Kerala: Often Islam अक्सर अली ने छोड़ा इस्लाम,

अक्सर अली ने छोड़ा इस्लाम, नाराज कट्टरपंथियों की भीड़ ने बोला हमला हत्या का प्रयास

Kerala: Often Islam

Kerala: Often Islam अक्सर इस्लाम छोड़ने की खबरें तो आती रहती लेकिन इस्लाम छोड़ने के बाद किसी के साथ ऐसा भी हो सकता है आपने सोचा भी नहीं होगा
केरल के कोल्लम में एक व्यक्ति के इस्लाम छोड़ने पर कुछ मुलस्लिम कट्टरपंथियों की भीड़ ने उस पर हमला कर जान से मरने का प्रयास किया
24 वर्षीय व्यक्ति अक्सर अली ने बताया कि कुछ दिनों पहले उन्होंने इस्लाम धर्म को छोड़ दिया और साथ ही उन्होंने अपने परिवार को भी छोड़ दिया कयोंकि परिवार इसके खिलाफ था।
इससे नाराज मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मौका देख उस पर हमला कर दिया है।

Kerala: Often Islam अक्सर ने अली बताया कि मुस्लिमों की एक भीड़ के खिलाफ कोल्लम पुलिस में हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कराया है। अली ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि उनके इस्लाम छोड़ने के बाद भीड़ ने उन पर हमला किया, इसके अलावा इस्लाम छोड़ने की वजह से उन्हें समुदाय के लोगों की तरफ से दी जाने वाली धमकियों का भी सामना करना पड़ रहा है
मलप्पुरम के रहने वाले अस्कर अली ने मलप्पुरम की एक प्रमुख मजहबी एकेडमी से 12 साल का हुदावी धार्मिक कार्यक्रम पूरा किया है। रविवार (1 मई, 2022) को, वह ‘साइंटिफिक टेंपर, मानवतावाद और समाज में जाँच और सुधार की भावना’ को बढ़ावा देने वाले संगठन एसेंस ग्लोबल द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में इस्लामी अध्ययन के छात्र के रूप में अपने अनुभव के अनुसार एक भाषण देने के लिए कोल्लम गए थे।

अली ने आरोप लगाया है की मल्लमपुरम के वामपथियों के एक समूह ने उनका अपहरण करने की कोशिश की ताकि वह सभा को संबोधित ना कर सके अली ने बताया, “वे मुझे कोल्लम समुद्र तट पर ले गए, जहाँ मेरे साथ मारपीट की गई। उन्होंने मेरा मोबाइल फोन तोड़ दिया और मेरे कपड़े फाड़ दिए। वे मुझे जबरन एक वाहन में ले गए और मुझे अंदर बंद करने की कोशिश की। जब स्थानीय लोगों ने शोर मचाया, तो पुलिस ने मुझे बचा लिया।”

इस घटना के बाद अक्सर को पुलिस ने छोड़ दिया पर सभा को उसने पुलिस की निगरानी में संबोधित किया।
यहां उन्होंने इस्लामी छात्र के रूप में अपना अनुभव साझा किया
इसके अलावा अक्सर अली ने यह भी बताया कि पढ़ाई के दौरान उनका यौन उत्पीड़न भी किया गया।
अली के अनुसार इस्लाम छोड़ने का उनका अपना निर्णय था और इसलिए वह परिवार से अलग हो गए क्योंकि यह बात परिवार को रास नहीं आई पुलिस ने इसकी जानकारी दी उन्होंने बताया कि अदालत ने उसकी इच्छा के अनुसार रहने की अनुमति दी है
वहीं पुलिस ने यह भी बताया की अली ने अभी तक उनसे सुरक्षा की मांग नहीं की है।

Maharashtra: अजान के वक्त पढ़ी गई हनुमान चालीसा, मुंबई में दिखा राज ठाकरे के बयान का असर

Russia-Ukraine War live: राष्ट्रपति पुतिन 9 मई “विजय दिवस” पर करेंगे युद्ध की आधिकारिक घोषणा
By Kajal Singh

Leave a Reply

Your email address will not be published.