Neet Paper: चैकिंग के दौरान 17 वर्षीय छात्रा से उतरवाई ब्रा, माँ के दुपट्टे से ढ़का वक्षस्थल

परीक्षा के लिए जाते छात्र

Neet Paper: ये भारत देश ऐसा है, जहाँ एक महिला की इज्जत बचाने के लिए महाभारत तक हुआ है। यहीं महिलाओं के सम्मान में लोग जान तक गंवा चुके हैं। यहाँ बहन, बेटियों को देवी माना गया है। लेकिन केरल के कोल्लम से आयी है इस खबर ने सभी को शर्मसार कर दिया है। खबर ये है, कि नीट मेडिकल की परीक्षा देने आयी 17 वर्षीय छात्रा जब परीक्षा केंद्र में गयी तो अधिकारियों द्वारा चैकिंग के दौरान ब्रा उतरवायी गई।

मजबूरन मांगना पड़ा माँ का दुपट्टा

17 जुलाई को देशभर में NEET का एग्ज़ाम हुआ। केरल के कोल्लम ज़िले के एक एग्ज़ाम सेंटर में चेकिंग के नाम पर छात्राओं की ब्रा उतरवा दी गयीं। पेपर में शामिल एक छात्रा ने आप बीती बताई, कहा कि जब चेकिंग के दौरान मुझसे ब्रा उतरवाई गई तो मुझे अपनी माँ का दुपट्टा मजबूरन मांगना पड़ा, ताकि मैं अपने शरीर को ढक सकूं।

चैकिंग के दौरान मौजूद छात्रा
चैकिंग के दौरान मौजूद छात्रा

परीक्षा देने पहुंची एक और छात्रा ने बताया, कि ब्रा उतारने के बाद वह अपने शरीर को ढकने के लिए कोई कपड़े की व्यवस्था नहीं कर सकी। मैंने अपने बालों से वक्षस्थल को ढ़कने की कोशिश की।

वच्छस्थल को बालों से छिपा कर दी परीक्षा

दा लल्लनटॉप की खबर के अनुसार छात्रा ने कहा, कि हमें अपनी ब्रा निकालकर एक टेबल पर रखने को कहा। सभी ब्रा एक साथ गुच्छे में बंधी हुई थी। हमें ये भी नहीं पता था कि वापस आने पर हमें अपनी ब्रा वापस मिलेगी भी या नहीं।

जब हम वापस आए तो भीड़ थी। किसी तरह मुझे मेरी ब्रा मिली। लड़की ने ये भी बताया, कि वापस आने के बाद सेक्युरिटी वालों ने सारी लड़कियों से कहा कि वो अपनी ब्रा छांटें और उठाकर आगे बढ़ें।

परीक्षा केंद्र में प्रवेश करते विद्यार्थी
परीक्षा केंद्र में प्रवेश करते विद्यार्थी

Neet Paper: उन्होंने कहा, कि अपनी ब्रा उठाओ और चले जाओ। पहनने की कोई ज़रूरत नहीं है। हम ये सुनकर बहुत शर्मिंदा हो गये। सभी चेंज करना चाहते थे. अंधेरा था और कोई जगह नहीं थी। बहुत बुरा लग रहा था। यहां तक कि जब हम एग्ज़ाम दे ​​रहे थे, बहुत सारी लड़कियों ने अपने बाल सामने रख कर पेपर दिया क्योंकि हमारे पास ख़ुद को ढकने के लिए कोई शॉल नहीं था।

मामले में 19 जुलाई की गयीं शिकायतें

मामले में 19 जुलाई को दो और शिकायतें दर्ज की गईं। नैशनल टेस्टिंग एजेंसी ने घटना की जांच के लिए फैक्ट फाइंडिंग टीम को आदेश दिया है। एजेंसी ने पहले आरोपों से इंकार कर दिया था और कहा था कि शिकायत बेबुनियाद है। केरल पुलिस ने बताया कि इस मामले में पांच महिलाओं को गिरफ़्तार किया गया है।

Neet Paper: एक लड़की के पिता ने अपनी शिकायत में बताया था, कि सेक्योरिटी वालों ने लड़कियों से कहा था, क्या तुम्हारा इनरवियर तुम्हारे लिए तुम्हारे भविष्य से बड़ा है? हमारा समय बर्बाद मत करो! इसे तुरंत हटा दो।

ये भी पढ़ें..

Up news: गोमती घाट ले जाकर विधवा माँ ने बेटे को दी मुखाग्नि, दृश्य देख लोगों की आँखें हुई नम

Up news: वो दौर और था ये दौर और है, कभी दिनदिहाड़े अपराधिक घटनाओं को दिया जाता था अंजाम, अब ठेले वाले को भी मिल जाती है सुरक्षा

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️