Rapid Metro: गाजियाबाद से जेवर एयरपोर्ट तक चलेगी रैपिड मेट्रो, क्या होगा रूट और कितना लगेगा समय? पढ़िए पूरी रिपोर्ट

Rapid Metro: गौतमबुद्धनगर के जेवर में तैयार हो रहे एयरपोर्ट और गाजियाबाद से मेरठ तक रैपिड रेल लाइन से एनसीआर के इलाके को विकास की नई ऊंचाई हासिल हुई है। अब इन दोनों प्रॉजेक्ट्स को आपस में जोड़कर विस्तार दिया गया है। चीफ सेक्रेटरी के साथ यमुना अथॉरिटी की बैठक में फैसला लिया गया।

Rapid Metro: इस प्रोजेक्ट को उत्तर प्रदेश सरकार ने भी मंजूरी दे दी है। पूरे प्रोजेक्ट में करीब 16 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे। खास बात यह है कि यह रैपिड रेल ग्रेटर नोएडा वेस्ट से होकर परी चौक से होते हुए नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक पहुंचेगी। इस रैपिड रेल का रूट 72.2 किलोमीटर लंबा होगा।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट से आएगी रैपिड रेल

Rapid Metro: कनेक्टिवटी को लेकर सोमवार को प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा ने प्राधिकरणों के साथ ऑनलाइन बैठक की थी। इस बैठक में गाजियाबाद से नोएडा एयरपोर्ट तक रैपिड रेल चलाने की मंजूरी दे दी गई। एनसीआरटीसी की फिजबिलिटी रिपोर्ट को पास कर दिया गया है। गाजियाबाद आरआरटीएस स्टेशन से ग्रेटर नोएडा वेस्ट और परी चौक से आगे नोएडा एयरपोर्ट तक रैपिड रेलमार्ग को मंजूरी दे दी गई है।

रैपिड रेल के जिस रूट को मंजूरी मिली है, वह गाजियाबाद से शुरू होकर ग्रेटर नोएडा वेस्ट, ग्रेटर नोएडा ईस्ट होकर परीचौक पर एक्वा लाइन मैट्रो से जुड़ेगा।
इसके आगे सूरजपुर कासना रोड होते हुए कासना, ईकोटेक छह, दनकौर होकर यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में एक्सप्रेस वे के समानांतर नोएडा एयरपोेर्ट तक जाएगा।

कब शुरू होगा जेवर एयरपोर्ट?

Rapid Metro: जेवर एयरपोर्ट के पहले फेज का काम 2024 में पूरा हो जाएगा। अक्टूबर 2024 से इसे पैसेंजर के लिए खोल दिया जायेगा। आपको बता दे कि इस रूट पर गाजियाबाद, गाजियाबाद साउथ, ग्रेटर नोएडा वेस्ट सेक्टर-4, सेक्टर-2, नालेज पार्क-5, सूरजपुर, परी चौक, ईकोटेक-6, दनकौर, यमुना प्राधिकरण के सेक्टर-18, सेक्टर-20, 21, नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट स्टेशन होंगे।

इस रूट पर ईकोटेक छह (Ecotec Six) व यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में सेक्टर 21में डिपो का प्रस्ताव दिया गया है। हालांकि डीपीआर में स्टेशन की संख्या में बदलाव भी किया जा सकता है। रूट पर शुरुआत में 11 स्टेशन प्रस्तावित किए गए हैं।

इसके अलावा नाेएडा एयरपोर्ट से गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा के लिए ई-बसें भी चलेंगी। इस योजना पर 50 प्रतिशत राज्य सरकार और 20 प्रतिशत केंद्र सरकार खर्च करेगी। बाकी 30 परसेंट यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण देगा।

इस 72 किलोमीटर के कॉरिडोर में 17 किलोमीटर गाजियाबाद का क्षेत्र होगा और बाकी जेवर एयरपोर्ट होगा। इस रूट पर छह कोच की ट्रेन को शुरुआत में नौ मिनट फ्रीक्वेंसी पर चलाने का सुझाव दिया गया है और फिर 2055 तक इसे चार मिनट करने की भी बात कही गई।

कितना समय लगेगा ?

Rapid Metro: इसमें ये रूट गाजियाबाद, सराय काले खां होकर आईजीआई से जुड़ेगा। इसके शुरू होने पर आईजीआई से नोएडा एयरपोर्ट तक करीब 80 मिनट, सराय काले खां से नोएडा एयरपोर्ट तक 70 मिनट, गाजियाबाद से नोएडा एयरपोर्ट तक करीब 50 मिनट और मेरठ से नोएडा एयरपोर्ट तक करीब 85 मिनट का समय लगेगा। बता दें कि अभी गाजियाबाद से जेवर जाने में घंटों का समय लगता है। यात्रियों को जाम का सामना करना पड़ता है।

Written By: Vineet Attri

ये भी पढ़ें..

Animal: जवान, पठान और गदर 2 के बाद रणबीर कपूर की ‘एनिमल’ ने बॉक्स ऑफिस पर मचाया धमाल, छठे दिन का क्या है कलेक्शन?
Jammu Kashmir: आतंकवादी सहयोगी इरफान अहमद भट्ट की 14 मरला भूमि बांदीपोरा पुलिस ने की कुर्क पढ़िए पूरी रिपोर्ट

By Nyasha Jain