रामनवमी पर हिंसा: खरगोन हिंसा पर बोले सीएम शिवराज , 'किसी भी दोषी को बख्शा नहीं...'

रामनवमी पर हिंसा: खरगोन हिंसा पर बोले सीएम शिवराज सिंह, ‘किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा’

रामनवमी पर हिंसा

रामनवमी पर हिंसा: गुजरात के दो शहरों के अलावा  रामनवमी के जुलूस के दौरान मध्य प्रदेश के खरगौन शहर में भी उपद्रवियों ने जमकर हंगामा काटा।अब खरगोन हिंसा के मामले में सरकार ने कड़ा रूख अख्तियार कर लिया है। एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने खरगोन हिंसा के आरोपियों को लेकर सख्त बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि रामनवमी के अवसर पर खरगोन में हुई घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मध्यप्रदेश की धरती पर दंगाइयों के लिए कोई स्थान नहीं है। यह दंगाई चिन्हित कर लिए गए हैं, इनको छोड़ा नहीं जाएगा। उनके खिलाफ कठोरतम कार्यवाही की जाएगी।

आपको बता दे कि एमपी के खरगोन जिले में विशेष संप्रदाय के लागों ने भगवान राम के जन्मदिन के अवसर पर निकल रहे जुलूस में बज रहे डीजे को लेकर विवाद किया। और विवाद बढ़ने के बाद विशेष संप्रदाय के लोगों ने जमकर रामभक्तों पर पत्थर भी फेंके। इसके बाद रामभक्त और विशेष संप्रदाय के लोग आपस में भिड़ गए। पुलिस ने तुरंत मोर्चा संभाला और तालाब चौक, गौशाला मार्ग, मोतीपुरा, स्टेडियम के पीछे, टावर क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया।

इससे पहले खरगोन हिंसा पर मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि गुनहगारों से सख्ती से निपटा जायेगा। ‘जिन घरों से पत्थर आए हैं, उन घरों को पत्थर का ढेर बनाएंगे।’ मध्यप्रदेश में कानून का राज है और सांप्रदायिक सौहार्द को किसी कीमत पर बिगड़ने नहीं दिया जाएगा।

रामनवमी पर हिंसा: दोषियों की संपत्ति पर चला बुलडोजर

अब शिवराज सरकार ने बड़ी कार्यवाही करते हुए खरगोन हिंसा के दोषियों की संपत्ति पर बुलडोजर चलवा दिया है। इसकी जानकारी डाॅ प्राची ने अपने ट्विटर हैंडल से देते हुए लिखा है कि खरगोन में आरोपियों के मकानों पर चला ‘मामा’ का बुलडोजर, रामनवमी के उत्सव के दौरान हुई थी पत्थरबाजी…

रामनवमी पर हिंसा: AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने भगवान राम के जन्मदिन के रूप में मनाए जाने वाली रामनवमी के अवसर पर निकाले गए जुलूस के दौरान हुई हिंसा के बाद बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने अपने ट्वीट में हाल ही में अलग-अलग राज्यों में हुई हिंसा का जिक्र किया।

ओवैसी का आरोप: पुलिस का आशीर्वाद हिंदूओं के साथ

ओवैसी ने कहा कि अभी पिछले कुछ दिनों में पुलिस के आशीर्वाद से हिंदुत्व की भीड़ ने कम से कम इन जगहों पर हिंसा को भड़काया। राजस्थान के करौली, खंबाटा और हिम्मतनगर, गुजरात में एक मकबरे में आग लगा दी गई, खरगोन, मध्य प्रदेश। कर्नाटक में गुलबर्गा, रायचूर, कोलार, धारवाड़। वैशाली और मुजफ्फरपुर, बिहार। सीतापुर, उत्तर प्रदेश। इस्लामपुरा, गोवा। धर्म गुरुओं के मुसलमानों के खिलाफ नरसंहार और बलात्कारी बातों का उल्लेख नहीं करना। कई जगहों पर मुसलमानों के खिलाफ नफरत भरे भाषण देने के लिए रामनवमी यात्राओं का इस्तेमाल किया गया।

ये भी पढ़ें-

रामनवमी पर हिंसा: गुजरात के दो शहरों में जमकर चले पत्थर और डंडे, औवेसी ने बीजेपी पर साधा निशाना

धर्मांतरण का मामला: रामपुर में मौलवी ने हिंदू को लालच देकर करवाया धर्मांतरण, मौलवी समेत दो गिरफ्तार

हरीश रावत का ट्वीट मचा रहा है धमाल: लिखा-“तू भी अन्ना मैं भी अन्ना, आओ मिलकर चूसें गन्ना”

 

By Atul Sharma

बेबाक लिखती है मेरी कलम, देशद्रोहियों की लेती है अच्छे से खबर, मेरी कलम ही मेरी पहचान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.