रहस्यमयी कहानी 6: पत्नी को रंगे हाथ पकड़ना पड़ा भारी, पति को जान देकर चुकानी पड़ी कीमत

victim

रहस्यमयी कहानी 6: कुछ ऐसी रहस्यमयी खबर जिसे पढ़कर आपकी रुह काँप जायेगी, आप सिहर इसलिए जायेंगे कि इस खबर को पढ़कर आप विचार करेंगे कि अपनों के बीच रहकर भी आज के दौर में सुरक्षित महसूस कर पाना बहुत मुश्किल हो गया है। जब एक आदमी अपने बेडरुम में सोने के लिए गया, तो वह ऐसा दृश्य देखता है जिसे देख उसके होश उड़ जाते हैं।

आपको बता दें कि घटना राजस्थान के अलवर जिले की है जहाँ विक्रम नाम का लड़का अपनी पत्नी पूजा सिंह को अपने पिता बलवंत सिंह के साथ रंगरलियां मनाते हुए देख लेता है, देखकर विक्रम कमरे से वापिस हो जाता है।

कैसे बने ससुरबहु के अवैध संबंध

रहस्यमयी कहानी 6: ससुर बलवंत सिंह की पत्नी की मौत जाती है, इसके बाद बलवंत सिंह के बहु पूजान से अवैध संबंध बन जाते हैं, घटना वाली रात मृतक विक्रम ने अपने पिता बलवंत और अपनी पत्नी को आपत्तिजनक अवस्था में देख लिया।  मामला खुलने के डर से बलवंत सिंह और बहू पूजा ने विक्रम सिंह का चुन्नी से गला घोट दिया और आत्महत्या का रूप देने के लिए पंखे से लटका दिया, इस मामले में पुलिस ने हत्या के दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

साजिश के साथ कैसे की गई विक्रम की हत्या

एएसपी विपिन कुमार ने बताया कि विक्रम सिंह, अपनी पत्नी और बच्चों के साथ खाना खाने के बाद सो गया था, सुबह पत्नी ने अपने पति विक्रम सिंह को बेड से नीचे गिर दिया और चिल्लाने लगी। इसके बाद मृतक के पिता बलवंत सिंह व अन्य परिवार के सदस्यों ने विक्रम सिंह को बेड से उठाकर अस्पताल भर्ती कराया गया जहाँ पर डॉक्टर ने उस को मृत घोषित कर दिया।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने कर दिया खुलासा

मृतक के परिजनों ने गुपचुप तरीके से उसका अंतिम संस्कार करने में तैयारी कर रहे थे, लेकिन उससे पहले ही एक फोन ने सारा राज खोल दिया। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गले में चुन्नी के निशान और सिर में चोट के निशान पाए गए थे, मृतक की पत्नी पूजा से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने सारा राज उगल दिया।

ये भी पढ़े..

रहस्मयी कहानी-5: महिला सिपाही के इश्क में युवक ने 4 सदस्यों को उतारा मौत के घाट, खुलासे में पुलिस के छूटे पसीने

रहस्यमयी कहानी-4: दोस्त का गला घोंट कर दी हत्या, “माँ से थे अवैध संबंध” पढिए कैसे हुआ खुलासा?

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️