UP: अखिलेश द्वारा बैठक में न बुलाये जाने पर बिफरे राजभर को तलाक का इंतजार

Akhilesh yadav, Op Rajbhar

UP: राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अखिलेश यादव ने बुलाई बैठक में गठबंधन के सभी नेता मौजूद थे, लेकिन सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओपी राजभर उस बैठक में दिखाई नहीं दिये थे। मऊ में एक बैठक के दौरान राजभर बोले कि शायद अखिलेश हमें भूल गये हों, इसीलिए हमारे पास बैठक में शामिल होने के लिए कॉल नहीं आई।

हालांकि! राजभर ने ये भी कहा कि हम अपनी तरफ से समाजवादी पार्टी से गठबंधन को तोड़ने की पहल नहीं करेंगे, अखिलेश की ओर से तलाक का इंतजार करेंगे।

अखिलेश नहीं चाहेंगे, तो हो जाऊंगा दूर

नाराज ओपी राजभर बोले, ‘मैं अभी तक समाजवादी पार्टी के साथ ही हूँ। लेकिन अखिलेश यादव नहीं चाहते हैं, तो जबरदस्ती साथ नहीं बने रहेंगे’। बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव में ओपी राजभर की पार्टी एसबीएसपी और सपा का बड़े जोर-शोर से गठबंधन हुआ था। माना जा रहा था, कि राजभर की वजह से संख्या में छोटी लेकिन राजभर और कई अन्य जातियों का वोट बीजेपी का गणित बिगाड़ सकती है। लेकिन नतीजों में ऐसा हो न सका। बीजेपी गठबंधन ने प्रचंड बहुमत के साथ चुनाव में जीत दर्ज की।

इसके बाद से ही सपा गठबंधन में दरारें पड़ना शुरू हो गईं। सबसे पहले अखिलेश यादव के चाचा व प्रसपा के अध्यक्ष शिवपाल यादव गठबंधन तोड़ अलग हो गये। यूपी विधानसभा चुनाव में एसबीएसपी ने सपा के साथ मिलकर 19 सीटों पर चुनाव लड़ा था और 6 में जीत दर्ज की। इससे पहले साल 2017 के विधानसभा चुनाव में पार्टी ने बीजेपी के साथ चुनाव लड़ा था और 4 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

UP:  विधानसभा में 6 विधायक की संख्या वाली एसबीएसपी के नेता ओपी राजभर ने ये भी कहा है, कि वो अब 12 जुलाई को फैसला करेंगे कि राष्ट्रपति चुनाव में किसका समर्थन किया जाए। हालांकि! अखिलेश यादव और ओपी राजभर के संबंधों में तनाव का यह पहला मौका नहीं है। हाल ही में हुए आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा उपचुनाव में सपा की हार के बाद भी ओपी राजभर ने उन पर तंज कसा था। ओपी राजभर ने कहा, कि अखिलेश यादव को जनता का समर्थन पाने के लिए A.C कमरे से बाहर आना चाहिए।

ये भी पढ़ें..

Shinzo Abe: गोली लगने से जापान के पूर्व प्रधानमंत्री हार गये जिंदगी से जंग

Periods: माहवारी के दौरान महिलाओं को रखना चाहिए इन खास बातों का ध्यान

 

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️