Aligarh: मुस्लिमों की भीड़ ने युवक पर बोला हमला, बेहोश होने तक पीटा और फिर...

Aligarh: मुसलमानों की भीड़ ने युवक पर बोला हमला, बेहोश होने तक पीटा और फिर 150 मीटर तक खींचकर फेंका, आरोपी फरार

Jattari Aligarh

उत्तर प्रदेश के जिला अलीगढ़ से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक युवक पर मुस्लिमों की भीड़ ने पहले तो हमला बोला, फिर उसे बेहोश होने तक लाठी, डंडे और रोड से बेरहमी से पीटा। इसके बाद भीड़ युवक को घसीटते हुए मुस्लिम बस्ती में ले गई। इसके बाद आरोपी युवक को मरा हुआ समझकर छोड़कर फरार हो गए। एक तरफ जहां युवक नोएडा के अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहा है तो वहीं दूसरी ओर घटना के छ: दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने आरोपियों तक नहीं पहुंच सकी है। जबकि घटना पुलिस चौकी से महज 700 मीटर की दूरी पर हुई है।

Aligarh: जानकारी के मुताबिक मामला टप्पल थाना क्षेत्र के कस्बा जट्टारी का है। कस्बा जट्टारी के मोहल्ला तीन विसा उत्तरी निवासी 16 वर्षीय नीरज कुमार पुत्र तेजवीर सिंह 10 अगस्त को अपने घर का जरूरी सामान लेने के लिए साइकिल से बाजार जा रहा था। तभी रामलीला ग्राउंड के पास खड़े 7-8 मुस्लिम युवकों ने उसे रोक लिया और गालीगलौच करते हुए उसे घेर लिया इसके बाद आरोपियों ने युवक के साथ लाठी, डंडों और लोहे की रोड से मारपीट शुरू कर दी, जिससे युवक मौके पर ही बेहोश हो गया इसके बाद आरोपी युवक को रामलीला मैदान से करीब 150 मीटर घसीटते हुए मुस्लिम बस्ती की ओर ले गए और युवक के मुंह से झाग देने पर अधमरा समझकर गली में फेंक दिया। इस बीच कुछ लोगों को सामने से आता देख आरोपी मौके से फरार हो गए।

72 घंटे बाद युवक को आया होश

Aligarh: इसकी जानकारी जैसे ही युवक के परिजनों को हुई ऐसे ही बस्ती में अफरा-तफरी मच गई। आनन-फानन में गंभीर रूप से घायल नीरज को नजदीकी अस्पताल में ले जाया गया जहां उसे भर्ती नहीं किया गया। इसके बाद परिजनों ने युवक को जेवर के एक प्राइवेट अस्पताल में उसे भर्ती कराया। जहां पीड़ित युवक को 72 घंटे बाद होश आया इसके बाद भी युवक की हालत गंभीर बनी हुई है और पिछले 6 दिनों में अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहा है।

परिजनों के मुताबिक युवक के सिर, सीना, कुल्हे और गर्दन में गंभीर चोटें आई हैं। घटना के अगले दिन परिजनों ने टप्पल थाने में जट्टारी निवासी आरोपी समीर, शैरान, नवीआलम व 4 अज्ञात के खिलाफ तहरीर दी है, लेकिन घटना के 6 दिन बीत जाने के बाद भी टप्पल पुलिस न तो पीड़ित के घर तक पहुंची है और न ही आरोपियों को गिरफ्तार कर सकी है।

बताया जा रहा है कि घटना से एक दिन पहले नीरज के तयेरे भाई आकाश पुत्र विशम्बर का रास्ते में जाते समय समीर से पैर लग गया था, इसे लेकर दोनों में कुछ कहासुनी भी हुई लेकिन बाद में मामला शांत हो गया था। नीरज हाईस्कूल का छात्र है, जो कि तीन भाइयों में दूसरे नंबर का है। बड़ा भाई विष्णु विकलांग है। नीरज के पिता तेजवीर सिंह मैन बाजार में दशकों से नाई की दुकान करते हैं और राजवती देवी एक गृहणी है।

मां राजवती देवी ने बताया कि मेरे बेकसूर बेटे पर जिन लोगों ने हमला किया है बेरहमी से मारा है उन लोगों को सख्त सजा मिलनी चाहिए, लेकिन अभी तक पुलिस हमसे ये भी नहीं पूछने आई कि तुम्हारे साथ हुआ क्या है। हमें न्याय चाहिए।

चार वर्ष पहले भी हुआ था विवाद

परिजनों ने बताया कि करीब चार वर्ष पहले भी आकाश के साथ कुछ मुस्लिम युवकों ने बदतमीजी की थी और फिर बाद में आकाश के ऊपर लड़की छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। परिजनों का आऱोप है कि कुछ मुस्लिम युवक आए दिन दबंगई दिखाते हैं और हमारे बच्चों से गाली गलौच करते हैं।

टप्पल थानाध्यक्ष परमेन्द्र सिंह ने बताया कि मामले में तहरीर के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आगे की कार्यवाही जारी है। आरोपियों की गिरफ्तारी के सवाल पर उन्होंने बताया कि मुकदमे में ऐसी कोई धारा नहीं है कि जिसके तहत आरोपियों की गिरफ्तारी की जा सके। 

ये भी पढ़ें…

Har Ghar Tiranga: ‘हर घर तिरंगा’ अभियान के तहत मदरसे में नहीं फहराया गया तिरंगा

UP: हिंदुस्तान में पाकिस्तान जिंदाबाद क्यों? मुहर्रम जुलूस के दौरान लकड़ी खेल में लगे देश विरोधी नारे

By Keshav Malan

यह कलम दिल, दिमाग से नहीं सिर्फ भाव से लिखती है, इस 'भाव' का न कोई 'तोल' है न कोई 'मोल'

Leave a Reply

Your email address will not be published.