Shivraj Patil: ज्ञान वर्धन हेतु करेंगे पांच दिवसीय गीता ज्ञान गोष्टी एवं मां..

Shivraj Patil: ज्ञान वर्धन हेतु करेंगे पांच दिवसीय गीता ज्ञान गोष्टी एवं मां बगलामुखी यज्ञ का होगा आयोजन: अन्नपूर्णा

annapurna bharti

Shivraj Patil: पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शिवराज पाटिल द्वारा श्रीमद्भगवद्गीता पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के विरोध में हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय सचिव महामंडलेश्वर डॉक्टर अन्नपूर्णा भारती ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि शिवराज  पाटिल को श्रीमद्भगवद्गीता एवं अन्य धार्मिक पुस्तकों के बीच का अंतर समझ में आ गया होगा। जो टिप्पणी उन्होंने श्रीमद्भगवद्गीता पर की है वहीं अगर कुरान एवं अन्य किसी धर्म की पुस्तक पर की होती तो अब तक उनके खिलाफ सर तन से जुदा तनसर से जुदा का फतवा जारी हो गया होता यही अंतर भगवत गीता और दूसरी पुस्तकों में है जो उन्हें समझना चाहिए।

शिवराज पाटील के ज्ञानवर्धक एवं बुद्धि शुद्धि के लिए महामंडलेश्वर यति नरसिंघानंद गिरि जी महाराज के तत्वाधान में गीता उद्घोष की भूमि कुरुक्षेत्र में पांच दिवसीय गीता ज्ञान गोष्टी एवं पाटिल जैसे व्यक्तियों की बुद्धि शुद्धि के लिए मां बगलामुखी यज्ञ का आयोजन किया गया है। जिसमें हम शिवराज सिंह पाटिल और उनकी बात से सहमत होने वाले लोगों को सादर आमंत्रित करते हैं ताकि उन्हें श्रीमद्भगवद्गीता का सच्चा ज्ञान दिया जा सके।

उन्होंने कहा कि श्रीमद् गीता मैं धर्म युद्ध के लिए उपदेश दिया गया है जबकि अन्य पुस्तकें जिहाद महिलाओं का बलात्कार गरीबों की हत्या कमजोर को सताने का ज्ञान देते हैं उन्होंने गीता के उपदेश का व्याख्यान करते हुए कहा है कि श्रीमद्भगवद्गीता उन लोगों का भी प्रतिकार करने का आदेश देती है जो हिंदू होने के बावजूद भी धर्म के विपरीत बोलते हैं धार्मिक ग्रंथों का अपमान करते हैं ऐसे व्यक्तियों को भी शास्त्र के आधार पर सुधारने का काम भी श्रीमद्भगवद्गीता सिखाती है। उन्होंने कहा कि योगेश्वर श्रीकृष्ण व उनके द्वारा सम्पूर्ण मानवता को दिया गया ज्ञान श्रीमद्भगवद्गीता सनातन धर्म के सबसे प्रचंड प्रकाश स्तम्भ हैं।

Shivraj Patil: विदेशी मुस्लिम आक्रांताओं के षड्यंत्रों से प्रभावित होकर हमारे अनेक संत मनीषियों ने योगेश्वर श्रीकृष्ण का चरित्रहनन करना आरंभ कर दिया और उनके द्वारा सम्पूर्ण मानवता को दिए हुये ज्ञान श्रीमद्भगवद्गीता की मनमानी व्याख्या आरम्भ कर दी जिससे कारण सनातन धर्मावलंबियों ने श्रीमद्भगवद्गीता के मूल सिद्धांत कर्मवाद व धर्मयुद्ध को त्याग दिया और इसके स्थान पर पाखंड,चमत्कार और अकर्मण्यता को अपना लिया।जब हमने अपने धर्म को छोड़ दिया तो धर्म ने भी हमको छोड़ दिया और हम अपनी स्वतंत्रता को खोकर हर तरह से दीन हीन और मानसिक रूप से दास बन गए।हमारी मानसिक दासता ने हमारा धर्म,हमारा गौरव,हमारा वैभव और हमारा स्वाभिमान सभी कुछ हमसे छीन लिया।अब स्थिति ये है कि इस्लाम के जिहादी हमारा अस्तित्व तक मिटाने का भरपूर प्रयास कर रहे हैं।

अब अगर सनातन धर्मावलंबियों को स्वाभिमान और सम्मान के साथ जीवित रहना है तो उन्हें योगेश्वर श्रीकृष्ण के स्वरूप को सही तरह से समझते हुए श्रीमद्भगवद्गीता के रास्ते पर लौटना होगा।योगेश्वर श्रीकृष्ण का मार्ग यज्ञ,दान और तप का मार्ग है।सम्पूर्ण विश्व को यह मार्ग बतलाने के लिये हम एक अभियानधर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्रसे आरम्भ कर रहे हैं।यह कार्यक्रम पांच दिवसीय माँ बगलामुखी महायज्ञ और दो दिवसीय श्रीमद्भगवद्गीता ज्ञानयज्ञ के रूप में रहेगी।9 नवम्बर 2022 से 13 नवम्बर 2022 तक चलने वाले इस कार्यक्रम में पूरे देश से संत महात्मा और विद्वान भाग लेंगे और योगेश्वर श्रीकृष्ण के दृष्टिकोण से धर्म और अधर्म के सम्बंध में मानवीय कर्तव्य पर विचार विमर्श करेंगे।

पर्यावरण को शुद्ध करने अनावश्यक कीट पतंगों के नाश के लिए दीपावली पर खूब चलाएं पटाखे

पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा की आज इस्लाम के जिहादी अपनी हठधर्मिता के कारण सम्पूर्ण मानवता को विनाश की ओर ले जा रहे हैं। ऐसे में विश्वशांति और मानवता की रक्षा का एकमात्र मार्ग केवल  और केवल श्रीमद्भगवद्गीता से ही प्रशस्त होगा।धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र से आरम्भ होने वाला यह अभियान सम्पूर्ण विश्व मे पहुँचाया जाएगा जिसके प्रथम चरण में भारतवर्ष के सभी तीर्थो में यह महायज्ञ किया जाएगा और सनातन धर्म को जागृत किया जाएगा।

Shivraj Patil: प्रदेश उपाध्यक्ष गजेंद्र पाल सिंह आर्य, जिला अध्यक्ष जयवीर शर्मा, मंडल अध्यक्ष नकुल वासनी महानगर अध्यक्ष सचिन शर्मा, अनिल वर्मा, अभिषेक गुप्ता सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे। इस अवसर पर सभी को दीपावली की शुभकामनाएं भी दी गई एवं आग्रह किया गया पर्यावरण को शुद्ध करने अनावश्यक कीट पतंगों के नाश के लिए दीपावली पर खूब पटाखे चलाएं।

ये भी पढ़ें..

Shivraj patil: शिवराज पाटिल का ‘भगवत गीता’ पर विवादित बयान,काँग्रेस ने पल्ला झाड़ा

Special Diwali 2022: “बना कर दिये मिट्टी के जरा सी आस पाली है, मेरी मेहनत खरीदो यारो मेरे घर भी दीवाली है”

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️

Leave a Reply

Your email address will not be published.