Boycott Bollywood: लाल सिंह चड्डा के बहिष्कार पर बोले 'द कश्मीर फाइल्स' के निर्माता...

Boycott Bollywood: ‘लाल सिंह चड्डा’ के बहिष्कार पर बोले ‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्माता विवेक अग्निहोत्री- “विचार करें ऐसे हालात पैदा क्यों हुए?”

Boycott Bollywood

Boycott Bollywood: सुपर हिट फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ के निर्माता-निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने सोशल मीडिया पर चल रहे बायकाॅट ट्रैंड पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा कि “किसी भी फिल्म के मुख्य अभिनेताओं और अन्य कलाकारों को शूटिंग के दौरान दर्शकों की भावनाओं के प्रति संवेदनशील रहना चाहिए। न की उनकी भावनाओं का मजाक उड़ाना चाहिए।”

Boycott Bollywood: विवेक ने ये भी कहा कि “बहिष्कार करना एक व्यक्तिगत अधिकार है। हम नारीवादी, आदिवासी, पशु अधिकारों की बात करते हैं। इसलिए, मुझे लगता है कि किसी भी चीज का बहिष्कार करना एक व्यक्तिगत अधिकार है। लेकिन सोचने वाली बात यह है कि यूं अचानक बहिष्कार की स्थिति आई क्यों?

Boycott Bollywood: अगर कोई टूथपेस्ट बेचने वाली कंपनी, अपने ही ग्राहकों का मजाक उड़ाने लगे, और बोले कि जो कोई भी इस टूथपेस्ट का उपयोग कर रहा है वह सब इडियट्स हैं। तो आप कितने दिनों तक उस टूथपेस्ट का इस्तेमाल करेंगे? मुझे लगता है कि यह आत्मनिरीक्षण की बात है। इस बात पर विचार करना चाहिए कि आज यह स्थिति क्यों आई है।”

Boycott Bollywood: उन्होंने आगे कहा कि यह पहली बार नहीं है जब किसी फिल्म का बहिष्कार किया जा रहा है। अग्निहोत्री ने कहा कि “बहिष्कार बहुत फिल्मों का होता है। द कश्मीर फाइल्स काे बॉलीवुड ने, क्रिटिक्स ने, मीडिया ने, एक्जीबिटर्स ने, सब ने बायकॉट कर दिया था। लेकिन अगर आपकी फिल्म ईमानदार है … दुनिया की कोई ताकत उससे रोक नहीं सकती।”

सोशल मीडिया पर आजकल बायकाॅट बॉलीवुड काफी ट्रेंड कर रहा है, और पूरे बॉलीवुड के खिलाफ विरोध की जबरदस्त लहर चल रही है, देश के राष्ट्रवादी लोग गुस्से में है। सोशल मीडिया प्लेटफार्म विशेषकर ट्विटर का रुख करें तो बॉयकॉट बॉलीवुड का ट्रेंड जोरों पर है….

ताज़ा मामला आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्डाह का ही ले लीजिये, इस फिल्म का बॉक्स ऑफिस पर जो हाल हुआ है वो सब जानते हैं, जनता ने न सिर्फ थिएटर के अंदर से ही नहीं बल्कि उसके गेट से ही विरोध करना शुरू कर दिया था।

राष्ट्रवादियों और हिंदू सागठनों ने खुले तौर पर ऐलान कर दिया था की आमिर खान की फिल्म को देखने कोई नहीं जाएगा, पहले ही दिन लाल सिंह चड्डा शो में सीटें खाली देखी गई और वहीं दूसरी ओर उसी दिन रिलीज होने वाली रक्षाबंधन फिल्म के शो में लोग ज्यादा देखे गए।

हालत बिगड़ते देख आमिर खान ने खुद लोगो से मूवी देखने की अपील की मगर लोगो ने इस फिल्म का बहिष्कार इस तरह से किया की आमिर खान के आंसू भी इस फिल्म को फ्लाॅप होने से नहीं रोक पाए।

अब इस पर मुझे राहत इन्दोरी साहब की वो शायरी की एक लाइन याद आ रही है जो इस हालत पर फिट बैठती है की “लगेगी आग तो आएँगे घर कई जद में, यहाँ पे सिर्फ़ हमारा मकान थोड़े ही हैं,”… लगता है बायकाट की इस आग की जड़ में अभी कई और फिल्मो का आना बाकी है…..ये हम इसलिए कह रहे हैं क्यूंकि अब बायकाट की इस ट्रैन में शाहरूख खान की पठान भी सवार हो गई है…

सोशल मीडिया ट्रोलर्स ने शाहरुख खान की ‘पठान’ पर निशाना साधा है और नतीजतन ट्विटर पर #boycottpathanmovie ट्रेंड कर रहा है। ट्वीटर पर लिखा जा रहा है की संघर्ष निरंतर जारी है अब पठान की बारी है “…

आपको बता दें कि  शाहरुख खान की फिल्म पठान अगले साल जनवरी के महीने में रिलीज होने वाली है और इस फिल्म का बायकॉट अभी से शुरू हो गया है।

