Kanpur Violence: हिंसा में पीएफआई का हाथ, अल कायदा की धमकी-दिल्ली,मुंबई समेत..

Kanpur Violence: हिंसा में पीएफआई का हाथ, अल कायदा की धमकी-दिल्ली,मुंबई समेत गुजरात में करेंगे आत्मघाती हमले

Kanpur Violence

Kanpur Violence: कानपुर हिंसा में जांच के दायरे में पीएफआई भी आ गई है। हिंसा के सूत्रधार हयात जफर हासमी को कानपुर पुलिस नें गिरफ्तार कर लिया। उसके साथ अब तक करीब 50 लोगों को भी गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी मामले में आतंकी संगठन  अलकायदा इन द सबकांटिनेंट (AQIS) की एंट्री हो गई है। अलायदा ने धमकी भरी चिट्ठी जारी करते हुए कहा कि भारत की राजधानी दिल्ली,मंबई समेत गुजरात में आत्मघाती हमले की धमकी दी है। धमकी भरी चिट्ठी 6 जून को साशल मीडिया पर वायरल की गई है।

Kanpur Violence: अलकायदा ने कहा कि, वे हमारे पैगंबर मोहम्मद की गरीमा को ठेस पहुँचा रहे है। पैगंबर मोहम्मद की गरीमा के लिए लड़ने के लिए तैयार रहे। अलकायदा के सदस्य अपने आपको दिल्ली,मंबई,यूपी समेत गुजरात में आत्मघाती हमले के लिए तैयार रहे। भगवा आतंकियों को अब अपने अंत के लिए तैयार रहना चाहिए। 

अलकायदा ने आगे कहा कि ‘हम उन लोंगो को मार देंगे जो हमारे पैगंबर का अपमान करते है और हम अपने शरीर और हमारे बच्चों के शरीर के साथ विस्फोटक बांधेंगे ताकि उन लागों को उड़ाया जा सके। इन्हें कोई माफी या क्षमादान नहीं मिलेगा ‘

हाल ही में पुलिस ने 40 संदिग्धों के पोस्टर कानपुर शहर में लगाए थे जिनमें से दो लोग को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और कुछ संदिग्धों की शिनाख्त भी हो चुकी है। पुलिस लगातार हिंसा के मास्टरमाइंड हयात जाफर हासमी और संदिग्धों से पूछताछ कर रहीं है। पुलिस ने जांच के दौरान संदिग्धों के मोबाइल नंबरों को और उनकी व्हाट्सएप चैट को खंगाल रही है। जांच के दौरान चौकाने वाले तथ्य सामने आ रहे है। पीएफआई ने ही कानपुर दंगे की साजिश रची थी ऐसा जांच ऐजेंसिया मान कर चल रही है। तीन संदिग्धों को पुलिस ने पकड़ा है उनका संबंध पीएफआई से जुड़ता नजर आ रहै है। तोनों संदिग्धो को पहले भी CAA हिंसा के दौरान गिरफ्तार किया गया था और पहले भी जेल की हवा खा चुके है।

आपको बता दें कि तीनों पीएफआई के सदस्यों की वाट्सएप चैट से सामने आया है।उन्होंने विशेष संप्रदाय के लोगों को पैग्बर मोहम्म्द के खिलाफ भाजपा की नेता नुपुर शर्मा के दिए गए बयान को लेकर हिंसा करने के लिए उकसाया था।

कानपुर पुलिस कमिश्नर विजय सिंह मीना ने कहा कि यह तीनों पीएफआई के सदस्य कानपुर हिंसा के मास्टरमाइंड हयात जफर हासमी के संपर्क में थे। इन तीनों ने ही हयात जाफर हासमी के साथ मिलकर कानपुर हिंसा को रचने की साजिश रची थी। इन तीनों लोगों ने बाजार बंदी व बवाल को लेकर आपस में लगातार बातचीत की इसको लेकर साक्ष्य जुटाए गए और तीनों को गिरफ्तार किया गया।

आप को बता दें कि भारतीय जनता पार्टी से निलंबित नेता नुपुर शर्मा द्वारा पैगंबर मोहम्मद के बारे में विवादित टिप्पणी के बाद देश और देश के बाहर कई देशों के अंदर सियासत गर्मा गई है। कतर,साऊदी अरब से लेकर पाकिस्तान तक पैगंबर मोहम्मद पर दी गई विवादित टिप्पणी पर जमकर राजनीति हो रही है। इस्लामिक देशों ने पैगंबर मोहम्मद पर दिए गए बयान पर घोर निंदा करते हुए भारत से माँफी माँगने के लिए कहा और इस घोर निंदा का असर मोदी सरकार पर भी दिखा और मोदी सरकार ने आननफानन मे भाजपा प्रवक्ता नुपूर शर्मा को निलंबित कर दिया और भाजपा दिल्ली मीडिया प्रभारी नवीन कुमार जिंदल को पार्टी से बर्खास्त कर दिया था।

Nupur Sharma Case Live: डासना मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद गिरी ने कहा कि “Nupur Sharma ने कुछ गलत नहीं कहा, यह बात मैं मस्जिद में सबको बताऊंगा”
Nupur Sharma Case: भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी पर अड़ी काँग्रेस, देश को नफरत की आग में झोकना चाहती है भाजपा
By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.