Mohali Blast: मोहाली ब्लास्ट में डीजीपी भावरा का दावा- यह आतंकी हमला नहीं, मामले की जांच जारी, जल्द होंगे दोषी गिरफ्त में

Mohali Blast:

Mohali Blast:  पंजाब के मोहाली  में मंगलवार को शाम 7:30 बजे हुए बम ब्लास्ट से स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है, बम ब्लास्ट के बाद जिस तरह से आतंकी हमले की अशंका जताई गई तो, वहीं अब पंजाब के डीजीपी भावरा का ये दावा है, कि यह कोई आतंकी हमला नहीं बाकी मामले की जांच जारी है दोषी जल्द पुलिस की गिरफ्त में होंगे।  

Mohali Blast: आपको बता दें कि पंजाब के मोहाली में इंटेलिजेंस बिल्डिंग के बाहर बम धमाका होने की वजह से दफ्तर की खिड़कियों के शीशे टूट गये हैं। हालांकि इस धमाके में किसी के घायल होने की खबर नहीं है।

Mohali Blast: इससे दो दिन पहले भी भारी मात्रा में बम बनाने वाली सामाग्री पकड़े जाने से भी सुरक्षा एजेंसियों चौकन्नी हो गई थी, लेकिन इस बात का अंदाजा किसी को भी नहीं था, कि इस बार हमला पुलिस के इंटेलिजेंस विंग के दफ्त पर ही हो जाएगा, इस धमाके ने पंजाब पुलिस की नींद उड़ा दी है।

Mohali Blast:  वहीं जब पत्रकारों ने पंजाब के डीजीपी भावरा से बात की तो डीजीपी भावरा ने इस धमाके को आतंकी हमला मानने से इंकार कर दिया। कहा कि मामले की जांच जारी है। डीजीपी का कहना है कि विस्फोट के लिए टीएनटी का इस्तेमाल हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि आरेपित जल्दी गिरफ्त में होंगे।

वहीं, इंटेलिजेंस विभाग की थर्ड फ्लोर जहां पर राकेट टकराया था। राकेट टकराने की वजह से खिड़की का कार्नर 3 से 4 इंच टूट गया और जहां दिवार पर राकेट टकराया था वहां का प्लास्टर उखड़ गया है। जांच टीम ने जब अंदर जाकर देखा तो पाया कि फाल सीलिंग भी उखड़ गई थी। इंटेलिजेंस विभाग की तीसरी मंजिल पर धमाका होने के कारण फारेंसिक टीम को जांच के लिए क्रेन भी मँगानी पड़ी थी। 

इससे पहले, मुख्यमंत्री ने मंगलवार सुबह ही इस मामले को लेकर डीजीपी वीरेश कुमार भावरा व अन्य उच्च अधिकारियों के साथ मीटिंग की थी। उन्होंने कहा कि जो लोग भी पंजाब की शांति भंग करने की कोशिश करेंगे उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। 

सीएम मान ने ये भी कहा कि कुछ गिरफ़्तारियां हो गई हैं, कुछ और हो जाएंगी। मामले की जड़ तक पहुंचेंगे। उन्होंने दोषियों पर सख्त कार्यवाही की बात कही है। आज शाम तक काफी कुछ स्पष्ट हो जाएगा। पुलिस और इंटेलिजेंस के अधिकारी मामले की जांच में लगे हैं

मोहाली में हुए ब्लास्ट के बाद सुरक्षा एजेंसियां चौकस हो गई हैं। राज्य में हाई अलर्ट जारी किया गया। राजधानी चंडीगढ़ भी हाई अलर्ट पर है। हमले के बाद सेक्टर-77 एरिया सील कर दिया गया है। मोहाली के एंट्री एग्जिट प्वाइंट पर नाकाबंदी की गई है।

आइबी, एनआइए, रॉ और एसपीजी की विशेष टीमें जांच के लिए मोहाली पहुंच गई हैं। हेडक्वार्टर के पास बनी 4 इमारतों में रातभर चला सर्च अभियान चलाहमले में खुफिया विभाग के सीसीटीवी भी डैमेज हुए हैं

इस पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए कहा कि  ब्लास्ट उन लोगों की कायराना हरकत है जो पंजाब की शांति भंग करना चाहते हैं। आम आदमी पार्टी की पंजाब सरकार उन लोगों के मंसूबे पूरे नहीं होने देगी। पंजाब के सब लोगों के साथ मिलके हर हालत में शांति क़ायम रखी जाएगी और दोषियों को कड़ी से कड़ी सज़ा दिलवाई जाएगी।
https://twitter.com/ArvindKejriwal/status/1523865196808204290?s=20&t=YbuDU83AEvHn3nx8oVGQaw
राघव चड्डा ने भी अपने बयान में लिखा है मोहाली में विस्फोट उन शक्तियों द्वारा कायरतापूर्ण कार्य है जो राज्य की मेहनत से अर्जित शांति को बाधित करना चाहते हैं। पंजाब सरकार इसमें शामिल लोगों को नहीं बख्शेगी और कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगा
वहीं इस पर तंज कसते हुए कांग्रेस नेता जयवीर ने कहा मैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस मामले में केंद्रीय जांच एजेंसियों को शामिल करने का आग्रह करता हूं क्योंकि आप सरकार इसे संभालने में सक्षम नहीं है और न ही उसकी सही मंशा है पंजाब में आप सरकार राज्य की सुरक्षा के लिए हानिकारक है।
गौरतलब है कि मोहाली विस्फोट मामले में प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि  विस्फोट करने वालों ने पहले इंटेलिजेंस दफ्तर की रेकी की थी। पुलिस ने सोहाना रोड से इंटेलिजेंस दफ्तर को जाने वाली सड़क जहां से सफेद रंग की स्विफ्ट कार गुजरी थी उसकी जांच के लिए इसी रोड पर स्थित पंजाब फर्नीचर हाउस के सीसीटीवी फुटेज भी लिया है।
इस सड़क पर मात्र एक यही दुकान है और यहां पर सीसीटीवी भी लगा है। सूत्र बताते हैं कि पंजाब पुलिस कल शाम 6:00 बजे से लेकर के 8:00 बजे तक इस इलाके में सक्रिय मोबाइल नेटवर्क की भी जांच कर रही है।
By Kajal Singh