Boycott Bollywood: सोशल मीडिया पर शाहरुख का एक बयान वायरल हो रहा है जिसके बेस पर शाहरुख की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। शाहरुख एक इंटरव्यू में असहिष्णुता पर पूछे गए सवाल को लेकर जवाब दे रहे थे। शाहरुख वीडियो में कहते दिख रहे हैं कि कुछ हद तक कहा जा सकता है लेकिन हां भारत अब असहिष्णुता की तरफ बढ़ रहा है।

लोग दीपिका पादुकोण को भी इसके पीछे की एक प्रमुख वजह बता रहे हैं, सोशल मीडिया पर लोग दीपीका की फोटो शेयर करते हुए फिल्म का विरोध कर रहे हैं। आपको बता दें कि लोग दीपिका पादुकोण की फोटो शेयर कर रहे हैं और यह उस दौरान की फोटो है जब वह जेएनयू गईं थीं और उन्होंने दुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन किया था विरोध के दौरान उन्होंने काले कपड़े पहने थे।

विरोध के दौरान के दीपीका ने पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष से मुलाकात की थी, लोगों का ऐसा मानना है कि अगर यह फिल्म फ्लॉप हुई तो उसकी वजह दीपिका पादुकोण बन सकती हैं। फिल्मी आलोचकों का मानना है कि बायकाॅट ‘लाल सिंह चड्डा’ के बाद अब शाहरूख खान की  ‘पठान’ का भी बायकाॅट किया जाएगा। हम आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर बायकाॅट ‘पठान’ भी ट्रैंड करने लगा है।

Boycott Bollywood: बॉलीवुड की फिल्मो के बायकाॅट को लेकर भी अलग -अलग रिएक्शंस देखने को मिल रहे है।  इसी कड़ी में फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप और एक्ट्रेस तापसी पन्नू ने भी विवादित टिप्पणी कर दी है, लगातार हिन्दुओं का मजाक उड़ाने वाली तापसी पन्नू की भी अकड़ गई नहीं है। वह चाहती हैं कि उनका और उनकी फिल्म ‘दोबारा’ का  भी कोई सोशल मीडिया पर बायकॉट ट्रेंड करवा दों।

फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप और एक्ट्रेस तापसी पन्नू ने हाल ही में एक इंटरव्यू मे कुछ ऐसा बोल दिया है जिससे बॉलीवुड गलियारों में फिर से हलचल हो रही है। फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप और अभिनेत्री तापसी पन्नू ने हाल ही में एक इंटरव्यू में खुद अपनी फिल्म के बॉयकॉट करवाने की इच्छा जताई है।

हाल ही में सिद्धार्थ कन्नन को दिए इंटरव्यू में जब तापसी पन्नू से पूछा गया, “सोशल मीडिया पर आमिर खान की ‘लाल सिंह चड्ढा’ और अक्षय कुमार की ‘रक्षाबंन’ का बायकॉट हो रहा है। दोनों की फिल्मों के बायकॉट से जुडे हैशटैग इंटरनेट पर ट्रेंड कर रहे हैं। क्या इससे आपको अपनी फिल्म को लेकर चिंता होती है? क्या उन्हें डर नहीं लगता?”

इसपर अनुराग कश्यप ने अजीब जवाब दिया उन्होंने कहा, ‘मैं चाहता हूँ कि ट्विटर पर बायकॉट कश्यप (#BoycottKashyap) ट्रेंड हो।” वहीं तापसी ने भी इस पर प्रतिक्रिया देते हुए लोगों से अपील की है कि, “प्लीज सब लोग हमारी फिल्म दोबारा को बायकॉट कीजिए।”

तापसी पन्नू ने कहा, “हमारी फिल्म ‘दोबारा’  का बायकॉट होना चाहिए। और सभी से वो अपील करती हैं कि उनकी फिल्म का बहिष्कार करें। जब आमिर खान और अक्षय कुमार का बायकॉट हो सकता है, तो मैं भी उस लीग में शामिल होना चाहूँगी।”

गौरतलब है कि कुछ समय पहले ही तापसी पन्नू की फिल्म ‘दोबारा’ का ट्रेलर रिलीज हुआ है, जो मिस्ट्री, सस्पेंस, टाइम ट्रैवलिंग और थ्रिलिंग से भरपूर है जिसे देखने के बाद जहाँ फिल्म से काफी उम्मीदें लगाई जा रही हैं वहीं अनुराग कश्यप की हरकतों के कारण एक बड़ा वर्ग फिल्म के बहिष्कार का भी मूड बना चुका है। लेकिन अब ऐसा लगता है कि कहीं उनकी अपील उन पर भारी न पड़ जाए।

Boycott Bollywood: इतना ही नहीं अनुराग कश्यप ने फ्लॉप फिल्मो को लेकर कहा कि लोगों को ये कैसे पता चलता है कि साउथ की सभी फ़िल्में चल रही हैं उनको पता ही नहीं होगा कि पिछले हफ्ते वहाँ कौन सी फ़िल्म रिलीज हुई है क्योंकि वहाँ भी यही हाल है अनुराग ने आगे कहा कि दरअसल लोगों के पास फ़िल्म देखने के पैसे ही नहीं है यहाँ पनीर पर भी जीएसटी लगा हुआ है जब लोग खाने पीने की चीजों पर जीएसटी देने लगे तो उससे ध्यान हटाने के लिए ये बायकॉट का गेम शुरू कर दिया गया।

