Alcohol Ban: मथुरा श्री कृष्ण जन्मभूमि और अयोध्या पंचकोसी परिक्रमा क्षेत्र में..

Alcohol Ban: मथुरा श्री कृष्ण जन्मभूमि और अयोध्या पंचकोसी परिक्रमा क्षेत्र में माँस-मदिरा पर लगी लगाम

Alcohol cup

Alcohol Ban: भगवान श्री कृष्ण जन्मभूमि मथुरा व भगवान श्री राम की जन्मभूमि अयोध्या आध्यात्मिक नगरी मानी जाती है। स्थानीय लोगों की मांग व यूपी के मुखिया आदित्यनाथ योगी के ऐलान के बाद श्री कृष्ण जन्मभूमि के 10 किमी और अयोध्या पंचकोसी परिक्रमा मार्ग के 15 किमी के दायरे में मांस- मदिरा की बिक्री पर रोक लगा दी गई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस आदेश को लागू करवाने के लिए मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि के आसपास शराब की 37 दुकानों को बंद करवा दिया गया है। श्रीकृष्ण जन्मभूमि के 10 किलोमीटर के दायरे में आने वाली बीयर व भांग की दुकानों के लाइसेंस भी निरस्त कर दिए गए हैं। शासन ने आबकारी विभाग को 1 जून 2022 से इस आदेश को लागू करने के आदेश दिए थे। इसी आदेश पर होटलों में मौजूद 3 बार और 2 मॉडल शॉप को भी बंद करवाया गया है।

अयोध्या पंचकोसी मार्ग भी शराब मुक्त

यूपी के आबकारी मंत्री नितिन अग्रवाल के मुताबिक, अयोध्या के पंचकोसी परिक्रमा के अंदर का पूरा इलाका शराब की बिक्री से मुक्त कर दिया गया है। अब विभाग किसी को भी उस क्षेत्र में शराब बेचने की अनुमति नहीं देगा। पूर्ण शराब बंदी से मुक्ति का यह नियम लगभग 15 किलोमीटर में होगा। पहले यह राम मंदिर क्षेत्र भर में नियम लागू था, लेकिन पहली बार ये पंचकोसी परिक्रमा वाले पूरे क्षेत्र में लागू हो रहा है।

Alcohol Ban: आपको बता दें कि अगस्त 2021 में मथुरा का दौरा करते हुए सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने धर्मस्थलों को शराब मुक्त करने की घोषणा की थी। अब इसी कड़ी में कदम उठाते हुए, मथुरा के निगमायुक्त अनुनय झा ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि एक्साइज डिपार्टमेंट ने शहर के 22 वार्डों में शराब का व्यवसाय करने वाली दुकानों और बार पर कार्रवाई की है।

ये भी पढ़ें..

Singer Moosewala Murder Case: सिद्धू मुसेवाला की हत्या से उड़ी गृहमंत्री अमित शाह की नींद, भारतीय सेना के पास भी नहीं AN-94

Target Killing: कश्मीर में 48 घंटे के अंदर आतंकियों ने दूसरे हिंदू को गोलियों से भूना, खून से लाल हुई घाटी

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️

Leave a Reply

Your email address will not be published.