Up News: माँ का मंगलसूत्र बेच चालान भरने पहुंच गया युवक, आगे फिर क्या हुआ?

टेम्पो ड्राइवर

Up News: उत्तर प्रदेश के जिला महाराजगंज का ऐसा मामला जिसे सुन आपका हृदय भी पिघल जायेगा। एक गरीब परिवार के युवक ने ईमानदारी की मिशाल पेश की है। इतना ही नहीं एआरटीओ अधिकारी ने बड़ा दिल दिखाते हुए मानवता की मिशाल पेश की है। ये कहानी जिला महाराजगंज के आरटीओ कार्यलय की है, जहाँ एक टेम्पो ड्राइवर की कहानी सुन अधिकारी की भावुक हो गये।

क़टा चालान तो बेच दिया माँ का मंगलसूत्र

महराजगंज जिले का रहने वाले एक ऑटो ड्रावइर का 24,500 रुपए का चालान हुआ। बेटे ने जुर्माने की रकम जमा करने के लिए माँ के मंगलसूत्र को बेच दिया। तब भी महज 13 हजार रुपए जुट सके। परेशान बेटा ARTO दफ्तर इस आस में पहुंचा कि जुर्माने की शेष रकम माफ हो जाएगी। परेशान बेटा इधर-उधर भटक रहा था। यह देखकर ARTO का दिल पसीज गया। उन्होंने युवक को पानी पिलाया और पूरी दास्तान सुनी।

इसके बाद ARTO आरसी भारती ने न सिर्फ चालान के पैसे जमा किए, बल्कि युवक की हर संभव मदद करने की बात कही। साथ ही गरीबी के कारण पढ़ाई छोड़ चुके युवक को पढ़ाने की पेशकश भी की।

विजय ने क्या बोला?

विजय ने बताया कि पिता राजकुमार ऑटो चलाते हैं और उन्हें एक आंख से दिखता भी कम है। 24,500 रुपये ऑटो के चालान जमा करना है। माँ का मंगलसूत्र मंगलसूत्र बेचने के बाद भी केवल 13 हजार रुपये ही इकट्ठा हो सके हैं। परिवार में छह बहनें हैं। पूरी कहानी सुनने के बाद एआरटीओ का दिल पिघल गया।

Up News: आपको बता दें कि एआरटीओ आरसी भारती ने चालान की पूरी रकम स्वयं जमा करने के साथ ही टेंपो का इंश्योरेंस भी कराया। हालांकि इस मामले में एआरटीओ आरसी भारती ने मीडिया में ज्यादा बयानबाज नहीं की, केवल इतना कहा कि मैं उसकी पीड़ा सुनी और वह मुझे वाजिब लगी, इस वजह से मैंने उसका जुर्माना खुद ही भर दिया है।

ये भी पढ़ें..

Up Violence: जुमे की नमाज से पहले पुलिस अलर्ट, संवेदनशील इलाकों को बनाया छावनी

Agniveer: 20 तारीख को अग्निपथ योजना के खिलाफ दिल्ली जाने की तैयारी में अलीगढ़ के युवा

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️