Telangana New CM: शपथ ग्रहण कर तेलंगाना के नए सीएम बने रेवंत रेड्डी, पीएम मोदी ने एक्स पर दी बधाई

Telangana New CM: पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में सिर्फ एक राज्य तेलंगाना में कांग्रेस को जीत मिली। पार्टी की तरफ से रेवंत रेड्डी को राज्य में नेतृत्व सौंपी गयी है। गुरुवार को रेवंत रेड्डी ने अन्य सहयोगियों के साथ मंत्री पद की शपथ ली। शपथ ग्रहण के लिए एक बेहद भव्य आयोजन किया गया। रेवंत रेड्डी स्वयं कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के साथ शपथ लेने के लिए पहुंचे।

Telangana New CM: हैदराबाद के 30,000 सीटों की क्षमता वाले एलबी स्टेडियम में आयोजित इस कार्यक्रम में रेड्डी एक खुली छत वाली जीप में सवार होकर पहुंचे। रेवंत रेड्डी के सीएम बनाने से पहले कांग्रेस पार्टी में कई दौर की बैठकें चली। राज्य के कई नेता रेवंत रेड्डी के नाम के विरोध में थे।

पीएम मोदी ने एक्स पर क्या कहा?

Telangana New CM: रेवंत रेड्डी के सीएम बनने पर पीएम मोदी ने सोशल मीडिया हैंडल एक्स (X) पर उन्हें बधाई दी। उन्होंने एक्स पर कहा कि रेवंत रेड्डी गारू को तेलंगाना के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर बधाई। मैं राज्य की प्रगति और उसके नागरिकों के कल्याण के लिए हर संभव समर्थन का आश्वासन देता हूं।

तमिलिसाई सुंदरराजन ने रेवंत रेड्डी और अन्य मंत्रियों को दिलाई शपथ

Telangana New CM: 2014 में आंध्र प्रदेश से तेलंगाना के अलग होने के बाद रेवंत रेड्डी दूसरे सीएम हैं। इससे पहले भारत राष्ट्र समिति के प्रमुख के. चंद्रशेखर राव ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। करीब एक दशक पहले तेलंगाना के नए राज्य के रूप में अस्तित्व में आने से लेकर अब तक केसीआर ही सीएम थे। तेलंगाना के राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन ने रेवंत रेड्डी और अन्य मंत्रियों को शपथ दिलाई।

रेवंत रेड्डी के अलावा 10 और विधायकों ने मंत्रिपद की शपथ ली। इनमें भट्टी विक्रमार्क को डिप्टी सीएम बनाया गया है। शपथग्रहण कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी, कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया समेत तमाम कांग्रेसी नेता मौजूद रहे।

कौन है रेवंत रेड्डी?

Telangana New CM: रेवंत रेड्डी तेलंगाना कांग्रेस अध्यक्ष और सांसद हैं। महबूबनगर जिले के कोंडारेड्डी पल्ली में जन्मे 54 साल के रेवंत का पूरा नाम अनुमुला रेवंत रेड्डी है। उस्मानिया यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट रेवंत ने राजनीतिक करियर की शुरुआत भाजपा की स्टूडेंट विंग ABVP से की थी। 2007 में वे निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर आंध्र प्रदेश विधानपरिषद के सदस्य भी चुने गए।

बाद में आंध्र प्रदेश के CM चंद्रबाबू नायडू के न्योते पर वे तेलुगु देशम पार्टी (TDP) में शामिल हो गए। 2009 में उन्होंने TDP के टिकट पर आंध्र प्रदेश के कोंडगल विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और कांग्रेस के पांच बार के विधायक गुरुनाथ रेड्डी को हराया। नायडू ने उन्हें विधानसभा में पार्टी का नेता भी बना दिया। फिर TDP में इस बात की चर्चा होने लगी कि रेवंत कांग्रेस से नजदीकी बढ़ा रहे हैं।

2017 में TDP ने उन्हें अपने नेता सदन के पद से हटा दिया। कुछ दिनों बाद ही रेवंत कांग्रेस में शामिल हो गए। 2018 के चुनाव में रेवंत फिर कोडंगल से लड़े और हार गए।  2019 के लोकसभा चुनावों में उन्होंने मल्काजगिरी सीट से चुनाव लड़ा और पहली बार संसद पहुंचे।

जून 2021 में कांग्रेस हाईकमान ने उन्हें सीनियर नेता एन. उत्तम रेड्डी की जगह तेलंगाना की कमान सौंपी। रेवंत के साथ 10 अन्य कांग्रेस विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली, जिसमें मल्लू भट्टी विक्रमार्क भी हैं, जिन्हें डिप्टी सीएम बनाया गया है।

कई राज्यों के सीएम का बुलावा

Telangana New CM:  इस समारोह में विभिन्न राज्यों के कांग्रेस प्रमुखों भी शामिल हुए। इसके अलावा कार्यक्रम में तेलंगाना के पूर्व मुख्यमंत्री केसीआर को भी आमंत्रित किया गया था, साथ ही कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, उनके डिप्टी डीके शिवकुमार, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी और टीडीपी प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू को भी बुलाया गया था।

Written By: Swati Singh

ये भी पढ़ें..

Rajasthan: बीजेपी के तीन सांसदों ने दिया इस्तीफा, किस सवाल को सुनकर दौड़ते हुए निकल गए बाबा बालकनाथ?
Rapid Metro: गाजियाबाद से जेवर एयरपोर्ट तक चलेगी रैपिड मेट्रो, क्या होगा रूट और कितना लगेगा समय? पढ़िए पूरी रिपोर्ट

 

By Nyasha Jain