Rape News: 3 साल में टॉप पर राजस्थान हर रोज होते हैं 17 दुष्कर्म, पढ़िए चौंकाने..

Rape News: 3 साल में टॉप पर राजस्थान हर रोज होते हैं 17 दुष्कर्म, पढ़िए चौंकाने वाले आंकड़े

Rape victim

Rape News: देश के राज्य राजस्थान से पिछले तीन साल में दुष्कर्म के चौंकाने वाले आंकड़े सामने आये हैं। देश के नक्शे पर अपनी अलग पहचान रखने वाले राजस्थान से दुष्कर्म के जो आंकड़े सामने आये हैं। बेहद शर्मिंदगी भरे हैं। देश के तीन बड़े राज्यों में हुये दुष्कर्म की तुलना राजस्थान से की जाये तो तीनों राज्यों के मामले मिलाकर भी राजस्थान से कम हैं। हाल ही में जारी राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों के अनुसार राजस्थान रेप के मामलों में देश में पहले नंबर पर है।

क्या कहते हैं NCRB के आंकड़े?

राजस्थान में साल 2021 में कुल 6,337 रेप के मामले सामने आए, जो साल 2020 के 5,310 के मुकाबले एक हजार ज्यादा हैं। रिपोर्ट के मुताबिक 2020 और 2021 में राजस्थान में सबसे अधिक रेप के मामले सामने आए हैं। राजस्थान के बाद मध्यप्रदेश में रेप के मामले दर्ज हुए। वहां पर 2020 में 2,339 मामले थे, जबकि 2021 में ये नंबर बढ़कर 2,947 हो गए। इस खबर पर आगे बढ़ने से पहले नीचे दिए गए पोल में हिस्सा लेकर आप अपनी राय जाहिर कर सकते हैं। रेप के मामलों में राजस्थान ने मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश और असम को भी पीछे छोड़ दिया है। राजस्थान में साल 2021 में रेप के इतने केस दर्ज हुए हैं, जितने तीन बड़े राज्यों में मिलाकर भी दर्ज नहीं हुए।

देखिए राजस्थान के साथ अन्य राज्यों के आंकड़े

Rape News: NCRB के अनुसार यूपी में 2,845 रेप केस दर्ज हुए। वहीं, महाराष्ट्र में 2,496 रेप केस रिपोर्ट हुए हैं। असम में 1733 जबकि दिल्ली में 1250 केस दर्ज किए गए। रेप केस के मामलों में राजस्थान 2020 से टॉप पर है। इसके बाद से दुष्कर्म और महिला हिंसा को लेकर अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। यही कारण है कि राजस्थान पिछले 3 साल से महिला हिंसा के मामलों में पहले पायदान पर रहा है। राजस्थान में पिछले 28 महीनों तक दुष्कर्म के 13,890 केस दर्ज हुए हैं। इनमें से 11,307 दुष्कर्म नाबालिग लड़कियों से हुए। वहीं दो साल में 12 साल से छोटी उम्र की 170 बच्चियों से दरिंदगी के मामले सामने आए।

लड़कियों की तस्करी में भी पीछे नहीं राजस्थान

राजस्थान महिला अत्याचारों के साथ तस्करी के मामले में भी ज्यादा पीछे नहीं रहा है। यहां के कुछ जिलों से लगातार नाबालिगों की तस्करी कर पड़ोसी राज्यों में बेचा जा रहा है। गुजरात से सटे 4 जिलों सिरोही, उदयपुर, बांसवाड़ा और डूंगरपुर की बच्चियां इन गैंग्स का सॉफ्ट टारगेट हैं। यहां के कई गांवों की लड़कियों को किडनैप कर या नौकरी का लालच देकर दलाल अपने जाल में फंसा लेते हैं। कई महीनों तक बंधक बनाकर रखते हैं। जब तक खरीदार नहीं मिलता, दलाल इनके साथ रेप करते हैं।

ये भी पढ़ें..

Aligarh: इस्लामिक मिशन स्कूल में हिजाब पहनने के लिए बच्ची को किया मजबूर, न हिंदी पढ़ाई जाती है और न ही होता है राष्ट्रगान

Jharkhand: पहले अंकिता को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया, फिर गिरफ्तार होने पर मुस्कुराता रहा जिहादी शाहरूख

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️

Leave a Reply

Your email address will not be published.