Population control law: बढ़ती जनसंख्या पर सीएम योगी ने जताई चिंता तो मुस्लिम..

Population control law: बढ़ती जनसंख्या पर सीएम योगी ने जताई चिंता तो मुस्लिम समुदाय को क्यों लगी मिर्ची..?

population

Population control law: देश में तेजी से बढ़ती आबादी का मुद्दा समय-समय पर उठता रहा है, लेकिन वह मुद्दा राजनीति का हिस्सा बनकर रह जाता है, लेकिन इस बार मुद्दा सीएम योगी आदित्यनाथ की जुबान से निकला है तो साहब समझो दूर तक भी जाएगा। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं कि योगी ने अभी तक मंच से जो कहा वो करके दिखाया है। इसमें चाहे फिर वह दंगाइयों पर बुलडोजर चलाने की बात हो या फिर वह गुंडा, बदमाश और भूमाफियों पर शिकंजा कसने की बात हो।

वैसे भी योगी जनता के पक्ष में कई बड़े और अहम फैसले ले चुके हैं, जनसंख्या पर कानून लाना यूपी के शेर के लिए बड़ी बात नहीं होगी। इसीलिए योगी आदित्यनाथ ने देश की सबसे बड़ी समस्या पर अपनी चिंता जाहिर की है। साथ ही समुदाय विशेष पर अपना निशाना भी साधा है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा है, कि जनसंख्या नियंत्रण के प्रभावी प्रयास करते समय हमें इस बात का भी ध्यान देना होगा कि समुदायों के बीच आबादी का संतुलन न बिगड़े। ऐसा न हो कि एक वर्ग विशेष की आबादी तो तेजी से बढ़ जाए और जो यहां के मूल निवासी हैं उनकी आबादी कम हो जाए।

ऐसा होने से अराजकता जन्म लेने लगती है।योगी के इस बयान के बाद देश की राजनीति में समझो भूचाल सा आ गया है। सीएम योगी के इस बयान पर AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भड़क गए और बोले कि क्या मुसलमान इस देश का मूल निवासी नहीं है। अब उनके पेट में दर्द हो भी क्यों न साहब उनको डर है कि अगर जनसंख्या कानून लागू हो गया तो उनकी राजनीति ही खत्म हो जाएगी।

वहीं एक वर्ग विशेष का खुद को हितैशी मानने वाले अखिलेश यादव भी योगी के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देने में पीछे नहीं रहे। उन्होंने भी जनसंख्या कानून पर अपना दुखड़ा रो ही दिया। इतना ही नहीं समुदाय विशेष को खुश करने के लिए अखिलेश यादव ने कहा कि अराजकता आबादी से नहीं बल्कि लोकतांत्रिक मूल्यों की बर्बादी से उपजती है।

भले ही जनसंख्या निंयत्रण कानून सभी जाति धर्मों के लिए लागू करने की बात होती हो, लेकिन इसकी चर्चा आते ही समुदाय विशेष के लोग सदमे में आ जाते हैं। इस बात का अंदाजा आप ऐसे लगा सकते हैं कि अभी सिर्फ यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने जनसंख्या को लेकर बयान ही दिया था कि मीलों दूर बैठे सपा सांसद की बौखलाहट सामने आ गई और बोले यह सब अल्लाह की देन है यहां तक कि अपने बच्चों का खाने-पीने तक का इंतजाम अल्लाह ऊपर से करके भेजता है। ये बात अलग है साहब कि बेरोजगारी और बढ़ती मंहगाई के लिए योगी मोदी जिम्मेदार हैं।

Population control law: देशी की लगातर तेजी से बढ़ रही जनसंख्या सरकार के लिए सिर का दर्द बनी हुई है। भारत में एक साल के अंदर 2 करोड़, 69 लाख, 32 हजार, 586 बच्चे पैदा होते हैं। जो कि ऑस्ट्रेलिया जैसा देश हर साल भारत में जन्म ले लेता है। जब इस तेज रफ्तार से बढ़ती जनसंख्या पर योगी बयान देते हैं, तो समाज का ठेका लेने वाले क्यों तिलमिला उठते हैं? बढ़ती जनसंख्या को अल्लाह की देन बताने लगते हैं। बोलते हैं कि अल्लाह उनके खाने-रहने की व्यवस्था भी करके भेजता है, लेकिन इसके बाद फिर बेरोजगारी पर भी ढ़िंढोरा पीटने में पीछे नहीं रहते।

Population control law: सरकार को ये डर भी सताने लगा है, अगर जल्दी ही जनसंख्या पर कानून नहीं बना तो देश की बढ़ती आबादी और कुर्सी के लालच में मुफ्त देने वाली सुविधा भुखमरी की ओर ले जा सकती हैं। इसके जीते-जागते उदाहरण अफगानिस्तान और श्रीलंका हैं। दूसरी ओर देश के बहुसंख्यक समाज की बात करें तो उसे भाजपा से ही उम्मीद है कि वह देश में जनसंख्या कानून ला सकती है। देश की एक बड़ी आबादी को यह डर भी है कि अगर भाजपा इस कानून को किन्ही कारणों से नहीं ला पाती है तो देश की दूसरी राजनीतिक पार्टियां इस कानून को कभी नहीं ला सकतीं और देश के हालात बिगड़ते चले जाएंगे।

ये भी पढ़ें..

Rajasthan: खाना खाये बिना सोये पति की गुस्साई पत्नी ने कर दी धुनाई, किया अधमरा

Delhi: मेट्रो में लड़की ने लड़के को जड़े ताबड़तोड़ थप्पड़, जानिए क्या है सच्चाई?

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️

Leave a Reply

Your email address will not be published.