृषिभूमि का पट्टा देने और फास्टट्रैक कोर्ट  में केस चलाकर आरोपियों को एक माह में सजा दिलाने का वायदा किया है।

लखीमपुर खीरी मामले पर योगी सरकार में डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने बयान देते हुए कहा है कि दो नाबालिग लड़कियों की हत्या बेहद  दुर्भाग्यपूर्ण व दुःखद है। पीड़ित परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं। उक्त प्रकरण में सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर सभी के विरुद्ध पॉक्सो एक्ट में केस दर्ज कर कार्यवाही की जा रही है। प्रदेश सरकार पीड़ित परिजनों के साथ खड़ी है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने खोली एसपी की पोल

Lakhimpur Kheri: मामले में शुरू से ही प्रेम प्रसंग की कहानी बना रहे एसपी संजीव सुमन की कहानी को पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने झुठला दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टरों ने साफ किया है कि दोनों नाबालिग बहनों को गला घोंटकर मारा गया था। इससे पहले उनके साथ दुष्कर्म किया गया। हालांकि विस्तृत जांच के लिए स्लाइड बनाकर बनाकर भेज दी गई है। वहीं पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दो लड़कियों के साथ रेप के बाद गला घोट कर हत्या के मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

वहीं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, चन्द्रशेखर उर्फ रावण, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सहित देश के कई बड़े नेताओं ने योगी सरकार पर यूपी की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते हुए योगी सरकार को कठघरे में खड़ा किया है। साथ ही लखीमपुर खीरी की तुलना हाथरस कांड से की है। कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि लखीमपुर (उप्र) में दो बहनों की हत्या की घटना दिल दहलाने वाली है। परिजनों का कहना है कि उन लड़कियों का दिनदहाड़े अपहरण किया गया था। रोज अखबारों व टीवी में झूठे विज्ञापन देने से कानून व्यवस्था अच्छी नहीं हो जाती।आखिर उप्र में महिलाओं के खिलाफ जघन्य अपराध क्यों बढ़ते जा रहे हैं?

छोटू ने कराई थी सौहेल और जुनैद से दोस्ती

आपको बता दें कि लखीमपुर खीरी जिले के एक गांव निवासी दो सगी दलित बहनों को पड़ोसी गांव के ही दो मुस्लिम समुदाय के युवक बुधवार शाम को जबरन बाइक पर बिठाकर ले गए। इसके बाद दोनों नाबालिग बहनों से रेप किया गया और जब उन्होंने शादी के लिए दवाब बनाया तो दोनों बहनों की गला दबाकर हत्या कर दी गई और फिर हत्या को आत्महत्या में बदलने के लिए ईंख के खेत में एक पेड़ से दुपट्टे से फंदा लगाकर उन्हें लटका दिया गया। मामला तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और आरोपी सोहैल, जुनैद, करीमुद्दीन, आरिफ, छोटू और हफीजुल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक गांव के छोटू ने ही दोनों बहनों की दोस्ती सोहैल और जुनैद से कराई थी।

ये भी पढ़ें…

Lakhimpur Kheri: दो दलित नाबालिग बहनों से सोहैल और जुनैद ने अगवा कर किया रेप, हत्या कर शवों को पेड़ से लटकाया

Aligarh: 7 वर्षीय दलित बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाला आरोपी तालिब गिरफ्तार, पीड़िता की हालत नाजुक, हिंदूवादियों के आक्रोश से इलाके में तनाव

By Keshav Malan

यह कलम दिल, दिमाग से नहीं सिर्फ भाव से लिखती है, इस 'भाव' का न कोई 'तोल' है न कोई 'मोल'

Leave a Reply

Your email address will not be published.