Mohali Blast Case Update: डीजीपी भवरा का दावा-पाक एजेंसी ISI के समर्थन से BKI..

Mohali Blast Case Update: डीजीपी भवरा का दावा- पाक एजेंसी ISI के समर्थन से BKI ने किया था मोहाली में हमला

Mohali Blast Case Update

Mohali Blast Case Update: मोहाली ब्लास्ट केस में पंजाब पुलिस के डीजीपी वी के भावरा ने खुलासा करते हुए कहा कि मोहाली ब्लास्ट आतंकियों की एक सोची समझी साजिश है। उन्होंने कहा कि इस हमले को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी के समर्थन की सहायता से BKI (बब्बर खालसा इंटरनेशनल) ने अंजाम दिया था।

Mohali Blast Case Update: पंजाब पुलिस के डीजीपी ने बताया कि, मोहाली में पुलिस के इंटेलिजेंस हेडक्वार्टर पर RPG हमले की जांच के दौरान पुलिस ने प्रमुख इंसान लखबीर सिंह लांडा की पहचान की है। यह हरिंदर सिंह रिंडा का करीबी सहयोगी है। लांडा तरनतारन ज़िले का रहने वाला है। यह 2017 में कनाडा चला गया था। इसके पाकिस्तान ISI से करीबी रिश्ते हैं।

उन्होंने कहा कि लांडा के मुख्य सहयोगियों में से एक निशान सिंह है। यह भी तरनतारन का रहने वाला है। इसको कुछ दिन पहले फरीदकोट पुलिस ने गिरफ़्तार किया था। और साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हमने 6 लोगों को गिरफ़्तार किया है जिसमें कंवर बाथ, बलजीत कौर, बलजिंदर, अनंतदीप सोनू, जगदीप कंग और निशान सिंह है।

डीजीपी ने कहा कि हम नोएडा से मोहम्मद नसीम और शरफ राज को पूछताछ के लिए लाए हैं। चरत सिंह व 2 अन्य ने इस घटना को अंजाम दिया था। अभी इनकी गिरफ़्तारी नहीं हुई है।

 पंजाब के मोहाली  में मंगलवार को शाम 7:30 बजे हुए बम ब्लास्ट से स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ था। जब बम ब्लास्ट के बाद जिस तरह से आतंकी हमले की अशंका जताई गई तो, वहीं अब पंजाब के डीजीपी भावरा का ये दावा था, कि यह कोई आतंकी हमला नहीं बाकी मामले की जांच जारी है। हालांकि, उन्होंने माना था कि विस्फोट के लिए टीएनटी का इस्तेमाल हुआ था।

आपको बता दें कि पंजाब के मोहाली में इंटेलिजेंस बिल्डिंग के बाहर बम धमाका होने की वजह से दफ्तर की खिड़कियों के शीशे टूट गये हैं। हालांकि इस धमाके में कोई भी घायल नहीं हुआ था।

 इंटेलिजेंस विभाग की थर्ड फ्लोर जहां पर राकेट टकराया था। राकेट टकराने की वजह से खिड़की का कार्नर 3 से 4 इंच टूट गया और जहां दिवार पर राकेट टकराया था वहां का प्लास्टर उखड़ गया है। जांच टीम ने जब अंदर जाकर देखा तो पाया कि फाल सीलिंग भी उखड़ गई थी। इंटेलिजेंस विभाग की तीसरी मंजिल पर धमाका होने के कारण फारेंसिक टीम को जांच के लिए क्रेन भी मँगानी पड़ी थी। 

National Anthem In Madarsas: योगी सरकार का ऐतिहासिक फैसला, यूपी के मदरसों में गाया जाएगा राष्ट्रगान
Gyan Vapi Maszid Case: सुप्रीम कोर्ट का सर्वे को रोकने से इंकार, कहा- पहले देखेंगे फाइल
By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.