Kawad Yatra: योगी के बाद उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने शिव भक्तों का हेलिकॉप्टर से पुष्पवर्षा कर किया स्वागत

Haridwar

Kawad Yatra: सावन का महिना अत्यंत महत्वपूर्ण और पवित्र माना जाता है। इस महिने की शुरूआत की 14 जुलाई 2022 से हो चुकी है। यह महिना भगवान भोलेनाथ की भक्ति का माना जाता है। मान्यता है, कि इस महीने में जो भगवान शिव को प्रसन्न कर लेता है, उसकी हर मनोकामना बिना देरी के जल्द ही पूरी हो जाती है। सावन के महीने में आप सभी ने कांवड़ियों को कांवड़ यात्रा करते हुए देखा होगा।

हरिद्वार में कांवड़ियों के लग रहे हुजूम जो कि कावड़ लेकर यानी की गंगाजल लेकर वापिस अपने घरों की तरफ लौटेंगे। इन्हीं भोले के भक्तों पर उत्तराखंड़ के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने हेलिकॉप्टर से पुष्पवर्षा कराई जा रही है। हर की पौड़ी पर गंगा में डुबकी लगा रहे भोले के भक्तों ने पुष्पवर्षा के दौरान हर-हर बम बम, जय भोले के नारों से हरिद्वार को गूंजायमान कर दिया। साथ ही भक्तों ने हेलिकॉप्टर की तरफ हाथ हिलाकर खूब अभिवादन किया।

सीएम योगी ने भी बोला था-

आप को याद होगा कि पिछले साल कोविड के दौरान योगी सरकार ने काबड़ियों को कावड़ निकालने की इजाजत नहीं दी थी उसका मलाल योगी के मन में आज तक हैं और बस इसी मलाल को इस बार वो धो देना चाहते है। सरकार और प्रशासन काबड़ियों की तैयारी में अपने लाव–लश्कर के साथ लग गया है और बाबा योगी की ये ही कोशिश है कि इस बार कोई कमी न रह जाए।

आपने पहले भी देखा होगा कि खुद योगी ने हेलीकाॅप्टर में बैठकर काबड़ियों के ऊपर पुष्प वर्षा की थी और इस बार भी ये नजारा देखेने को मिल सकता है जब योगी खुद काबड़ियों पर पुष्प वर्षा करते दिखाई देंगे।

Kawad Yatra: यूपी में काबड़ियों के जश्न में कोई कमी नहीं होने देंगे योगी डोल नगाड़ों और डीजे से करेंगे स्वागत, काबड़ियों का जगह जगह फूलों से करेंगे आव–भगत… सावन के महीने में जहाँ–जहाँ से काबड़िए गुजरेंगे वहाँ–वहाँ मॅास –मदिरा को नहीं बेच पाएंगे लोग। अगर किसी ने ऐसी हिमाकत की तो योगी की पुलिस उसको दिन में  दिखा देगी तारें और फ्री में हवालात खाने को मिलेगी वो अलग से…

ये भी पढ़ें..

President: द्रौपदी मुर्मू ने की थी “लव मैरिज” साथ में पति रहे न बेटे, पढ़िए देश की नई राष्ट्रपति की दर्दनाक कहानी

Haridwar: साध्वी प्राची को मिली सिर कलम करने की धमकी, आश्रम में पड़ी मिली उर्दू में लिखी चिट्ठी

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️