COVID: कोरोना ने छीना आंचल, तो सरकार ने दिया बल, अनाथ बच्चों का खर्चा उठायेगी सरकार

Narendra modi

COVID: वो दौर जब भारत ही नहीं पूरी दुनिया सिहर गई थी, मानो लोगों की जिंदगी थम सी गई हो, उसी दौर में न जाने कितने लोगों ने अपनों को खोया, कितने अनाथ हो गये और कितने बेघर। अपने भी पराये हो गये। ऐसी महामारी जिसने एक-दूसरे को बेहद चाहने वाले भी दूर हो गये थे।

कोरोना ने ऐसे लोगों को भी निगल लिया जो अपने परिवार का इकलौता सहारा थे, परिवार का भरण-पोषण करने के लिए कमाने वाले अकेले थे। वही अपने पीछे छोटे-छोटे बच्चों के बूढ़े माँ-बाप को बेसहारा छोड़ गये। जिनकी सुध लेने वाला कोई नहीं बचा था, कौन सी स्थिति में अपने जीवन के दिनों को काट रहे थे, किसी को कोई ध्यान नहीं था।

सबका साथ सबका विकास का नारा देने वाली भाजपा ने अपना संकल्प पूरा करती नजर आई तब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बोला कि कोरोना काल में हुए अनाथ बच्चों का साथ देने के लिए हम खड़े हैं। वर्चुअल से बच्चों का हाल चाल जानते हुए 10-10 लाख की आर्थिक मदद दे दी और 4 हजार रुपये प्रति महिने बच्चे के सीधे खाते में पहुचाने का भी ऐलान कर दिया इतना ही नहीं अनाथ बच्चों का इलाज कराने के लिए 5 लाख का बीमा भी दे दिया।

COVID: ये उनके मुँह पर तमाचा है, जिन्होने देश पर लम्बे समय तक शासन करते रहे और कुछ खास न कर खास न कर पाये। लेकिन भाजपा का संकल्प सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास का मजाक उड़ाते हुए अट्ठास करते हैं, जो अपने शासन काल में एक झोंपड़ी वाले परिवार को झूठा गले लगाकर और साथ खड़े रहने के झूठे वादे कर सत्ता हासिल करते रहे लेकिन उस परिवार को एक पक्का घर न दे पाये वो परिवार उम्मीदों में अपना जीवन काटता रहा और जब मोदी अनाथ बच्चों का सहारा बने तो दो शब्द अच्छे बोलने की वजाय उनके मुँह में दही जम गई।

ये भी पढ़ें..

PM Modi Gujrat Visit: पीएम मोदी राजकोट में बोले- ‘8 सालों में ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे सिर झुकाना पड़े’

कनाडा गैंगस्टर ने कहा- सिंगर मूसेवाला की हत्या का जिम्मेदार मैं, कल हो गयी थी हत्या, कांग्रेस, बीजेपी केजेरीवाल और मान के खिलाफ जगह-जगह कर रहे है प्रदर्शन

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️