Pakistan: मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के बेटे ने बसाया था पाकिस्तान का ये शहर

Pakistan: पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में आने वाले शहर लाहौर के बारे में तो आपने कई बार सुना होगा, कभी यहां की दिलचस्प बातें तो कभी यहां की खूबसूरत जगह के बारे में। आपको बता दें कि, सन् 1947 में भारत-पाकिस्तान के बीच हुए बंटवारे में ये शहर पाकिस्तान की सीमा में चला गया। लेकिन आज भी कई भारतीयों का इस जगह से गहरा नाता है।

Pakistan: बॉलीवुड से लेकर भारत के आद्यौगिक घराने और राजनीति तक कुछ ऐसे लोग हैं, जिनका जन्म  इस जगह पर हुआ या फिर उनके पूर्वज इसी शहर में रहते थे। लेकिन आज हम आपको इस शहर को लेकर एक ऐसा फैक्ट बताएंगे। जिसको लेकर आप सभी आजतक अनजान होंगे। जी हां, कभी आपने सोचा कि ये जगह आखिर किसने बसाई थी? नहीं मालूम तो आपको बता दें, पाकिस्तान के लाहौर को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के पुत्र लव द्वारा बसाया गया था।

किसने बसाया यह शहर?

Pakistan: माना जाता है कि भगवान श्री राम के पुत्र लव लाहौर में बस गए थे। हिंदू मान्यता के अनुसार, लाहौर नाम लवपुरी से लिया गया है। उन्होंने ही इस शहर की स्थापना की। हालांकि, महर्षि वाल्मीकि की रामायण में निश्चित रूप से इसका कोई उल्लेख नहीं मिलता है।

आपको बता दें कि लव के नाम पर पाकिस्तान में भी एक मंदिर है। यह मंदिर लाहौर किले के अंदर स्थित है। पहले यहां लोगों की भीड़ रहती थी, लेकिन अब यह मंदिर आज खाली पड़ा है, इसकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है।

लाहौर को बताया 4 हजार साल पुराना शहर

Pakistan: इसी रिपोर्ट में दावा किया गया है कि लाहौर शहर लगभग 4000 हजार साल पुराना है। अरब आक्रमण से पूर्व यहां कई बड़े हिंदू और बौद्ध शासक हुए। मिस्र के एक यात्री के विवरण के आधार पर दावा किया गया है कि पाटलिपुत्र (पटना) और नील नदी (मिस्र) के बीच बसे ‘खूबसूरत’ शहर लाहौर को ही कहा गया है।

कुश से जुड़ा है इस शहर का नाम

Pakistan: इस मंदिर का निर्माण उस समय हुआ। जब पंजाब में सिख साम्राज्य था। इसके सिवा लव के भाई कुश का कुशावती शासन था, जिसे अब आज पाकिस्तान के पंजाब के लाहौर डिवीजन में कसूर जिले के नाम से जाना जाता है।

इस शहर के बारे में कहा जाता है कि यह कुश के नाम पर रखा गया है। यह शहर लगभग 53 किमी दूरी पर स्थित है। इतिहास के अनुसार इस शहर की स्थापना 1525 में हुई थी।

Written By: Vineet Attri 

ये भी पढ़ें..

Tauqir Raza: बरेली में जुमे की नमाज के बाद मुस्लमानों का जेल भरो आंदोलन, तौकीर रजा को पुलिस ने हिरासत में लिया
छत्तीसगढ़ बजट 2024: वित्त मंत्री ओपी चौधरी निकले बड़े रामभक्त, बजट से पहले की राम मंदिर में पूजा

By Nyasha Jain