Up News: थोड़े से कर्ज की सजा-ए-मौत, 3 महिलाओं ने पतियों के साथ मिल..

Up News: थोड़े से कर्ज की सजा-ए-मौत, 3 महिलाओं ने पतियों के साथ मिलकर एक शख्स का कर दिया खेल खत्म

pilibhit-three-women-along-with-husbands-made-a-plan-of-murder-executed-in-film-style

Up News: अक्सर आपने देखा होगा, कि जब आदमी गलत दिशा में बढ़े या फिर कुछ गलत काम करे तो उसकी अर्ध्दांगिनी हर संभव रोकने का प्रयास करती है। साथ ही सही दिशा की ओर बढ़ाती है। लेकिन यहां बिल्कुल उलट है, साहब! गलत हरकत करने के लिए महिला ही आगे अपने पतियों को बढ़ा रही हैं। और इतना आगे कि व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया। एक शहर में कुछ पैसों के चक्कर में 3 महिलाओं ने पतियों संग मिलकर एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया, साथ ही अपने घर में ही दफन कर लिया। जब पुलिस ने इस घटना का खुलासा किया, तो लोगों के होश उड़ गये।

क्या था पूरा मामला?

घटना उत्तर प्रदेश के जिला पीलीभीत की है, जहां तीन महिलाओं ने अपने पतियों के साथ मिलकर कमलेश रेलकर्मी की हत्या कर दी। मृतक की पत्नी पूरन देवी ने बताया, कि 3 अक्टूबर की शाम कमलेश घर से दवाई लेने के लिए निकला था। जब वह काफी समय तक वापस नहीं आया तो पत्नी परेशान होने लगी। कमलेश का मोबाइल भी बंद आ रहा था।

Up News: तब पत्नी ने आसपास के लोगों से पूछना शुरू किया। जिस पर गांव की एक महिला ने बताया कि कमलेश गांव के ही दीनदयाल के साथ मोटरसाइकिल पर कहीं जाते हुए दिखा था। इसके बाद दीनदयाल से पूछा तो उसने कहा कि वह कमलेश को न्यूरिया कस्बा छोड़कर चला आया था। इस पर मृतक की पत्नी ने थाने में जाकर पति के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

कैसे दिया वारदात को अंजाम?

मृतक कमलेश ने दीनदयाल से 35000 हजार रुपए उधार लिए थे। 1 साल बीत जाने के बावजूद भी उसने पैसा वापस नहीं किया था। दीनदयाल, उसका भाई दयाराम व तीसरा भाई हीरालाल ने पैसे वापस लेने को लेकर आपस में बात की। इनके साथ इन तीनों की पत्नियां भी शामिल थीं। पत्नियों ने जोर डालकर कमलेश की हत्या कराने की बात कही।

इस पूरी हत्या में उन्होंने अपने पतियों का बराबर का साथ भी दिया। प्लान के मुताबिक दीनदयाल कमलेश को घर लाया। जहां पहले कमलेश के लिए शराब का इंतजाम किया गया। उसके खाने के लिए तीनों की पत्नियों ने खाने का इंतजाम किया। उसके बाद कमलेश को बांके से काटा और उसे वहीं घर के अंदर दफना दिया।

Up News: आपको बता दें, कि मृतक की पत्नी द्वारा गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराए जाने के बाद पुलिस जांच में जुट गई थी, पत्नी ने पुलिस को बताया कि उसका पति आखरी बार दीनदयाल के साथ था। जिस पर पुलिस ने दीनदयाल को पूछताछ के लिए बुलाया। दीनदयाल से सख्ती से पूछताछ की गई तो वह टूट गया और उसने हत्या की बात कबूल ली थी।

ये भी पढ़ें..

RSS: अच्छे करियर के लिए इंग्लिश जरूरी नहीं, 80 फीसदी बड़े लोगों ने मातृभाषा मुहैया संस्थानों से की मैट्रिक की पढ़ाई- मोहन भागवत

RSS: संघ के मंच पर पहली बार दिखी महिला मुख्य अतिथि, भागवत ने बढ़ती आबादी को लेकर जताई भारत के भविष्य की चिंता

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️

Leave a Reply

Your email address will not be published.