बायकाट के हल्ले के बीच अब एक्टर अर्जुन कपूर का दर्द छलका है, जी हाँ आपको बता दे की अर्जुन कपूर ने बायकॉट को लेकर अपने मन की बात कहीं है, अर्जुन कपूर ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा की , ‘मुझे लगता है कि हमने इसके बारे में चुप रहकर गलती की और यह हमारी शालीनता थी लेकिन लोग इसका फायदा उठाने लगे हैं. मुझे लगता है कि हमने यह सोचकर गलती की है कि हमारा काम खुद बोलेगा।’

अर्जुन कपूर ने आगे कहा- ‘आप जानते हैं कि आपको हमेशा अपना हाथ गंदा करने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन मुझे लगता है कि हमने इसे बहुत सहन किया और अब लोगों ने इसे एक आदत बना लिया है. हमें एक साथ आने और इसके बारे में कुछ करने की जरूरत है क्योंकि लोग हमारे बारे में क्या लिखते हैं या हैशटैग जो ट्रेंड करते हैं वो असलियत से बहुत दूर हैं।’

उन्होंने कहा- ‘जब हम ऐसी फिल्में करते हैं जो बॉक्स ऑफिस पर अच्छा करती हैं, तो उस समय लोग हमें हमारे सरनेम की वजह से नहीं बल्कि फिल्म की वजह से पसंद करते हैं. लोग लगातार कीचड़ उछालते जाएंगे तो नई गाड़ी भी थोड़ी सी शाइन खो देगी ना? हमने तो काफी कीचड़ झेल लिया है, पिछले कुछ सालों में क्योंकि हमने इसे लेकर अपनी आखें बंद कर ली हैं।’

अर्जुन के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने उसकी ट्रोलिंग करने लगी। लोगों ने उसको जी भरके खरी खोटी सुनाई। एक के बाद एक ट्रोलर्स सोशल मीडिया पर अर्जुन कपूर को खूब पेलते हुए नज़र आ रहे हैं, एक यूजर ने तो यहाँ तक लिख दिया की , ‘अर्जुन कपूर है कौन? नेपोटिज्म का एक और प्रोडेक्ट। एक और एक्टर, जो एक्टिंग नहीं कर पाता। एक और ‘एक्टर’ जो अपने ‘असली’ दर्शकों के खिलाफ जंग छेड़ने की कोशिश कर रहा है। तो एक यूजर ने उन्हें फ्लॉप एक्टर की उपाधि तक दे डाली।

पिछले कुछ समय से हमने देखा है की तथाकथित बॉलीवुड ने दर्शकों को मूर्ख समझ लिया है। उन्हें लगता है, ये तो भारत की भोली जनता है इसे चटकारा मारकर जो भी दोगे चाट लेगी। लेकिन ये हिंदी भाषा फिल्म बनाने वाले ये नहीं समझते हैं कि चाहे राजनीति हो या फिल्म, सबकी राजा जनता ही होती है। वही तय करती है कौन हिट होगा और कौन फ्लॉप।

इसलिए अब ये जनता एक-एक कर बॉलीवुड में बैठे उन घमण्डी लोगो का घमंड चकनाचूर कर रही है जिन्हे लगता है की उन्हें कुछ भी परोस देंगे और जनता हज़म कर जाएगी, लेकिन वो ये क्यों भूल जाते है की ये पब्लिक है बॉस ये सब जानती है, बॉलीवुड लगातार ऐसी फिल्में बनाता है जिनसे दर्शक थक गए हैं।

कहीं वो भारतीय संस्कृति का मजाक उड़ाता है तो कहीं वह भारतीय संस्कृति को खराब करता है , ऐसी तमाम फिल्म हैं जिसमें हिन्दू लोगों और संस्कृति को गलत ढंग से दिखाया जाता है।

ऐसा नहीं है की इन कलाकारों का धर्म विशेष के कारण विरोध हो रहा है बल्कि कारण यह है की दर्शकों को लगता है बॉलीवुड के ज्यादातर कलाकार भारत विरोधी सोच रखते हैं। अगर ऐसा न होता तो क्यों खुद आमिर खान को बताने आने पड़ता की वो भी देश को प्यार करते हैं। खैर अब तो ये आने वाला वक्त ही बताएगा की बाॅलिवुड का क्या हाल होने वाला है।

ये भी पढ़े…

Boycott ‘Dobara’: अनुराग और तापसी की लोगों से अपील, प्लीज हमारी फिल्म ‘दोबारा’ का बायकाॅट कर दो
Boycott ‘Pathan’: साध्वी प्राची का ऐलान, फिल्म चलानी है तो पाकिस्तान जाये शाहरूख खान, ‘पठान’ नहीं देखेगा हिंदुस्तान
Jammu & Kashmir: मोदी सरकार पर बरसी महबूबा,कहा- “हमसे हमारा संविधान और झंडा छीना”

 

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.