Agnipath: अग्निवीर पेंशन के हकदार नहीं तो जनप्रतिनिधी क्यों? वरुण गांधी ने कहा, “मैं पेंशन छोड़ने को तैयार हूँ”

Varun gandhi

Agnipath: भाजपा सांसद वरूण गांधी सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना पर सवाल उठा रहे हैं। पहले भी सरकार कई योजनाओं की खुलकर आलोचना करते दिखाई दिए हैं। वरूण गांधी ने अग्निपथ योजना को लेकर ट्वीट करते हुए कहा है, कि अल्पावधि की सेवा करने वाले अग्निवीर पेंशन के हकदार नही हैं तो जनप्रतिनिधियों को यह ‘सहूलियत’ क्यूँ? राष्ट्ररक्षकों को पेंशन का अधिकार नही है, तो मैं भी खुद की पेंशन छोड़ने को तैयार हूँ। क्या हम विधायक/सांसद अपनी पेंशन छोड़ यह नही सुनिश्चित कर सकते, कि अग्निवीरों को पेंशन मिले?

सभा को सम्बोधित करते क्या बोले वरूण?

वरूण गाँधी पीलीभीत से सांसद हैं, वो अपनी सरकार पर लगातार निशाना साधते रहे हैं। हाल ही में एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए वरूण गांधी ने कहा कि अग्निपथ योजना को लेकर कई युवाओं ने मुझसे सोशल मीडिया चिंता जाहिर की है।

Agnipath: वरूण गांधी ने कहा कि जब एक युवा का सपना मरता है, तो पूरे देश का सपना मरता है। क्या 4 साल के बाद अग्निवीरों का सम्मानजनक पूनर्वास होगा? मेरा मानना है, कि जब तक समाज के आखिरी व्यक्ति की आवाज न सुनी जाए, तब तक कोई भी कानून का निर्माण न हो।

रक्षा मंत्री को लिखा था पत्र

वरुण गांधी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर अग्निपथ’ योजना को लेकर युवाओं के कई सवालों को उठाया था। उन्होंने अपील की थी, कि युवाओं को असमंजस की स्थिति से बाहर निकालने के लिए सरकार अतिशीघ्र योजना से जुड़े नीतिगत तथ्यों को सामने रख कर अपना पक्ष साफ करे। जिससे देश की युवा ऊर्जा का सकारात्मक उपयोग सही दिशा में हो सके।

ये भी पढ़ें..

Agnipath: अलीगढ़ में जाँच के डर से कोचिंग संस्थानों ने गिराये शटर, यूपी में अब तक 387 उपद्रवी गिरफ्तार

Aligarh: अग्निपथ के विरोध की आढ़ में आगजनी करने वालों को होगी 10 साल की सजा!

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️