Site icon ख़बर इंडिया

Mithun Chakraborty: मिथुन चक्रवर्ती को अस्पताल से मिली छुट्टी,बाहर निकलते ही एक्टर ने क्या कहा पढ़िए पूरी रिपोर्ट

Mithun Chakraborty: 73 वर्षीय एक्टर और राजनेता मिथुन चक्रवर्ती के चाहने वाले उस समय परेशान हो गए, जब सीने में तेज दर्द के चलते उन्हें 10 फरवरी को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालांकि, अब मिथुन की सेहत को लेकर अच्छी खबर सामने आ रही है। उन्हें सोमवार, 12 फरवरी को अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई। इससे पहले अस्पताल के एक सीनियर अधिकारी ने कहा था कि “डॉक्टर अभिनेता और भाजपा नेता मिथुन चक्रवर्ती की स्वास्थ्य स्थिति में सुधार के बाद उन्हें सोमवार को अस्पताल से छुट्टी देने पर फैसला करेंगे।”

Mithun Chakraborty: मिथुन की हेल्थ अपडेट देते हुए ऑफिसर ने कहा, वो अब स्टेबल हैं, पूरी तरह कॉन्सियस, हेल्थी और एक्टिव. सीनियर डॉक्टर्स, एक फिजियोथेरेपिस्ट, एक स्पीच थेरेपिस्ट और अन्य स्पेसलिस्ट्स ने आज सुबह उनकी (मिथुन) की हेल्थ कंडीशन का रिव्यू किया था।

PM मोदी ने फोन पर पूछा था हालचाल

Mithun Chakraborty: चक्रवर्ती ने अस्पताल से बाहर निकलते हुए कहा, ‘वास्तव में कोई समस्या नहीं है, मैं बिल्कुल ठीक हूं। मुझे अपने खान-पान पर नियंत्रण रखना होगा। देखते हैं मैं जल्द ही काम करना शुरू कर सकता हूं। चक्रवर्ती ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को उन्हें फोन करके ‘सेहत का ख्याल न रखने के लिए डांटा था।’ भाजपा सांसद दिलीप घोष ने भी सुबह अस्पताल में उनसे मुलाकात की। देश के तीसरे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से सम्मानित चक्रवर्ती ने हिंदी, बंगाली, उड़िया, भोजपुरी और तमिल भाषा में लगभग 350 फिल्मों में अभिनय किया है।

डॉक्टर्स ने जारी किया हेल्थ अपडेट

Mithun Chakraborty: नेशनल अवॉर्ड विनर एक्टर मिथुन को प्राइवेट अस्पताल में सुबह 9 बजकर 40 मिनट पर लाया गया था। उन्हें सीने में दर्द की शिकायत थी। मिथुन का दिमाग का MRI, रेडियोलॉजी और लेबोरेटरी कई टेस्ट हुए। एक्टर को Ischemic Cerebrovascular Accident (Stroke) आया है जो ब्रेन से ताल्लुक रखता है।

राजनीतिक करियर साल 2011 में हुआ शुरू

Mithun Chakraborty: मिथुन मोनार्क ग्रुप के मालिक भी हैं। उनका राजनीतिक करियर साल 2011 में तब शुरू हुआ जब वो टीएमसी के टिकट पर राज्यसभा पहुंचे थे लेकिन साल 2016 के मिथुन ने राज्यसभा के सांसद पद से इस्तीफा दे दिया और इसके पीछे कारण अपनी गिरती सेहत बताई थी, हालांकि मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा था कि उनका नाम शारदा चिटफंड घोटाले में आने से वो दुखी हैं, दरअसल वो शारदा कंपनी में ब्रांड एंबेसडर थे। इसके बाद वो साल 2021 में भाजपा में शामिल हो गए ।

बता दें कि मिथुन चक्रवर्ती को हाल ही में प्रतिष्ठित पद्म भूषण पुरस्कार देने का ऐलान किया गया है। इसपर खुशी जाहिर करते हुए मिथुन ने कहा था- ये पुरस्कार पाकर खुश हूं। मैं सभी को दिल से धन्यवाद देना चाहता हूं। मैंने कभी किसी से अपने लिए कुछ नहीं मांगा। बिना मांगे कुछ पाने की बेहद खुशी महसूस हो रही है। ये बहुत अद्भुत और अलग अहसास है। मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है।

वर्कफ्रंट की बात करें, तो 2023 में मिथुन को सुमन घोष की सुपरहिट बंगाली फिल्म Kabuliwala में देखा गया था। वहीं 2022 में उन्होंने विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ में अहम भूमिका निभाई थी। फिल्म में रिटायर्ड IAS का रोल अदा करने के लिए उन्होंने बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के लिए ‘फिल्मफेयर अवॉर्ड’ से भी नवाजा गया था।

Written By: Poline Barnard 

ये भी पढ़ें..

Jayant Chaudhary: NDA में शामिल हुए जयंत चौधरी, कयासों पर लगा विराम, यूपी में I.N.D.I.A. को बड़ा झटका
Farmer Protest: किसानों के आंदोलन से पहले सील होने लगे बॉर्डर, अनिल विज बोले “किसान देश के अन्नदाता है 140 करोड़ लोगों का पेट भरता

Exit mobile version