Tejas Aircraft- भारतीय फाइटर जेट तेजस की खूबियों के कई देश हुए दीवाने,तेजस खरीदने..

Tejas Aircraft- भारतीय फाइटर जेट तेजस की खूबियों के कई देश हुए दीवाने, तेजस खरीदने की लगी होड़

Written by-Aniket Sardana…

Tejas Aircraft- हथियारों के होड़ में भारत अब दूसरे देशों से कंधे से कंधा मिला कर चल रहा है। भारतीय रक्षा कपनियां जहॉं एक ओर भारतीय हथियारों के निर्माण पर जोर- शोर से लगी हुई है, वही दूसरी और अपने आधुनिक हथियारों के निर्यात कि और भी बड़े पेमाने से करने में जुटी है।

Tejas Aircraft- इस क्रम में भारतीय एविएशन सेक्टर की नामी कंपनी हिंदुस्तान एयरोनाटिक्सी लिमिटेड ने मलेशिया में अपना फैकटरी खोल रही है। एचएल ने गुरुवार को रक्षा सचिव डा अजय कुमार की मोजूदगी में मलेशियां के कुआलालंपुर में एक कार्यालय स्थापित करने के लिए एक समझौते पत्र पर साईन किए हैं। ऐसे में आइऐ जानते हैं कि भारत के किस जेट में मलेशियां व अन्य देशों की दिलचस्पी है।

Tejas Aircraft- तेजस भारतीय वायु सेना की रीढ़ बनने की और अग्रसर है। इन विमानों के मिल जाने से वायु सेना की मौजूदा ताकत में जबरदस्त इजाफा होना तय है। तेजस विमानों की तैनाती पाक सीमा के नजदीक गुजरात के नलिया और राजस्थान के फलोदी एयरबेस पर की जाएगी।

Tejas Aircraft- भारतीय सीमाओं को चीनपाकिस्तान सरीखे दुष्ट पड़ोसी देशों से निरंतर दोहरी चुनौती मिलती रहती है। ऐसे में भारतीय वायुसेना को आधुनिक तकनीक से निर्मित तेजस जैसे विमानों से लैस करना बेहद जरूरी है। इस तरह तेजस विमानों से वायु सेना की रणनीतिक जरूरतों को काफी हद तक पूरा किया जा सकेगा। 

 कई देशो में तेजस खरीदने की लगी होड़

भारत में बने तेजस जैसे हल्के लड़ाकू जेट लगातार सुर्खियो में है। तेजस दक्षिण-एशियाई देशो की पहली पसंद बन गया है। भारत और अन्या देशो के बीच इस फाइटर जेट के सौदे को लेकर बाते जारी है।

मलेशिया के फाइटर जेट कार्यक्रम के लिए आयोजित प्रतियोगिता में चीन का JF-17, दक्षिण कोरिया का FA-50 और रूस का Mig-35 और Yak-130 फाइटर भी शामिल थे। भारतीय जेट तेजस ने इन सबको धूल चटाकर पहला स्थान हासिल किया है।

यह है कि इस जेट सौदे के तहत भारत मलेशिया को मेंटिनेंस, रिपेयर करने के का भी। इसके तहत मलेशिया में ही एक फैक्टरी बनाई जाएगी, जहां भारत के ईजीनियर तेजस समेत रूसी Su-30 जेट की भी सर्विस करेंगे।

Tejas Aircraft- भारतीय जेट तेजस की खूबियां-

1- तेजस दूर से ही दुश्मन के विमानों पर निशाना साध सकता है। युद्ध के मैदान में यह दुश्मन के रडार को चकमा देने में सक्षम है। यह विमान उतने ही हथियार और मिसाइल लेकर उड़ सकता है, जितना इससे ज्यादा वजन वाला सुखोई विमान। तेजस अपने साथ आठ से नौ टन तक बोझ लेकर उड़ सकता है। तेजस की सबसे बड़ी खूबी इसकी गति है।

2- तेजस 52 हजार फीट की ऊंचाई तक ध्वनि की गति यानी मैक 1.6 से लेकर 1.8 तक की तेजी से उड़ सकते हैं। वजन में हल्के होने के कारण तेजस की गति बेजोड़ है। यह हवा में ईंधन भर सकता है और जंग के लिए दोबारा तैयार हो सकता है।

तेजस एक साथ नौ तरह के हथियारों से फायर करने में सक्षम है। इस पर एंटीशिप मिसाइल, बम और राकेट भी लगाए जा सकते हैं। यह लड़ाकू विमान हवा से हवा में, हवा से जमीन पर एवं हवा से पानी में मिसाइल दागने की क्षमता रखता है।

3- यह विमान 460 मीटर के रनवे पर दौड़कर उड़ने की क्षमता रखता है। इस तरह यह नौ सेना के किसी भी विमानवाहक पोत से टेक आफ और उस पर लैंडिंग करने में माहिर है। कम उंचाई पर भी यह विमान उड़ान भरकर शत्रु सेना पर नजदीक से हमला कर सकता है।

इसके अलावा यह विमान लेजर गाइडेड मिसाइल से आक्रमण कर सकता है। इसकी खास बात यह है कि जैमर प्रोटेक्शन तकनीक से लैस होने के कारण यह दुश्मन की आंखों में धूल झोकने में सक्षम है।

ये भी पढ़े…

Up News: जन्माष्टमी पर मथुरा से मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी का ऐलान, योगी ही होंगे मोदी के उत्तराधिकारी
Boycott Bollywood: राष्ट्रवादियों का गुस्सा अब रितिक रोशन और एकता कपूर पर बरसा, यूजर्स ने सुनाई खरी-खोटी
By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.