Mumbai: युवती को मिली हिंदू होने की सजा, पहले छेड़खानी फिर दरवाजे पर बकरी को काटा, अब घर से निकाला

Mumbai

Mumbai: जब हिंदूस्तान में ही हिंदू होने पर जुल्म होने लगे तो कहाँ चले जाते हैं वो ठेकेदार जो हिंदुओं के लिए बड़ी-बड़ी बातें बोलते हैं और कहते हैं कि मैं देश नहीं झुकने दूँगा। जब सरेआम आये दिन हिंदुओं का कत्ल होता है और लिखा जाता है ऐसा जो अंधों को भी दिखाई दे जाये गुस्ताख के नवी की एक ही सजा सर तन से जुदा।

शासन और प्रशासन सोया रहता है। नाक के नीचे क्या चल रहा होता है, किसी को बिल्कुल भी ध्यान नहीं रहता। देश में जगह-जगह लोगों को कत्ल की धमकी मिल रही हैं, लेकिन सभी मौन हैं। धमकी ही नहीं सिर्फ कत्ल भी हो रहे हैं। लेकिन होता क्या है….विरोध प्रदर्शन होता है, कभी पुतले तो कभी मोमबत्तियां जलाई जाती हैं। मिलता क्या है? बस अधिकारियों से कार्यवाही का आश्वासन….

हम बात कर रहे हैं मुम्बई से आई एक वीडियो की, जिसमें एक हिंदू लड़की रोती बिलखती कह रही है कि मुझे हिंदू होने की सजा मिल रही है। समुदाय विशेष के लोगों की बात नहीं मानने का खामियाजा आज मुझे भुगतना पड़ रहा है। परेशान होकर मुझे घर छोड़ना पड़ गया, लेकिन आज मेरी कोई सुनने वाला नहीं है।

कृष्ण सारिका की आपबीती वीडियो में कही बातों को माने तो एक हिंदू युवती के साथ क्या-क्या नहीं हुआ। पहले उस पर टीका टिप्पणी की गई, फिर उसे छेड़ा गया, घर के दरवाजे पर जबरन मांस काटा गया, इसके बाद उसे घर छोड़ने के लिए मजबूर किया गया। हालत ऐसी कि आज घर से बेघर हुई हिंदू युवती न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है औऱ उसको समझ नहीं आ रहा कि वो कहां जाए और क्या करे। एक बार हिंदू युवती के दर्द को आफ भी सुन लीजिए…वीडियो

‘हरे कृष्णा’ बोलकर अपनी बात की शुरूआत करने वाली कृष्ण सारिका ने बताया कि मुझे हिंदू होने की सजा मिली है क्यों कि मैं जहां रहती हूं वहां सभी मुस्लिम रहते हैं। आरोप है कि मुसलमान आए दिन लड़की के साथ छेड़खानी करते इतना ही नहीं उसके घर के दरवाजे पर बकरी काटते थे। वहीं खुद तो घर के सामने लाउडस्पीकर लगाते थे, लेकिन युवती को भजन-कीर्तन करने से मना करते थे।

जब ये सभी बातें हिंदू युवती सारिका ने नहीं मानी और पुलिस थाने जाकर आरोपियों ने धमकी दे डाली। इतना ही नहीं इलाके के नेता आमीन पटेल के नाम से भी धमकाया गया कि तुम्हारी कोई भी सहायता नहीं करेगा। इसके बाद मुसलमानों ने बीएमसी से मिलकर और पुलिस को बुलाकर युवती से घर खाली करवा दिया।

Mumbai: वहीं पीड़ित युवती का कहना है कि 1944 में मेरे दादा को यह मकान मिला था। करीब 100 साल पुराना मेरा घर है। हम लीगली वहां पर रहते हैं जबकि वहां न जाने कितने लोग गैरकानूनी तरीके से रहते हैं और इन लोगों को कोई निकालता भी नहीं और हमें हमारे घर से ही जबरन निकाल दिया गया क्यों कि हम एक हिंदू हैं और आज मुझे हिंदू होने की सजा मिली है और मुझे किसी ने भी हेल्प नहीं की।

ये भी पढ़ें..

school New rule: अब स्कूल के नाम पर गुलछर्रे नहीं उड़ा सकेंगे बच्चे, योगी ने लिया कड़ा फ़ैसला

UP News: कल्लो ने बचाई अपने मालिक की जान, पूरे गाँव में हो रही है कल्लो की तारीफ

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️