Mohammad Zubair Arrest: धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में पत्रकार मोहम्मद...

Mohammad Zubair Arrest: धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में पत्रकार मोहम्मद जुबैर गिरफ्तार, एक दिन की रिमांड पर भेजा

mohammad zubair

Mohammad Zubair Arrest: समय-समय पर सोशल मीडिया को माध्यम से देश में अशांति फैलाने और धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाले ऑल्ट न्यूज के सह संथापक मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं जमानत अर्जी खारिज होने के बाद जुबैर को एक दिन की रिमांड पर भेज दिया गया है। जुबैर को धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। वहीं जुबैर की गिरफ्तारी पर कुछ बड़ें पत्रकारों और राजनेताओं ने सवाल खड़े किए हैं।

सोमवार की शाम दिल्ली पुलिस ने जुबैर को आईपीसी की धारा 153ए और 295ए के तहत गिरफ्तार किया।

जानकारी के मुताबिक पत्रकार मोहम्मद जु़बैर भाजपा की पूर्व नेता नुपुर शर्मा और साधुओं को ‘नफरत फैलाने वाले’ कहा था। पुलिस ने बताया कि जुबैर के खिलाफ 27 तारीख को ट्विटर के जरिए एक शिकायत मिली थी, जिसमें जुबैर के एक ट्वीट का जिक्र किया गया था। इस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर सोमवार को जुबैर को पूछताछ के लिए बुलाया था, जिसके बाद दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की IFSO यूनिट ने जुबेर को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस उपायुक्त के पी एस मल्होत्रा ने बताया आरोपी पत्रकार ज़ुबैर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 153-ए और 295-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है। साथ ही  स्पेशल सेल ट्विटर को जुबैर के छह महीने से एक साल के ट्वीट सुरक्षित रखने के लिए भी लिखेगा। ताकि साक्ष्यों के साथ स्पष्ट हो सके कि किस तरह वह देश में अशांति फैलाने का काम कर रहा था।

बड़े नेताओं और पत्रकारों ने उठाए जुबैर की गिरफ्तारी पर सवाल

पत्रकार मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी पर सवाल खड़े करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया और लिखा, “भाजपा की घृणा, कट्टरता और झूठ को बेनकाब करने वाला हर एक व्यक्ति उनके लिए खतरा है। सच्चाई की एक आवाज को गिरफ्तार करने से हजार आवाजें और पैदा होंगी। सच्चाई की हमेशा जीत होती है…”

वहीं ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लमीन(AIMIM) के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने भी जुबैर की गिरफ्तारी की निंदा करते हुए दिल्ली पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं…

आपको बता दें कि एक टीवी डिबेट में मोहम्मद पैगमंबर पर अमर्यादित टिप्पणी करने वाली भाजपा नेता नुपूर शर्मा और उसका समर्थन करने वाले भाजपा नेता नवीन जिंदल को भाजपा ने पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया, लेकिन इसके बाद भी देश के अलग-अलग हिस्सों में हुई हिंसक घटनाओं के पीछे पत्रकार जुबैद की भूमिका संदिग्ध मानी गई। आरोप है कि जुबैर ने सोसल मीडिया के माध्यम से लोगों को भड़काने का काम किया था। इसके बाद सोशल मीडिया पर कई दिन जुबैर को गिरफ्तार करने की मांग की जाती रही।

ये भी पढ़ें…

Rajasthan: शादी के बाद वर्जिनिटी टेस्ट में फेल हुई महिला, सफेद चादर दिखाकर माँ-बाप से कह दिया बेटी पवित्र नहीं

Meruth News: अज्ञात ने मेरठ में फोन करके दी धमकी, “SSP प्रभाकर का ट्रांसफर हुआ तो कर लूंगा आत्महत्या”

By Keshav Malan

यह कलम दिल, दिमाग से नहीं सिर्फ भाव से लिखती है, इस 'भाव' का न कोई 'तोल' है न कोई 'मोल'

Leave a Reply

Your email address will not be published.