Maharashtra News: महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण ने कांग्रेस को छोड़ थामा बीजेपी का दामन

Maharashtra News: लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका है। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने सोमवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया था और आज भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है। महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में वो भाजपा में शामिल हुए।

Maharashtra News: पूर्व सीएम अशोक चव्हाण ने कहा था कि आज यह मेरे राजनीतिक करियर की नई शुरुआत है। मैं आज उनके कार्यालय में औपचारिक रूप से बीजेपी में शामिल हो रहा हूं, मुझे उम्मीद है कि हम महाराष्ट्र के रचनात्मक विकास के लिए काम करेंगे।

बाबा सिद्दीकी और मिलिंद देवड़ा ने भी छोड़ी थी पार्टी

Maharashtra News: महाराष्ट्र में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं बाबा सिद्दीकी और मिलिंद देवड़ा ने भी कुछ दिन पहले पार्टी छोड़ दी थी। चव्हाण मराठवाड़ा क्षेत्र के नांदेड़ जिले के रहने वाले हैं। वह 2014-19 के दौरान कांग्रेस की राज्य इकाई के प्रमुख भी थे। उन्होंने भोकर विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व किया था और वह नांदेड़ लोकसभा क्षेत्र से सांसद भी रह चुके हैं।

महाराष्ट्र कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं बाबा सिद्दीकी और मिलिंद देवड़ा के पार्टी छोड़ने के कुछ दिनों बाद चव्हाण ने कांग्रेस से इस्तीफा देने का कदम उठाया है। 65 वर्षीय नेता को आगामी राज्यसभा चुनाव के लिए मैदान में उतारा जा सकता है।

फडणवीस ने अशोक चव्हाण को लेकर क्या कहा?

Maharashtra News: अशोक चव्हाण के कांग्रेस छोड़े जाने पर भाजपा के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि अन्य दलों के कई बड़े नेता हमारे संपर्क में हैं। आगे-आगे देखिए, होता है क्या। कहा जा रहा है कि अशोक चव्हाण समर्थक कई विधायक कांग्रेस छोड़कर भाजपा, शिवसेना शिंदे गुट या राकांपा अजीत गुट में जाने को तैयार बैठे हैं।

कौन है अशोक चव्हाण?

Maharashtra News: अशोक चव्हाण मूलत औरंगाबाद जिले की पैठण तहसील के रहने वाले हैं। इनका जन्म 28 अक्टूबर, 1958 में हुआ था। अशोक चव्हाण महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शंकरराव चव्हाण के बेटे हैं। अशोक चव्हाण ने अपनी स्कूली शिक्षा सेंट जेवियर्स हाई स्कूल से पूरी की है। उन्होंने साइंस में ग्रेजुएशन और बिजनेस मैनेजमेंट में मास्टर डिग्री की है। अशोक चव्हाण की पत्नी अमिता भोकर निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं। अशोक चव्हाण की दो जुड़वां बेटियां श्रीजया और सुजया हैं।

अशोक चव्हाण का राजनीतिक सफर

Maharashtra News: अशोक चव्हाण 1986 से 1995 तक महाराष्ट्र प्रदेश युवा कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष और महासचिव थे। उन्होंने 1999 से शुरू होकर मई 2014 तक तीन कार्यकालों तक महाराष्ट्र विधानसभा में कार्य किया। उन्होंने 8 दिसंबर, 2008 से 9 नवंबर, 2010 तक महाराष्ट्र राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया। 9 नवंबर, 2010 को, कांग्रेस पार्टी ने उन्हें आदर्श हाउसिंग सोसाइटी घोटाले से संबंधित भ्रष्टाचार के आरोपों पर पद से इस्तीफा देने के लिए कहा।

2014 के आम चुनावों में, चव्हाण नांदेड़ निर्वाचन क्षेत्र से चुने गए, लेकिन 2019 में भाजपा के प्रताप पाटिल चिखलीकर से सीट हार गए। वह महाराष्ट्र में कांग्रेस की नैया छोड़ने वाला तीसरा बड़ा नाम हैं। सबसे पहले जाने वाले थे दक्षिण मुंबई के पूर्व सांसद मिलिंद देवड़ा, उनके बाद पूर्व विधायक बाबा सिद्दीकी थे। एक विधायक के रूप में नांदेड़ के भोकर का प्रतिनिधित्व करने वाले चव्हाण के राज्य पार्टी प्रमुख नाना पटोले के साथ गंभीर मतभेद होने की सूचना मिली थी।

Written By: Vineet Attri 

ये भी पढ़ें..

Aligarh: 104 पंडितों के मंत्रोचार के बीच 12 काजी मुस्लिम कन्याओं का पढ़ा निकाह, सामूहिक बारात पर हुई हेलीकॉप्टर से पु्ष्पवर्षा
Bhool Bhulaiya: ‘भूल भुलैया 3’ में लौट रही है असली मंजूलिका, कार्तिक आर्यन ने पोस्ट शेयर कर दी जानकारी

By Nyasha Jain