leena manimekalai: दिल्ली पुलिस ने काली फिल्म की निर्माता लीला मणिमेकलई के...

leena manimekalai: दिल्ली पुलिस ने काली फिल्म की निर्माता लीना मणिमेकलई के खिलाफ दर्ज की FIR, हिंदू भावना को ठेस पहुँचाने का आरोप

Leena

leena manimekalai: दिल्ली पुलिस की IFSO इकाई ने ‘काली’ फिल्म से संबंधित एक विवादास्पद पोस्टर के संबंध में IPC की धारा 153A और 295A के तहत फिल्म की निर्माता लीना मणिमेकलई के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की हैं।

leena manimekalai: आप को बता दें कि विवादित काली फिल्म की निर्माता लीना मणिमेकलई की डाॅक्यूनेंट्री पोस्टर को रिलीज करते ही सोशल मीडिया पर विवाद हो गया। सोशल मीडिया पर लोग काली फिल्म की निर्माता लीना पर हिंदू धर्म की भावनाओं का आहत करने का आरोप लगाया है।

सोशल माडिया पर लोग पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह को टैग करते हुए काली फिल्म की निर्माता लीना मणिमेकलई को गिरफ्तार करने की माँग कर रहे है।फिल्म के पोस्टर में काली माता को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है और वहीं एक हाथ में वो LGBTQ का झंडा ली हुई हैं।

गौरतलब है कि लीना मणिमेकलई ने 2 जुलाई की शाम को विवादित काली फिल्म पोस्टर को अपने अधिकारिक ट्विटल हैंडल पर शेयर किया था। पोस्टर को शेयर करते हुए लीना ने लिखा था कि’’ मैं इस पोस्टर को शेयर करते हुए बहुत एक्साइडेट हूं क्योंकि मेरी ये डॉक्यूमेंट्री फिल्मकालीकनाडा फिल्म फेस्टिवट में लॉन्च हुई है।

लीना ने आगे कहा कि सोशल मीडिया पर विवादित काली फिल्म के पोस्टर को लेकर कहा कि इन लोगों का आस्था से कोई लेनादेना नहीं है। उनका ईंधन नफरत है।

बता दें कि लीना मणिमेकलई अपनी आगामी वृत्तचित्र के पोस्टर के विवाद के बारे में बोलते हुए कहा कि मेरे लिए काली शक्ति, स्वतंत्रता और सच्चाई का वास है। वह एक अडिग आत्मा है।

सोशल मीडिया पर आलोचना झेलने के बाद लीना ने इंस्टाग्राम पर कमेंट सेक्शन को ही ब्लॉक कर दिया। तमिल में उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा, “फिल्म उन घटनाओं के इर्दगिर्द घूमती है, जब एक शाम काली प्रक्रट होती है और टोरंटो की सड़कों पर टहलती हैं।उन्होंने कहा है कि फिल्म को नफरत के लिए नहीं बल्कि प्यार के लिए देखें।

इससे पहले भी हिंदुओं की आस्था को आहत करने की भरपूर कोशिश बॉलीवुड ने की है और समय-समय पर करता भी रहता है। सोशल मीडिया पर आलोचना झेलने के बाद लीना ने अपने इंस्टाग्राम पर लीना मणिमेकलई ने कमेंट सेक्शन को ब्लॉक कर दिया है।

तमिल में उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा, “फिल्म उन घटनाओं के इर्दगिर्द घूमती है, जब एक शाम काली प्रक्रट होती है और टोरंटो की सड़कों पर टहलती हैं।उन्होंने कहा है कि फिल्म को नफरत के लिए नहीं बल्कि प्यार के लिए देखें।

अभी हाल ही में रणवीर कपूर और आलिया भट्ट की फिल्म ब्रह्मास्त्र का ट्रेलर रिलीज हुआ था, जिसे देखकर भी सोशल मीडिया पर जमकर विवाद हुआ था।सोशल मीडिया पर भड़कते हुए लोगों ने ब्रह्मास्त्र की स्टारकास्ट और निर्माता को जमकर कोसते हुए कहा था कि ये तो सब्र की इंतेहा हो गयी है।बॅालिवुड में जानबूभकर ऐसी फिल्में बनाई जाती है जिससे हमारी हिंदुओं की आस्था को ठेस पहँचाई जा सके।

ब्रह्मास्त्र में अभिनेता को मंदिर के अंदर जूते पहनकर जाते हुए दिखाया गया है। वहीं 2021 में आई सैफ अली खानस्टारर वेब सीरिजतांडवने कथित तौर पर हिंदू देवताओं के बारे में आपत्तिजनक चीजें दिखाई थीं।

आमिर खान की पीके में भी हिंदुओं की आस्था से खिलवाड़ किया गया था। इस फिल्म मे भगवान शंकर बने हुए पात्र का मजाक उड़ाया गया था। सनी देओल अभनीतअस्सी घाटमें भी हिंदुओं की आस्था से खिलवाड़ किया गया था। हिंदू देवीदेवताओं का उपहास  उड़ाया गया था।

सोचने वाली बात ये है कि केवल बॅालिवुड में हिदुओं की आस्था को ठेस पहँचाने के लिए ही क्यों फिल्में बनाई जाती हैं और किसी भी धर्म खासकर इस्लाम को लेकर मजाक उड़ाने की हिम्मत क्यों नही होती क्योंकि हिंदू अपनी भावनाओं को ठेस पहँचाने पर केवल आलोचना करके ही रह जाता है। 

Eknath Shinde Government: शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत का दावा-“मध्यावधि चुनाव हुए तो जितेंगे 100 सीट से ज्यादा सीट, सुबह का भूला शाम को लौट आए तो उसे भूला नहीं कहते”
Umesh Kolhe Hatyakand: गृहमंत्री अमित शाह ने उमेश कोल्हे की हत्या की जांच NIA को सौपी, 21 जून को हुई थी हत्या

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.