Sardar Patel Jayanti: राष्ट्र मना रहा है सरदार की जयंती, 'रन फाॅर यूनिटी' का...

Sardar Patel Jayanti: राष्ट्र मना रहा है सरदार की जयंती, ‘रन फाॅर यूनिटी’ का केंद्र सरकार कर रही आयोजन

Sardar Patel Jayanti

Sardar Patel Jayanti: आज राष्ट्र मना रहा है ‘लौह पुरूष’ सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती, केंद्र सरकार पीएम मोदी के नेतृत्व में पूरे देश में ‘रन फाॅर यूनिटी’ का  आयोजन कर रही हैं। उत्तराखंड से लेकर हिमाचल तक, यूपी से लेकर दिल्ली तक 75 हजार से ज्यादा जगहों पर ‘रन फाॅर यूनिटी’ हो रहा हैं।

Sardar Patel Jayanti: केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने ‘रन फाॅर यूनिटी’ के आयोजन को लेकर कहा कि “एक भारत-श्रेष्ठ भारत इस सोच आगे बढ़ाने का काम PM मोदी ने किया है। आज देशभर में 75,000 से ज्यादा स्थानों पर रन फॉर यूनिटी हो रहा है। एकता दौड़ हो रही है ताकि आज का युवा राष्ट्र निर्माण और राष्ट्र को मजबूत करने में लगे।”

Sardar Patel Jayanti: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती के अवसर पर चंपावत के बनबसा में रन फॉर यूनिटी रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

सीएम धामी ने कहा कि “यहां सभी ने देश की एकता और अखंडता का संकल्प लिया। युवाओं में नशे की लत से पूरी तरह मुक्त होने और 2025 तक उत्तराखंड को ‘ड्रग्स फ्री देवभूमि’ बनाने का भी हमने संकल्प लिया है।”

Sardar Patel Jayanti: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरदार पटेल राष्ट्रीय दिव्यांग कप टी20 का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने खिलाड़ियों के साथ क्रिकेट भी खेला। इस दौरान वो काफी खुश नजर आ रहे थे।

Sardar Patel Jayanti: इस दौरान उन्होंने कहा कि “इस टूर्नामेंट के आयोजकों, प्रतिभागियों एवं सभी दर्शकों को हार्दिक बधाई! उ.प्र. सरकार अपने सभी दिव्यांगजन के कल्याण हेतु पूर्णतः प्रतिबद्ध है।”

योगी ने ये भी कहा कि “कोई भी स्वावलंबी राष्ट्र अपने नायकों को विस्मृत कर आगे नहीं बढ़ सकता है। ‘लौह पुरुष’ सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की जयंती ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ के अवसर पर आज लखनऊ में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनकी स्मृतियों को नमन किया। सरदार पटेल अमर रहें”…

योगी आदित्यनाथ ने सरदार पटेल को याद करते हुए कहा कि अंग्रेजों की कुटिल चालों को नाकाम करने काम अगर किसी ने किया हो तो वो हमारे सरदार पटेल ही थे जिन्होंने 563 रियासतों को एकजुट करने का काम सरदार पटेल ने ही किया था। उनकी ही सुझबूझ और संगठन क्षमता का परिमाण था कि आज भारत सबसे बड़ें लोकतंत्र वाले देश के रूप में संसार में जाना जाता हैं।

ये भी पढ़ें…

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.