Kanpur Hinsa: दंगे का मास्टर माइंड हयात जफर गिरफ्तार, IPS अजय पाल शर्मा के...

Kanpur Hinsa: दंगे का मास्टर माइंड हयात जफर गिरफ्तार, IPS अजय पाल शर्मा के पास होगी अब जांच की कमान

KANPUR HINSA

Kanpur Hinsa: कानपुर के बेकनगंज में हुई हिंसा के मास्टरमाइंड हयात जफर को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि अभी इस मामले में कोई पुलिस अधिकारी बोलने को तैयार नहीं है। इससे पहले 35 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इसकी जांच के लिए लखनऊ से एनकाउंटर स्पेशलिस्ट IPS अजय पाल शर्मा को भेजा गया है। 

गत शुक्रवार को कानपुर की नई सड़क पर चंद्रेश्वर होते के बाहर बवाल हो रहा था। तब मौके पर मात्र सात पुलिसकर्मी ही मौजूद थे। इन सात जावाज पुलिसकर्मियों  की ही सुझबुझ थी कि दंगा विकराल रूप न ले सका। नहीं तो दंगाई सारे शहर को नफरत कीआग में झुलसा सके थे। 45 मिनट तक केवल सात पुलिसकर्मियों ने इन उपद्रवियों से लोहा लिया। दंगाईयों को जीप से दौड़ाते हुए एक जगह पर इकट्ठा नहीं होने दिया । इनको नई सड़क की तरफ से परेड की ओर जाने से रोका रखा। अगर ये भीड़ परेड चौक तक पहुँच जाती तो दंगा ज्यादा विकराल रूप ले सकता था।  दंगा और विकरालल रीपप न ले साका इसका पूरा श्रेय सीओओ, पाँच सिपाही और एक गनर को जाता है। 

इन्होंने पूरे 45 मिनट तक जमकर दंगाईयों से लोहा लिया। ये उपद्रवियों से लोहा लेते रहे जब तक कि अतिरिक्त पुलिस बल नही आ गया।  घटना के समय पर एसीपी अनवरगंज मोहम्मदअकमल खाँ मौजूद थे। उग्र भीड़ को देखते हुए बेकनगंज की पुलिस जीप के पीछे चार पुलिस कर्मियों के पीछे दौड़ पड़े। उपद्रवियों नेे पुलिस टीम पर पथराव किया और पेट्रोल बम से भी हमला किया। 

45 मिनट के बाद मौके पर बैक-अप फोर्स के साथ पहुँचे एडीसीपी राहुल ने भी उपद्रवियों के खिलाफ मौर्चा संभाल लिया। एडीसीपी के आदेश पर पुलिस कर्मियों ने जमकर दंगाईयो पर लाठियाँ भाँजी। तब भी दंगाई पुलिस पर पत्थर फेंक रहे थे । 

Kanpur Hinsa: दंगाईयों की भारी तादाद देखते हुए डीसापी पूर्वी प्रमोद कुमार मौके पर पहुँचे और मोर्चा संभाला। उन्होंने पुलिस की अगुआई करते हुए जवाबी कर्यवाही करते हुए दंगाईयो के ऊपर जमकर लाठियाँ भांजते हुए खदेड़ना शुरु किया। उसके बाद ज्वाइंट कमिश्नर भी मौके पर पहुँच गए। उन्होंने पुलिस फोर्स को लीड करते हुए दंगाइयों को खदेड़ा तब जाकर दंगाइयों को काबू करने में सफलता मिली। पुलिस ने दंगाइयों को काबू करने में सुझबुझ का परिचय दिया नहीं तो दंगाई पूरे शहर को नफरत की आग में झोक देते।

आप को बता दें कि ये दंगा बड़ी सोची-समझी साजिश का नतीजा है। दंगाइयों ने इससे पहले विशेष संप्रदाय के लोगों के बीच पर्चे बटवाएं। और साथ ही दीवारों पर भड़काऊ पोस्टर चस्पा कर लोगों को 3 तारीख को दंगा करने के लिए उकसाया।

भाजपा प्रवक्ता के बयान आने के बाद हयात जफर हाशमी ने तीन जून को बाजार बंद करने का एलान किया था। वीडियो मैसेज भी जारी किया था।  उसने अपने भड़काऊ वीडियों में भाजपा नेता नुपूर शर्मा के विवादित बयान का जिक्र करते हुए बवाल करने के लिए लोगों को भड़काया था। 

आप को बता दें कि एक डिबेट के दौरान भाजपा नेता नुपूर शर्मा ने पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था। मुस्लिम समाज ने इस बयान की घार निंदा कीथी और उनकी गिरफ्तारी की भी माँग की थी, लेकिन दंगा करना किसी भी प्रकार से जायज नहीं ठहराया जा सकता है।

Kanpur Hinsa: गौरतलब है कि इस हिंसा मामले में अब तक तीन FIR दर्ज की गई है। 40 लोगों को नामजद करते हए उन पर FIR दर्ज की गई है। जबकि, 1000 अज्ञात लोगों को भी आरोपी बनाया गया है और इन सभी 1040 आरोपियों पर गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है। दंगा होने के बाद से ही महौल काफी खराब हो गया था जिसके बाद प्रशासन ने कानून व्यवसथा ने आनन-फानन में दंगाग्रस्त क्षेत्र में अघोषित कर्फ्यू लगाते हुए 35 उपद्रवियों को धर दबोचा।  देर रात तक भारी संख्या में दंगाग्रस्त क्षेत्र में पुलिस बल तैनात था। पुलिस,पीएसी, समेत आररएएफ लगातार गस्त कर रहें थे कि कहीं कोई अप्रिय घटना न हो जाए।

Kanpur Clash: 35 गिरफ्तार, अब तक 1000 से ज्यादा पर केस दर्ज, दंगाईयों की संपत्ति पर चलेगा बुलडोजर
Kanpur violence: जुमे की नमाज के बाद दो समुदायों में भीषण पत्थरबाजी, योगी का सख्त आदेश उपद्रवियों पर चलेगा बुल्डोजर
By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.