UP: सब इंस्पेक्टर वसी अहमद से रिंकू बनकर हिंदू महिला के साथ 3 साल तक किया..

UP: सब इंस्पेक्टर वसी अहमद ने रिंकू बनकर हिंदू महिला के साथ 3 साल तक किया रेप

rape wictim

UP:  यूपी के गोंड़ा से आयी इस खबर ने खाकी पर दाग लगाने का काम किया है। यूपी में सब इंस्पेक्टर वसी अहमद ने अपना नाम रिंकू शुक्ला रख हिंदू महिला से 3 साल तक रेप करता रहा। शादी का झांसा देकर यूपी पुलिस का सब इंस्पेक्टर महिला के साथ 3 वर्ष तक शारीरिक संबंध बनाता रहा।

हिंदू महिला का मुस्लिम दरोगा पर शादी का झांसा देकर रेप का आरोप

यूपी के गोंड़ा में सब इंस्पेक्टर वसी अहमद पर हिंदू पीड़िता ने गंभीर आरोप लगाये हैं। पीड़िता का कहना है, कि वसी ने अपना नाम रिंकू शुक्ला रख व शादी का झांसा देकर मेरे साथ 3 साल तक शारीरिक संबंध बनाता रहा। जब शादी की बात होती तो बोल देता कि बहन की शादी के बाद हम दोनों शादी कर लेंगे।

आगे पीड़िता ने कहा कि जब मैंने शादी का दबाव बनाया तो वह आनाकानी करने लगा। कुछ दिन बाद ही उसके असली नाम वसी अहमद की भी पता चल गई। पीड़िता ने शिकायत में ये भी कहा कि सब इंस्पेक्टर से साल 2019 से संबंध थे। एक दिन में वसी अहमद को किसी अन्य महिला के साथ घूमते हुए देख लिया था।

शिकायत पर पुलिस ने क्या बोला?

पीड़िता की शिकायत के बाद सब इंस्पेक्टर के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि वसी अहमद के खिलाफ नगर कोतवाली में सेक्शन 420, 376 आईपीसी और 3/5 उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन विशेष अधिनियम 2021 की धाराओं के तहत अभियोग पंजीकृत किया गया है।

UP: पीड़िता ने बताया, कि जब उसने इस मामले की थाने में शिकायत दर्ज कराई तो उसके घर पर तीन पुलिस की गाड़ियां आई और उसे थाने ले गईं। साथ ही मामले को रफादफा करने का दबाव बनाया गया। पीड़िता ने कहा कि उसने साफ कर दिया है, कि आरोपी उससे शादी करे या जेल जाने की तैयारी करे। इस मामले की शिकायत पीड़िता ने अपर पुलिस अधीक्षक से की और न्याय की गुहार लगाई।

ये भी पढ़ें..

Bihar: डीएम को कुर्ता-पायजामा पहनना नहीं आया रास, हेडमास्टर की तनख्वाह रोकने व बर्खास्त करने के दिये आदेश

मध्य प्रदेश: मगरमच्छ ने बच्चे को निगला तो ग्रामीणों ने बचाने के लिए मुँह में दे दिया बांस

By Rohit Attri

मानवता की आवाज़ बिना किसी के मोहताज हुए, अपने शब्दों में बेबाक लिखता हूँ.. ✍️

Leave a Reply

Your email address will not be published.