Gourav Bhatia on Gyanvapi: भाजपा नेता गौैरव भाटिया ने कहा कि 'औरंगजेब एक...'

Gourav Bhatia on Gyanvapi: भाजपा नेता गौैरव भाटिया ने कहा कि ‘औरंगजेब एक भिखमंगा था’, वही वारिस पठान ने किया पलटवार

Gourab Bhatia

Gourav Bhatia on Gyanvapi: ज्ञानवापी मस्जिद मामले को लेकर जहां भी देखों चर्चा देखने और सुनने को मिल रही है। क्या खासक्या आम सब लोग ज्ञानवापी को लेकर ही चर्चा कर रहे है। नेता से लेकर अभिनेता तक, चाय की दुकान से लेकर नाई की दुकान तक लोग ज्ञानवापी को लेकर ही चर्चा कर रहे है। हिंदूपक्ष  ज्ञानवापी को शिवालय बता रहा है तो वहीं मुस्लिम पक्ष ज्ञानवापी में निकले शिवलिंग को फब्बारा बताने में लगा हुआ है। वाराणसी कोर्ट में ज्ञानवापी मामले में सुनवाई भी चल रही है। आप को बता दें कि भाजपा नेता गौरव भाटिया ने एक टीवी में चर्चा के दौरान कहा कि औरंगजेब एक भिखमंगा था, अत्याचारी था, उसे भारत का कोई नगरिक आदर्श नहीं मानता है, लेकिन असदुद्दीन ओवैसी के भाई अकबरूद्दीन ओवैसी औरंगजेब की मजार पर जाते है।ओवैसी बंधुओं के लिए औरंगजेब रोल माॅडल थे।

Gourav Bhatia on Gyanvapi: वहीं गौरव भाटिया के बयान पर वारिस पठान ने पलटवार करते हुए कहा कि आप कानून बना दीजिए हम उसकी मजार पर नहीं जाएंगे, लेकिन आप के नेता आडवाणी जी देश के टुकड़े करने वाले जिन्ना की मजार पर गए थे। उन्होंने कहा कि जिन्ना आपके लिए हीरो था तभी उसकी कब्र पर जाने वाले लाल कृष्ण आडवाणी को आपने पद्मविभूषण से नवाज दिया।

वारिस पठान ने आगे कहा कि आप और आपकी पार्टी भाजपा, राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के हत्यारे नाथू राम गोडसे को रोल माॅडल मानती है। आप उस पर क्या कहेंगे? आप को अच्छे से पता है कि ज्ञानवापी में शिवलिंग नहीं है फब्बारा है लेकिन, आप को तो मनना ही नहीं है। आप और आपकी पार्टी प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट, 1991 को भी नहीं मानते है।आपको तो भारत के संविधान और कानून पर रत्ती भर भी भरोसा नहीं है।साल 1991 में तत्कालीन काँग्रेस सरकार प्लेसेज ऑफ वर्शिप एक्ट, 1991 लायी थी और ये आया भी इसलिए था कि आप हमारे से हमारी मस्जिदों को न चुरा पाएं। वारिस पठान ने कहा कि जिस जगह पर ज्ञानवापी मस्जिद खड़ी है वह वक्फ की जमीन है और किसी भी मंदिर को तोड़कर मस्जिद नहीं बनाई गई, BJP और VHP लोगों में भ्रम फैला रहे है।

चर्चा के दौरान गौरव भाटिया की बात का जवाब देते हुए पीस पार्टी के नेता शादाब चौहान ने कहा कि आप ये भी कहते है कि मक्का मस्जिद में शिवलिंग है तो मोदी सरकार जाकर सऊदी अरब से बात क्यों नहीं कर लेते।  इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जो दुनिया में पैदा होता है वो मुसलमान पैदा होता है। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि कोई अपनी आस्था को एकदूसरे पर थोपना नहीं चाहिए।

शादाब चौहान का कहना कि दुनिया में जितने लोग पैदा होते है। तो, वो सारे मुसलमान ही पैदा होतेहै।अगर शादाब की बात को सच माना भी जाए तो फिर मुसलमानी क्यों करवाई जाती है। ये सवाल शादाब से पूछा जाना चाहिए?

ED Notice: ED ने ‘नेशनल हेराल्ड’ केस मामले में सोनिया और राहुल गाँधी को भेजा समन, वहीं काँग्रेस ने आरोपों को मनगढ़ंत और काल्पनिक बताया
Satendra Jain: सतेंद्र जैन की गिरफ्तारी पर केजरीवाल की क्लीन चिट, स्मृति इरानी बोली- गद्दारों को पनाह दे रही है ‘आप’
By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.