Pakistan: बचपन का प्यार मेरा भूल नहीं जाना रे.. 70 वर्ष की बुजुर्ग महिला ने 37 वर्ष..

Pakistan: बचपन का प्यार मेरा भूल नहीं जाना रे.. 70 वर्ष की बुजुर्ग महिला ने 33 वर्ष छोटे प्रेमी से की शादी

किश्वर और इफ्तिखार

Pakistan: प्यार अंधा होता है, ये कहावत है अब चरितार्थ भी हो रही है, प्यार में लोग किस हद तक चले जाते इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। पाकिस्तान से आई दो प्रेमियों की कहानी ने सभी को चौंका दिया है। 37 साल के इफ्तिखार ने बचपन का प्यार पाने के लिए 70 साल की बुजुर्ग महिला किश्वर बीबी से शादी कर ली है। दोनों एक-दूसरे को लंबे समय तक पसंद करते थे।

किन कारणों की वजह से हुआ बुजुर्ग अवस्था में निकाह

पाकिस्तान के 37 वर्षीय शख्स इफ्तिखार ने 70 साल की किश्वर बीबी से दूसरा निकाह कर लिया। दोनों एक-दूसरे को लंबे समय से पसंद करते थे लेकिन शादी में उम्र सबसे बड़ी अड़चन बन रही थी। लड़के के परिवार इसके लिए राजी नहीं हुए और इफ्तिखार को मजबूरी में किसी और से निकाह करना पड़ा लेकिन किश्वर 70 साल तक कुंवारी रही।

लेकिन अब दोनों ने अपनी इच्छा को पूरी करते हुए एक-दूजे से निकाह कर लिया। दोनों के निकाह के वीडियो और स्टोरी की सोशल मीडिया पर चर्चा हो रही है। बताया जा रहा है कि जब इफ्तिखार बहुत छोटे थे तो उन्हें किश्व बीबी पसंद आ गई थी। उम्र बढ़ने पर जब इफ्तिखार ने शादी की इच्छा जताई तो उनकी माँ नहीं मानी। इसके बाद किश्वर ने किसी से शादी नहीं करने का फैसला किया।

इफ्तिखार की पत्नी की इजाजत के बाद हुआ निकाह, किश्वर हनीमून पर जायेंगी कराची

आमतौर पर अगर कोई विवाहित महिला अपने पति की दूसरी शादी की बात करती है तो वह भड़क जाती है, लेकिन इफ्तिखार अपने बचपन का प्यार पाने के लिए भाग्यशाली साबित हुआ और उसकी पत्नी खुशी-खुशी दूसरी शादी के लिए राजी हो गई।

Pakistan: इफ्तिखार की पहली पत्नी ने दूसरी शादी पर कहा कि वह अपने पति से प्यार करती है, इसलिए वह दूसरी शादी के लिए राजी हो गई। 70 वर्षीय किश्वर शादी के बाद उनकी चाहत किसी यंग कपल से कम नहीं है। किश्वर से शादी के बाद हनीमून पर कराची और मारी जायेंगी।

ये भी पढ़ें..

Up News: भाजपा ने भूपेन्द्र सिंह चौधरी को प्रदेश की क्यों सौंपी कमान, कहीं 2024 की तैयारी तो नहीं?

Hindu refugee: बेटियों को उठाते जबरन निकाह रचाते, यहाँ सुकून है साहब; हरा पासपोर्ट देख बस कोई काम नहीं देता

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️

Leave a Reply

Your email address will not be published.