HIV: पॉजिटिव लोगों के लिए आशा की नई किरण, 'छूने से एड्स नहीं प्यार फैलता है'

HIV: पॉजिटिव लोगों के लिए आशा की नई किरण, ‘छूने से एड्स नहीं प्यार फैलता है’

cafe positive

HIV: को लेकर समाज में फैली एक नकारात्मक सोच पर आधुनिक समय का असर पड़ता नजर आ रहा है। इसका अंदाजा कोलकाता के इस कैफे को देखकर लगाया जा सकता है। इस कैफे में सिर्फ HIV से पीड़ित लोग ही काम करते हैं, आपको बता दें कि एचआईवी पॉजिटिव कर्मचारियों द्वारा संचालित होने वाला यह एशिया का पहला कैफे है।

सीधे तौर पर ये कैफे वहाँ काम करने वाले लोगों को जीवनयापन करने की आशा और अवसर दे रहा है। कोलकाता का यहकैफे पॉजिटिवएचआईवी पॉजिटिव कर्मचारियों के जीवन में कुछ बदलाव लाने में एक मिसाल कायम कर रहा है। इस कैफे की टैगलाइनसीमाओं से परे कॉफीरखी गई है। इसका उद्देश्य एचआईवी पॉजिटिव लोगों के प्रति जागरूकता फैलाना है।

कोलकाता में एचआईवी पॉजिटिव लोगों के लिए आशा की नई किरण दिखाता यह कैफे एशिया का पहला ऐसा कैफे है, जिसका संचालन एचआईवी पॉजिटिव लोग कर रहे हैं।

क्या है एड्स?

जब ह्यूमन इम्यूनो डेफिशियेंसी वायरस यानी HIV का संक्रमण आखिरी चरण में पहुंच जाता है तब किसी व्यक्ति को एड्स होता है। एचआईवी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली पर हमला करता है। जब एचआईवी के प्रसार को रोकने की व्यवस्था नहीं की जाए तो यह एड्स में बदल जाता है। हालांकि, आज भी एचआईवी को पूरी तरह से खत्म करने की दवा नहीं आई है। इसलिए जिस व्यक्ति को एचआईवी होता है, उसे जिंदगी भर इस वायरस के साथ जिंदा रहना पड़ता है।

माना जाता है कि 1800 के आसपास मध्य अफ्रीका में चिंपैजी पर सबसे पहले एचआईवी का आक्रमण हुआ था। इसके बाद धीरेधीरे यह इंसानों में आया, 1970 के बाद यह बीमारी तेजी से दुनिया भर के देशों में फैलने लगी।

कैसे फैलता है एड्स?

HIV: पहले से संक्रमित व्यक्ति से प्रत्यक्ष संपर्क के आधार पर ही एकदूसरे के शरीर में प्रवेश करता है। यानी यदि संक्रमित व्यक्ति का खून किसी भी तरह से दूसरे व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर गया, तो एचआईवी का संक्रमण हो जाएगा। यदि संक्रमित व्यक्ति का सीमेन (वीर्य) या प्री सेमिनल फ्लूड दूसरे व्यक्ति में प्रवेश करेगा, तभी एचआईवी होगा।

ये भी पढ़ें..

KRK: लिखा “मोदी जीते थे तो भारत छोड़ दिया था, कांग्रेस जीतेगी तो दुबई भी छोड़ दूंगा”, प्रशांत किशोर पर कसा तंज, यूजर्स ने दिए करारे जवाब

शाहरुख़ खान, अजय देवगन और अमिताभ बच्चन ने गुटखा खाना तो बताया, लेकिन थूकना कहां है? पूछ रहे यूज़र्स

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️

Leave a Reply

Your email address will not be published.