Madhya Pradesh CM: एमपी के नए सीएम मोहन यादव और दो डिप्टी सीएम की जीवनी, पहली बार कब बने थे विधायक; पढ़िए पूरी रिपोर्ट

Madhya Pradesh CM: सारी अटकलों को खत्म करते हुए बीजेपी ने मध्य प्रदेश में नए सीएम का ऐलान कर दिया है।अब मोहन यादव के हाथों में सूबे की कमान होगी। वहीं सूबे में दो डिप्टी सीएम भी बनाए गए हैं। इनमें से एक नेता राजेंद्र शुक्ला हैं तो वहीं दूसरे जगदीश देवड़ा हैं।

Madhya Pradesh CM: मोहन यादव मध्य प्रदेश के नए मुख्यमंत्री होंगे। ये आज विधायक दल की बैठक में प्रताव पास कर उनके नाम पर मुहर लगा दी है। आज सोमवार को इसका औपचारिक ऐलान किया गया है।

कितनी बार विधायक रहे मोहन यादव?

 

Madhya Pradesh CM: आपको बता दे कि मोहन यादव लगातार तीसरी बार उज्जैन दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए हैं। उनकी उम्र 58 वर्ष है। उन्होंने 2 जुलाई, 2020 को शिवराज सिंह चौहान की कैबिनेट में बतौर मंत्री शपथ ली थी। उन्हें उच्च शिक्षा विभाग सौंपा गया था। वे ओबीसी वर्ग से आते हैं। बताया जा रहा है कि एमपी के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान (मामा) ने खुद मोहन यादव के नाम का प्रस्ताव रखा था। जिसका सभी विधायकों ने समर्थन किया।

इसके अलावा जगदीश देवड़ा और राजेंद्र शुक्ला को डिप्टी सीएम बनाया गया है। जगदीश देवड़ा मंदसौर जिले की मल्हारगढ़ से विधायक हैं। जगदीश देवड़ा SC वर्ग से आते हैं। वो 8 बार विधानसभा के लिए चुने जा चुके हैं।

वे शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में कमर्शियल टैक्सेज, प्लानिंग, नोवोमिक्स एंड स्टेटिस्टिक्स मंत्री थे। जबकि 59 वर्षीय राजेन्द्र शुक्ला रीवा सीट से विधायक हैं। वे ब्राह्मण वर्ग से आते हैं। उन्हें लगातार पांचवीं बार इस पद पर चुना गया है। वहीं, सीनियर लीडर और पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को विधानसभा का अध्यक्ष बनाया गया है।

कौन है मोहन यादव?

Madhya Pradesh CM: आपको बता दें कि एमपी के नए सीएम मोहन यादव आरएसएस के बेहद करीबी नेताओं में से एक माने जाते हैं। वह साल 2013 में पहली बार विधायक बने थे। मोहन यादव शिवराज सिंह सरकार में शिक्षा मंत्री भी रह चुके है। मोहन यादव उज्जैन दक्ष‍िण सीट से चुनाव लड़ें है। उनके प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस उम्‍मीदवार चेतन प्रेमनारायण यादव थे। मोहन यादव ने चेतन प्रेमनारायण को 12941 वोटों से हराया है। मोहन यादव को 95699 वोट मिले, तो वहीं चेतन प्रेमनारायण यादव को 82758 वोट मिले।

मोहन यादव का जन्म 25 मार्च, 1965 को उज्जैन में हुआ था। उनके पिता का नाम पूनमचंद यादव है। तीन बार के विधायक मोहन यादव के दो बेटे और एक बेटी हैं। उन्होंने बीएससी, एल-एल.बी, राजनीतिक विज्ञान में एम.ए, एम.बी.ए और पी.एच.डी की है। सन 1982 में माधव विज्ञान महाविद्यालय छात्र संघ के सह-सचिव, 1984 में अध्‍यक्ष भी रह चुके हैं।

कौन है राजेंद्र शुक्ला?

Madhya Pradesh CM:  राजेंद्र शुक्ला का जन्म 1964 में एमपी के रीवा में हुआ। उनके पिता का नाम भैयालाल शुक्ल है जो एक ठेकेदार थे। राजेंद्र शुक्ला ने अपनी पढ़ाई सरकारी स्कूल से की और सिविल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। राजेंद्र शुक्ला में बचपन से ही लीडरशीप करने की क्वालिटी थी। जिसके चलते ही उनको 1986 में इंजीनियरिंग कॉलेज छात्र संघ का अध्यक्ष बनाया गया।

राजेंद्र शुक्ला ने वर्ष 2003 में विधानसभा का चुनाव लड़कर राजनीति में अपना कदम रखा। उसके उन्होंने 2008 और 2013 में चुनाव जीत कर मध्य प्रदेश की विधानसभा में पहुंचे। राजेंद्र शुक्ला 2013 में शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री के रूप में भी कार्यभार संभाल चुके है।

कौन है जगदीश देवड़ा?

Madhya Pradesh CM: जगदीश देवड़ा मध्य प्रदेश के मल्हारगढ़ निर्वाचन क्षेत्र से लगातार चुनाव जीतते आ रहे हैं। बता दें जगदीश देवड़ा स्वर्गीय गेंदालाल जी देवड़ा के पुत्र हैं। जो 2008 से मल्हारगढ़ से लगातार विधायक चुनते आ रहे हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव 2023 में जगदीश देवड़ा ने मल्हारगढ़ निर्वाचन क्षेत्र में 59,024 वोटों से जीत हासिल की।

उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार श्यामलाल जोकचंद को हराया है। जगदीश देवड़ा ने अर्थशास्त्र में मास्टर ऑफ आर्ट्स (एम.ए.) की पढ़ाई की है।उन्होंने 1979 में कॉलेज, रामपुरा, नीमच, विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन, से की है।

Written By: Vineet Attri 

ये भी पढ़ें..

MP Politics: एमपी के नए सीएम होंगे मोहन यादव, नरेंद्र सिंह तोमर होंगे विधानसभा के स्पीकर; एमपी में दो डिप्टी सीएम होंगे
Eastern Regional Council meeting: पीएम मोदी से की “राज्य को विशेष दर्जा” देने की मांग, साथ ही उच्च आरक्षण पर भी बोले नीतीश कुमार

By Nyasha Jain