Kashi Vishwanath: विदेशी मेहमानों के लिए श्रद्धा का केंद्र बना धाम, करोड़ों श्रद्धालुओं ने लगाई हाजरी

Kashi Vishwanath: काशी विश्‍वनाथ धाम के लोकार्पण को दो साल पूरे होने जा रहे हैं। इन दो सालों में करीब 13 करोड़ भक्‍तों ने बाबा विश्‍वनाथ के दर्शन किए। इसमें 16 हजार विदेशी भक्‍तों ने बाबा विश्‍वनाथ धाम में शीश झुकाए। इस हिसाब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र की अर्थव्‍यवस्‍था में करीब 20 हजार करोड़ का फायदा हुआ है।

Kashi Vishwanath: यह आंकड़ा बीएचयू के संबंधित कॉलेज से जुड़े अर्थशास्त्री अनूप कुमार मिश्रा ने अध्ययन के बाद दिया है।अनूप कुमार मिश्रा के अनुसार विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के बाद अब तक करीब 12 करोड़ 92 लाख लोगों ने बाबा के धाम में हाजरी लगाई है। इस हिसाब से करीब 2 लाख लोग हर दिन काशी विश्वनाथ धाम आ रहे हैं।

विदेशी मेहमानों के लिए श्रद्धा का केंद्र बना काशी विश्वनाथ धाम 

Kashi Vishwanath: बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में श्री काशी विश्‍वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण 13 दिसंबर 2021 को किया था। इसके बाद काशी विश्वनाथ धाम विदेशी मेहमानों की भी श्रद्धा का केंद्र बना।

लोकार्पण के बाद लगभग 15930 से अधिक विदेशी मेहमानों ने काशी विश्वनाथ धाम दर्शन के लिए बुकिंग कराई। सीएम योगी आदित्यनाथ यहां बाबा के भक्तों की सुविधा और सुगमतापूर्वक दर्शन के लिए समय-समय पर निरीक्षण के दौरान निर्देश देते रहते हैं। सीएम योगी का प्रयास है कि यहां आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी न हो।

काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के उद्घाटन के समय पीएम मोदी ने धार्मिक पर्यटन का नारा दिया था जो अब साकार होता दिख रहा है। काशी विश्वनाथ मंदिर के सीईओ सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि 13 दिसंबर 2021 को धाम के लोकर्पण के बाद यहां श्रद्धालुओं की संख्या में भारी इजाफा हुआ है।

देश ही नहीं दुनिया में डंका

Kashi Vishwanath: बता दें कि काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा 70 से अधिक देशों के राजदूत, आधा दर्जन देशों के राष्ट्राध्यक्ष के साथ कई प्रदेशों के मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री, बॉलीवुड की हस्तियां, देश के नामचीन उद्योगपति के अलावा कई वीवीआईपी यहां दर्शन कर चुके हैं।

एक अन्य श्रद्धालु ने कहा कि वो यहां पहले से आता रहा है। हालांकि अब काफी बदलाव हो चुका है। पहले इस तरीके का इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं था। अब बहुत बदलाव देखने को मिल रहा है. जो कि बहुत ही अच्छा लग रहा है। इससे युवा पीढ़ी भी धर्म के प्रति जागरूक होगी।

Written By: Poline Barnard

ये भी पढ़ें..

Voice of Youth: पीएम मोदी ने विकसित भारत @ 2047 वॉयस ऑफ यूथ कार्यशाला को किया संबोधित, कहा-“देश को विकसित राष्ट्र बनाना ही अहम लक्ष्य”
सुप्रीम कोर्ट: धारा 370 को लेकर एससी ने सुनाया ऐतिहासिक फैसला, जम्मू-कश्मीर के संघ के साथ संवैधानिक एकीकरण के लिए था, पीएम ने फैसले का किया स्वागत

By Nyasha Jain