Kanwar yatra: सीलमपुर में कट्टपंथियों ने कावड़ियों पर फेंका मांस ,पहले शोभा यात्रा और अब कावड़ यात्रा को बनाया निशाना तो यूपी में हुई फूलों की बरसात

kanwar yatra:

Kanwar yatra: देश  में लगातार कट्टपंथियों द्वारा हिंदुओं को निशाना बनाए जाने के मामले सामने रहे हैं। या यूँ कहें कि हिंदुओं की भावनाओं को लगातार आहत करने की कोशिश की जा रही है। दिल्ली के सीलमपुर में कांवड़ यात्रा के दौरान हिंदुओं के ऊपर मांस और मीट के टुकड़े फेंके गए और कांवड़ यात्रा को खंडित किया गया, जिससे हिंदू आक्रोशित हैं। और यह पहली बार नहीं है, जब हिंदुओं के आस्था को आहत करने के लिए हिंदुओं पर मीट के साथ साथ आपत्तिजनक सामाग्री फेंकी गई,जिसके बाद कांवड़ियों ने जिहादी मानसिकता और आरोपियों के ख़िलाफ़ कार्यवाही करने की माँग की।

Kanwar yatra: घटना मंगलवार शाम 4 बजे की है जब दिल्ली के सीलमपुर इलाक़े से निकलते हुए कुछ आसामाजिक तत्वों ने कांवड़ियों पर मांस के टुकड़े फेंक दिए। जिससे आक्रोशित हिंदुओं ने प्रशासन पर जल्द से जल्द कार्यवाही की माँग की जहां दिल्ली में कांवड़ियों पर मीट और मांस के टुकड़े फेंके गए तो वही उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ियों पर फूल बरसाए।

Kanwar yatra: आपको बता दें कि कांवड़ियों को अभी भी पाँच दिन की यात्रा पूरी करनी हैं, जो कि पच्चीस जुलाई को राजस्थान के अलवर पहुँच कर सम्पन्न होगी। अब इस घटना की वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। जिसमें एक युवक मोदी और योगी की तारीफ़ कर रहा है कि देश मोदी और योगी से बच रहा है।

वरना,सब साले चोर हैं और कांवड़ियों पर फेंके गए मांस के टुकड़े दिखा रहा है। वहीं केजरीवाल हाय-हाय करते हुए योगी के फूल बरसाए जाने की भी तारीफ़ हुई। इसके साथ ही कांवड़ियों ने दिल्ली के क़ानून को भी फेल बताया

कांवड़ियों का कहना है कि सीलमपुर इलाक़े में पहुँचते ही एक साथी ने जब कांवड़ियों को एक कंधे पर रखा था कि तभी उसके कांवड़ियों पर मांस के टुकड़े फेंक दिए गए। जो कि कुछ टुकड़े रोड पर भी बिखरे मिले।

मुस्लिम बाहुल्य सीलमपुर से पहले सब ठीक था और लोग जगह-जगह स्वागत सत्कार भी कर रहे थे और सिर्फ़ कांवड़ यात्रा ही नहीं बल्कि चाहें वो हनुमान जयंती हो चाहें शोभा यात्रा हो। उस पर कभी पत्थर बरसाए जाते हैं तो कभी कांच की बोतलें हर बार हिंदुओं को उकसाने की कोशिश की जाती है।

बात अगर हम हनुमान जयंती की करें तो हनुमान जयंती पर निकले जुलूस के दौरान जिहादी मानसिकता के लोगों ने जुलूस पर मस्जिद के ऊपर से कांच की बोतलें और पत्थर फेंके और गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया गया था। जिसका मुख्य आरोपी अंसार था, उस दौरान देश के कई राज्यों में हिंदुओं के जुलूस पर पत्थर से हमले हुए थे।

वहीं राजस्थान के करौली में भी कट्टरपंथियों द्वारा शोभा यात्रा जब मुस्लिम बाहुल्य इलाक़े में पहूंची तो उन पर भी ईंट पत्थरों की बरसात की गई। वहीं अनगिनत गाड़ियों में आग लगा दी गई। और तो और हिंदू परिवारों के नाम पूछ पूछ कर उन पर डंडे भी बरसाए गए और यहाँ तक कि महिलाओं को रेप की भी धमकी दी गई।

ये भी पढ़े…

GST Protest: काँग्रेस ने GST के मुद्दे पर संसद में किया विरोध प्रदर्शन, राहुल गाँधी-“कम बनाओ, कम खाओ, जुमलों के तड़के से भूख मिटाओ”…
CommonWealth Games 2022: पीएम मोदी ने कि खिलाड़ियों की हौसला अफजाई, कहा-“मैदान बदला है, आपका मिजाज़ नहीं, आपकी जिद नहीं”…

 

By Kajal Singh