Hardik Patel Resign: हार्दिक पटेल ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा, भाजपा का थाम सकते हैं दामन

hardik patel

 

Hardik Patel Resign: गुजरात में विधानसभा चुनाव जल्द होने वाले हैं, नेताओं में भगदड़ शुरू हो गई है, इसी बीच कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। गुजरात से कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है, साथ ही कांग्रेस पर जमकर निशाना साधते हुए शीर्ष नेतृत्व को गंभीर न होने का आरोप लगाया है।

आपको बता दें कि हार्दिक पटेल ने यह जानकारी ट्विटर पर साझा करते हुए लिखा कि “आज मैं हिम्मत करके कांग्रेस पार्टी के पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देता हूँ। मुझे विश्वास है कि मेरे इस निर्णय का स्वागत मेरा हर साथी और गुजरात की जनता करेगी। मैं मानता हूं कि मेरे इस कदम के बाद मैं भविष्य में गुजरात के लिए सच में सकारात्मक रूप से कार्य कर पाऊँगा।”

कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व को क्या बोला?

Hardik Patel Resign: हार्दिक पटेल ने आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में गंभीरता की कमी है। मैं जब भी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से मिला तो लगा उनका ध्यान गुजरात के लोगों से ज्यादा अपने मोबाइल और बाकी चीजों पर रहा। जब देश में संकट था तो हमारे नेता विदेश में थे। उन्होंने कहा, हमारे कार्यकर्ता अपने खर्च पर 500 से 600 किमी की यात्रा कर जनता के बीच जाते हैं और देखते गुजरात के बड़े नेताओं का ध्यान सिर्फ इस पर रहता है कि दिल्ली से आए नेता को चिकन सैंडविच समय पर मिला या नहीं।

भाजपा की प्रशंसा में पढ़ीं कसीदें

अपने इस्तीफे में हार्दिक पटेल ने लिखा कि अयोध्या में राम मंदिर हो, सीएए-एनआरसी का मुद्दा हो, कश्मीर में अनुच्छेद 370 हो या जीएसटी लागू करने का निर्णय हो….देश लंबे समय से इन समस्याओं का समाधान चाहता था और कांग्रेस पार्टी सिर्फ इसमें एक बाधा बनने का काम करती रही। उन्होंने आगे लिखा, देश के युवा एक सक्षम और मजबूत नेतृत्व चाहते हैं, लेकिन कांग्रेस पार्टी सिर्फ विरोध की राजनीति तक सीमित रह गई है। जबकि, देश के लोगों को विरोध नहीं, ऐसा विकल्प चाहिए जो भविष्य के बारे में सोचता हो।

ये भी पढ़ें..

shameful statement towards mahadev: DU के प्रोफेसर की ओछी टिप्पणी, ‘यदि ये शिवलिंग है तो शायद इनका खतना कर दिया था’

Agra: झगड़े के दौरान परामर्श केन्द्र पहुंचे दंपत्ति, पति बोला- “तीन दिन पत्नी, तीन दिन प्रेमिका और एक दिन आजाद रहूँगा”

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️