Farmer Protest: विरोध प्रदर्शन से पहले दिल्ली बॉर्डर हुए सील, 6 महीने का राशन लेकर आ रहे किसान

Farmer Protest: किसानों के विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली में सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था को कड़ा कर दिया है। 13 फरवरी को दिल्ली कूच का नारा देने वाले किसान संगठनों के आह्वान के बाद मंगलवार को बड़ी संख्या में उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब से किसानों के दिल्ली पहुंचने का अनुमान है। किसान कल दिल्ली में जुटेंगे।

Farmer Protest: किसान अपने साथ 6 महीने का राशन लेकर ट्रैक्टर ट्रॉली से आ रहे हैं। पंजाब से एक वीडियो सामने आया है, जिसमें किसान पुलिस की बैरिकेडिंग तोड़कर आगे बढ़ते दिखाई दे रहे हैं

केंद्रीय कृषि मंत्री से मिले किसान

Farmer Protest: किसानों के दिल्ली मार्च से पहले केंद्र सरकार किसान संगठनों को मनाने की कोशिश कर रही है। आज किसान संगठनों की केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, नित्यानंद राय और अर्जुन मुंडा को किसानों के साथ बातचीत करने और उनकी समस्याओं का समाधान निकालने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उसके बाद किसान आगे की अपनी रणनीति तय करेंगे।

हालांकि, किसान दिल्ली कूच की तैयारी में बैठे हैं तो वहीं केंद्र और राज्यों की तरफ से सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए है। किसानों के कूच को दिल्ली पहुंचने से कैसे रोका जाए, इसको लेकर कई बॉर्डर में पुलिस ने बैरिकेंडिंग और कटीले तार लगाए हैं। किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए राज्यों की सीमाओं पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

प्रियंका गांधी बोली- किसानों के लिए कील-काँटे बिछाना…

Farmer Protest: कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने आलोचना करते हुए कहा है कि किसानों के रास्ते में कील-काँटे बिछाना अमृतकाल है या अन्यायकाल? इसी असंवेदनशील एवं किसान विरोधी रवैये ने 750 किसानों की जान ली थी। किसानों के खिलाफ काम करना, फिर उनको आवाज भी न उठाने देना – कैसी सरकार का लक्षण है?

किसानों से किया वादा पूरा नहीं किया- न MSP का कानून बनाया, न किसानों की आय दोगुनी हुई- फिर किसान देश की सरकार के पास नहीं आयेंगे तो कहां जाएंगे? प्रधानमंत्री जी! देश के किसानों के साथ ऐसा व्यवहार क्यों? आपने किसानों से जो वादा किया था, उसे पूरा क्यों नहीं करते?

हरियाणा से लेकर दिल्ली तक सुरक्षा के कड़े इंतजाम

Farmer Protest: किसानों के ‘दिल्ली मार्च’ के आह्वान से पहले टिकरी बॉर्डर, शंभू बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर को प्रशासन के द्वारा सील कर दिया गया है, यानी दिल्ली के बॉर्डर पर हर तरफ सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। दिल्ली के बॉर्डर को कटीले तार, सीमेंट के बैरिकेड से कवर किया जा रहा है। इसके साथ ही रास्ते पर लोहे की कील लगाई जा रही है। जिससे किसान ट्रैक्टर लेकर किसी भी कीमत पर आगे न बढ़ पाएं। किसान मार्च को देखते हुए उत्तर पूर्वी दिल्ली में धारा 144 लागू की गई।

केंद्र ने हरियाणा में पैरामिलिट्री की 64 कंपनियां भेज दी हैं। इनमें BSF और CRPF के जवान भी शामिल हैं। प्रशासन की इस तत्परता से साफ जाहिर हो रहा है कि प्रशासन भी कोई रिस्क लेने के मूड में नहीं दिखाई दे रही है।

हरियाणा में 7 जिलों में इंटरनेट बंद

Farmer Protest: हरियाणा के सिरसा में हरियाणा पुलिस ने दो टेंपरेरी जेलें बनाई हैं। सिरसा के चौधरी दलबीर सिंह इंडोर स्टेडियम और डबवाली के गुरु गोविंद सिंह स्टेडियम को टेंपरेरी जेलों में तब्दील किया गया है। हरियाणा के 7 जिलों में 11 फरवरी यानी आज सुबह 6 बजे से मोबाइल इंटरनेट, डोंगल और बल्क SMS बंद कर दिए गए हैं।

यह रोक अंबाला, हिसार, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, फतेहाबाद और पुलिस जिला डबवाली समेत सिरसा जिले में रहेगी। यह आदेश 13 फरवरी की रात 12 बजे तक लागू रहेंगे।

Written By: Vineet Attri 

ये भी पढ़ें..

Bihar Political Crisis: विधानसभा स्पीकर को हटाया गया, आरजेडी के कोटे से थे स्पीकर अवध बिहारी चौधरी
Ayodha: दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल के साथ पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान आज अयोध्या के दौरे पर, रामलला के करेंगे दर्शन

By Nyasha Jain